मैं कोरोना पॉजीटिव हूं, मुझे भर्ती कर लो साहब
मैं कोरोना पॉजीटिव हूं, मुझे भर्ती कर लो साहब|Social Media
मध्य प्रदेश

ग्वालियर : मैं कोरोना पॉजीटिव हूं, मुझे भर्ती कर लो साहब

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : कोरोना जांच रिपोर्ट में गलती के चलते नहीं हुआ ट्रेस। इंसीडेंट कमांडर ने मौके पर पहुंचकर कराया भर्ती।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। मैं कोरोना पॉजीटिव हूं, मुझे भर्ती कर लो साहब यह गुहार कोरोना पॉजीटिव मरीज लगा रहा था। गुरूवार को उसकी जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजीटिव आई थी। लेकिन रिपोर्ट में मोबाइल नम्बर गलती के चलते वह ट्रेस नहीं हुआ और एम्बुलेंस सुबह तक उसे लेने नहीं पहुंची। तो वह खुद ही पैदल चलकर जेएएच पहुंच गया। वहां डॉक्टरों से वह भर्ती करने की गुहार लगाई। इसकी जानकारी चिकित्सकों ने संबंधित इंसीडेंट कमांडर को दी। जब एम्बुलेंस कोरोना पॉजीटिव मरीज को लेकर गई।

जनकगंज थाना क्षेत्र के गोल पहाड़िया स्थित नवग्रह कॉलोनी में रहने वाले 22 वर्षीय सुनील जाटव पुत्र सुरेश जाटव को बुखार और गले में खराश की शिकायत थी। इस पर वह 22 जुलाई को जयारोग्य अस्पताल की कोल्ड ओपीडी में पहुंचा। वहां उसने कोविड-19 को सेम्पल दिया। कल गुरुवार की शाम जीआरएमसी से जारी की गई जांच रिपोर्ट में सुनील कोरोना पॉजीटिव पाया गया। जैसा सुनील ने बताया कि वह रात भर घर के दरवाजे पर बैठक कर एंबुलेंस का इंतजार करता रहा। लेकिन उसे एंबुलेंस लेने जब सुबह तक नहीं पहुंची तो वह शुकवार की सुबह घर से पैदल चलकर माधव डिस्पेंसरी जा पहुंचा ओर डॉक्टरों से इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करने की गुहार लगाई। पॉजीटिव होने की पड़ताल करने के बाद इसकी सूचना चिकित्सकों ने इंसीडेंट कमांडर को दी। इंसीडेंट कमांडर की टीम मौके पर पहुंची ओर युवक को इलाज के लिए सिथौली स्थित आईटीएम कॉलेज में भर्ती करा दिया।

जांच रिपोर्ट में गलत नम्बर था अंकित :

इस मामले को लेकर गोल पहाड़िया क्षेत्र के इंसीडेंट कमांडर आरएन खरे से बात की गई तो उनका कहना था कि कोरोना जांच रिपोर्ट में जो मोबाइल नंबर सूची में गलत दर्ज किया गया था। सूची में दर्ज नंबर छत्तीसगढ़ में लग रहा था। आज सुबह सुनील के माधव डिस्पेंसरी पहुंचने की सूचना जैसे ही मिली। वैसे ही माधव डिस्पेंसरी में पहुंची टीम ने सुनील को तत्काल उपचार के लिए सिथौली रोड स्थित आईटीएम अस्पताल में भर्ती करा दिया है।

पहले भी हुई है लापरवाही :

प्रशासन व स्वास्थ अमले द्वारा बरती जा रही लापरवाही का यह पहला मामला नहीं है। पन्द्रह दिन पहले भी हजीरा इलाके में रहने वाले युवक जो जांच रिपोर्ट में निगेटिव था उसका मोबाइल नंबर व नाम पॉजीटिव मरीज से मिलता जुलता होने पर निगेटिव वाले युवक को ही अस्पताल में भर्ती करा दिया था। बरती जा रही लापरवाही का यह दूसरा मामला सामने आया है।

इनका कहना है :

जांच में कोरोना पॉजीटिव मिले युवक सुनील जाटव का मोबाइल नंबर सूची में गलत दर्ज होने से संबंधित क्षेत्र के इंसीडेंट कमांडर को जानकारी नहीं मिल सकी थी। आज जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचे इंसीडेंट कमांडर की टीम ने युवक को उपचार के लिए आई टीएम अस्पताल में भर्ती कराया दिया है।

किशोर कान्याल, एडीएम

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co