Gwalior : उर्जा मंत्री ने मरीजों से पूछा डॉक्टर देखने आते हैं या नहीं
अस्पताल में मरीजों से बात करते उर्जा मंत्रीराज एक्सप्रेस, संवाददाता

Gwalior : उर्जा मंत्री ने मरीजों से पूछा डॉक्टर देखने आते हैं या नहीं

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने मरीजों से पूछा कि आप को समय पर दवाइयां मिल रही हैं या नहीं, और डॉक्टर आपको देखने आता है या नहीं।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर शुक्रवार को सुबह भोपाल से ग्वालियर पहुंचे। इसके बाद वह घर जाने की जगह सीधे हजीरा सिविल अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंच गए। अस्पताल में मंत्री के आने की जानकारी मिलते ही हड़कंप मच गया। यहां पर मंत्री ने मरीजों से बातचीत की। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने मरीजों से पूछा कि आप को समय पर दवाइयां मिल रही हैं या नहीं, और डॉक्टर आपको देखने आता है या नहीं।

निरीक्षण के दौरान ओपीडी में इलाज कराने के लिए पहुंचे मरीजों के साथ ही अस्पताल में भर्ती मरीजों से इलाज संबंधी व्यवस्थाओं की जानकारी ली और साथ ही मरीजों के परिजनों से पूछा कि यदि इलाज संबंधी कोई परेशानी है तो मुझे बतााइए। निरीक्षण के दौरान इलाज संबंधी मिली शिकायतों को तत्काल दूर करने के निर्देश मौके पर मौजूद डॉक्टरों व पैरामेडिकल स्टॉफ को दिए। निरीक्षण में मरीजों व परिजनों से मिले फीडबैक से तोमर संतुष्ट नजर आए, वहीं अस्पताल प्रभारी डॉ.प्रशांत नायक को अस्पताल में नर्सिंग होम जैसी व्यवस्थाएं चौबीस घंटे उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

ऊर्जा मंत्री ने सीएमएचओ एवं सिविल अस्पताल हजीरा स्टाफ के साथ बैठक
ऊर्जा मंत्री ने सीएमएचओ एवं सिविल अस्पताल हजीरा स्टाफ के साथ बैठकRaj Express

अस्पताल प्रदेश के सर्वश्रेष्ठ सिविल अस्पतालों में से एक हो :

निरीक्षण के बाद ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने सीएमएचओ एवं सिविल अस्पताल हजीरा स्टाफ के साथ बैठक की। बैठक में उन्होनें निर्देशित किया कि सिविल अस्पताल को प्रदेश के सर्वश्रेष्ठ सिविल अस्पतालों में से एक बनाना है ताकि यहां की जनता को किसी भी तरह की स्वास्थ्य समस्या ना हो। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि पैसे की कोई कमी नही है व्यवस्थायें हमेशा अस्पताल में उत्कृष्ठ हो ऐसा प्रयास जारी रखें। मंत्री से संस्था प्रभारी डॉ. प्रशान्त नायक ने आर्थोपेडिक एवं बच्चों के चिकित्सकों की मांग की। इस पर उन्होंने तत्काल दूरभाष पर भोपाल के वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा कर समस्या का हल कराने का आश्वासन दिया। ऊर्जा मंत्री ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि 21 दिसम्बर को आने वाली कायाकल्प की टीम से पहले सभी व्यवस्थायें चाक-चैबंद कर ली जायें। किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co