Gwalior : पार्क में श्वान लाए तो संग रखे पॉटी बैग, जल्द शुरू होगी महिलाओं की जिम
निगमायुक्त ने जेसी मिल पार्क का निरीक्षण कर दिए निर्देशRaj Express

Gwalior : पार्क में श्वान लाए तो संग रखे पॉटी बैग, जल्द शुरू होगी महिलाओं की जिम

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : निगमायुक्त किशोर कन्याल ने जेसी मिल पार्क का निरीक्षण कर दिए निर्देश। पानी फैलाने पर गन्ना जूस सेंटर से वसूला एक हजार का जुर्माना।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 की तैयारियों को देखते हुए निगमायुक्त किशोर कन्याल ने रविवार को विभिन्न स्थानों का निरीक्षण किया। वह जेसी मिल पार्क पहुंचे और यहां महिलाओं के लिए बने जिम को जल्द शुरू कराने के निर्देश दिए। साथ ही पालतू श्वानों(कुत्ते) को साथ लेकर पार्क में आने पर पोट्टी बैग साथ रखने की अनिवार्यता भी लागू कर दी। जो बिना बैग लिए आयगा उसके खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। निरीक्षण के दौरान निगमायुक्त ने गोला का मंदिर पर संचालित गन्ना जूस सेंटर के संचालक से पानी की बर्बादी करने पर एक हजार का जुर्माना भी वसूला।

नगर निगम आयुक्त किशोर कन्याल प्रतिदिन की भांति रविवार सुबह भी सफाई व्यवस्था जांच ने निकले। उन्होंने गोले के मंदिर पर एक मार्केट में सीढ़ियों के नीचे भारी गंदगी जमा होती देख मौके खड़े होकर सफाई कराई। साथ ही गंदगी करने वालों के खिलाफ चलानी कार्रवाई के निर्देश दिए। बैंकों के बने एटीएम के नीचे सीढ़ियों में भारी कचरा जमा था, जिसको लेकर सफाई के निर्देश दिए। नगर निगम आयुक्त किशोर कन्याल ने हजीरा स्थित जीर्णोद्वार किये गए मनोरंजलय पार्क का निरीक्षण किया। इस दौरान वहां स्पोर्ट्स की तैयारी कर रहे हैं, बच्चों से बात की और उनके साथ स्वच्छता का नारा बुलंद किया। इसके साथ ही नगर निगम आयुक्त किशोर कन्याल ने अखाड़े में पहुंचकर पहलवानों से बात की और उनके साथ भी स्वच्छता का नारा बुलंद किया। जेसी मिल पार्क में बनी महिला जिम महिलाओं के लिए शुरू होंगी । इसके साथ ही निरीक्षण के दौरान निगम आयुक्त किशोर कन्याल ने निर्देश दिए कि पार्क में श्वान (कुत्ते ) लाने पर पावंदी है तथा सभी अपने पालतू जानवर को पॉटी बैग लगाना करें अनिवार्य अन्यथा होगी कार्रवाई। वही निरीक्षण के दौरान एक दुकान संचालक द्वारा सूर्य मंदिर तिराहे पर गन्ने की दुकान चलाने वाला संचालक द्वारा पानी की बर्बादी की जा रही थी निगमायुक्त ने ऐसा होता देख दुकानदार को फटकार लगाई और तत्काल एक हजार रुपय का जुर्माना करने के निर्देश दिए।

एसटीपी का किया निरीक्षण :

निरीक्षण के दौरान निगमायुक्त ने लाल टिपारा पर बने सीवर ट्रीटमेंट प्लांट का की व्यवस्थाएं भी देखी। उन्होंने पानी को ट्रीट करने की प्रणाली को समझा और फिल्टर होने वाले पानी का क्या इस्तेमाल हो सकता है इसे लेकर चर्चा की। प्लांट निरंतर चले ताकि सीवर लाईनें न भरे इसके लिए संंबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। भविष्य की संभानाओं को देखते हुए ट्रीट पानी का अधिक से अधिक इस्तेमाल कैसे हो इसे लेकर भी मंथन किया गया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.