कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का प्रदर्शन, रेलवे ट्रैक पर किया चक्काजाम
प्रदर्शनकारी ने रेलवे ट्रैक पर दिया धरनाSocial Media

कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का प्रदर्शन, रेलवे ट्रैक पर किया चक्काजाम

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। कृषि कानूनों के विरोध में आज किसान रेल रोको आंदोलन कर रहे हैं, इस बीच मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले के डबरा में किसानों ने रेल की पटरियों पर उतरकर प्रदर्शन किया है।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। एक तरफ जहां देशभर में वैश्विक महामारी कोरोना ने जनजीवन समेत अर्थव्यवस्था को अस्त- व्यस्त कर दिया है वही इस बीच किसान आंदोलन को लेकर विरोध लगातार बढ़ता ही जा रहा है, बता दें कि तीनों कृषि कानूनों के विरोध में और किसानों के समर्थन करने के लिए कांग्रेस मध्यप्रदेश में कई जिलों में चक्का जाम कर रही है, मिली जानकारी के मुताबिक आज प्रदेश के ग्वालियर में रेलवे ट्रैक पर बैठे प्रदर्शनकारी।

कृषि कानूनों के विरोध में रेल पटरियों पर बैठे प्रदर्शनकारी :

मिली जानकारी के मुताबिक आज ग्वालियर के डबरा में रेलवे ट्रैक पर किसानों ने आज उपद्रव कर पटरी पर जाम लगा दिया, प्रदर्शनकारी ने रेलवे ट्रैक पर बैठकर जमकर नारेबाजी की। इस बीच बड़ी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा, बता दें कि जब किसान नहीं माने तो पुलिस को जबरन किसानों को पटरी से उठाकर बसों में बैठाया, वही रेलवे पटरी पर दौड़ते किसानों को पुलिस ने पकड़ा, जानकारी के मुताबिक मौके पर एएसपी, एडीएम मौजूद हैं।

बताते चलें कि कृषि कानूनों के विरोध में किसान रेल रोको आंदोलन कर रहे हैं, बता दें कि कई जिलों में किसान रेल पटरियों पर बैठकर प्रदर्शन कर रहे हैं, वहीं एहतियातन ट्रेनों को रोका जा रहा है, इस बीच कृषि कानून के विरोध में किसानों द्वारा बुलाए गए रेल रोको आंदोलन का असर ग्वालियर अंचल में भी देखने को मिला, किसानों द्वारा बुलाए गए रेल रोको आंदोलन में ग्वालियर जिले के डबरा में किसानों ने रेल की पटरियों पर उतरकर प्रदर्शन किया है।

वही मिली जानकारी के मुताबिक मध्यप्रदेश के रीवा, सिंगरौली, बरगवां स्टेशन में विरोध करने पहुंचे किसान स्टेशन मास्टर को ज्ञापन सौंपकर वापस लौट गए, यहां पुलिस के सख्त पहरे की वजह से कोई उग्र प्रदर्शन नहीं हो पाया। रेल रोको आंदोलन को देखते हुए कई जिलों में रेलवे स्टेशन पर सुबह से ही पुलिस तैनात है। रेलवे स्टेशन के दोनों तरफ बेरिकेड्स लगाकर रास्ता रोक दिया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co