खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर
खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर|Social Media
मध्य प्रदेश

प्रेस कॉन्फ्रेंस में खाद्य मंत्री ने पेश किया वर्ष भर का लेखा-जोखा

ग्वालियर, मध्यप्रदेश: कमलनाथ सरकार के एक साल पूर्ण होने पर विजन डॉक्यूमेंट पेश करने के बाद विभागों ने भी एक खोला वर्ष भर के कार्यों का चिट्ठा ।

Deepika Pal

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश सरकार के एक साल पूर्ण होने पर विजन डॉक्यूमेंट पेश करने के बाद अब प्रदेश के विभिन्न विभागों ने भी साल भर की कार्ययोजनाओं के चिट्ठे को खोल दिया है। जिसके चलते आज प्रेस कांफ्रेन्स के दौरान खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग में खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने एक साल का लेखा-जोखा पेश किया और कार्ययोजनाओं के विषय में पत्रकारों से चर्चा की।

आधार आधारित राशन वितरण प्रणाली की शुरू - खाद्य मंत्री तोमर

प्रेस कांफ्रेन्स के दौरान खाद्य मंत्री तोमर ने पत्रकारों के समक्ष वर्ष भर का चिट्ठा जहां प्रस्तुत किया वही आधार के प्रमाणन के साथ शुरू की राशन वितरण प्रणाली की भी जानकारी दी। मंत्री ने कहा कि, बीते अक्टूबर महीने में बायोमेट्रिक सत्यापन प्रणाली के आधार पर राशन के वितरण की योजना प्रारंभ की गई है जिसके तहत अब तक 83 लाख परिवारों को योजना का लाभ मिल चुका है जो पहले 18 लाख परिवारों तक सीमित था। योजना में पात्र परिवारों के सत्यापन का अभियान फिलहाल जारी है।

शक्कर वितरण योजना की प्रारंभ :

खाद्य मंत्री ने बताया कि, प्रदेश में राशन की दुकानों पर शक्कर वितरण योजना 2019 से शुरू की गई जिसमें 16 लाख 39 हजार 993 परिवारों को 20 रूपए किलो की दर से प्रति माह शक्कर वितरण किया गया, साथ ही जानकारी देते हुए बताया कि, विभाग की उपभोक्ता हेल्पलाइन ने विगत 6 महीने में देशभर में प्रथम स्थान प्राप्त किया है और उपभोक्ता की शिकायतों का निपटारा भी जल्द किया गया था। वही केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि, सरकार ने प्रदेश की खाद्य योजनाओं पर राशि आवंटन करने के तौर पर शटर लगा दिया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co