ग्वालियर : किसानों ने घेरा रोशनीघर, जीएम को सौंपा ज्ञापन

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : किसानों ने सोमवार को रोशनीघर का घेराव किया। धरना माकपा के बैनर तले दिया गया था। इस दौरान किसानों ने राज्य सरकार पर किसानों के दमन का आरोप लगाया।
ग्वालियर : किसानों ने घेरा रोशनीघर, जीएम को सौंपा ज्ञापन
किसानों ने घेरा रोशनीघरSocial Media

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। किसानों ने सोमवार को रोशनीघर का घेराव किया। धरना माकपा के बैनर तले दिया गया था। इस दौरान किसानों ने राज्य सरकार पर किसानों के दमन का आरोप लगाया। किसानों ने उन्हें थमाए गए भारी भरकम बिल राशि के विरोध में गिरवाई, वीरपुर, अजयपुर गांव के किसानों ने सोमवार को सैकड़ों की संख्या में रैली निकालकर रोशनीघर बिजली दफ्तर स्थित महाप्रबंधक कार्यालय पर जमकर प्रदर्शन कर घेराव किया। इसके बाद जीएम को ज्ञापन सौंपा।

किसानों का कहना था कि एक ओर तो सरकार उनके उत्थान की बात करती है, दूसरी ओर नया किसान विरोधी बिल पास कराकर किसानों के खिलाफ साजिश की गई और अब किसानों को बड़ी रकम के बिल भेजकर उनकी कमर तोड़ऩे का काम किया गया है। इसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। यदि जरूरत पड़ी तो फिर सड़कों पर उतरेंगे।

प्रदर्शन कर रहे किसानों ने कहा कि उन्हें एक से डेढ़ लाख रुपए के बिल थमा दिए गए हैं, जिन्हें वह नहीं भर सकते, लेकिन बिजली वाले लाइट काटने की धमकी दे रहे हैं ऐसे में उनका सिंचाई और अन्य कृषि कार्य प्रभावित होगा। फसलें खेतों में खड़ी हैं। इसलिए उनका बिल माफ किया जाए।

प्रदर्शन और ज्ञापन से पहले सभी किसान अचलेश्वर मंदिर पर जमा हुए और यहां से रोशनीघर के लिए रवाना हुए। यहां पहुंचकर उन्होंने जमकर प्रदर्शन किया। सरकार की तानाशाही नहीं चलेगी, बिजली बिल माफ करो के नारे लगाते हुए किसान माकपा व जनवादी नौजवान सभा के नेतृत्व में जीएम दफ्तर पहुंचे और ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन देने पहुंचे किसानों को जब यहां मौजूद सुरक्षा गार्ड व पुलिस ने रोकने का प्रयास किया और उन्हे शांत रहने की समझाइश दी तो वह नहीं माने, बल्कि महाप्रबंधक के दफ्तर के सामने पहुंचकर नारेबाजी शुरु कर दी। इनका कहना था कि पहले भी इस तरह की विसंगति वह झेल चुके हैं, लेकिन अब तो इंतहा हो गई है, जिसे सहन नहीं किया जा सकता।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co