ग्वालियर : लॉकडाउन का दिखा असर, बाजार आधे बंद, आधे खुले
लॉकडाउन का दिखा असर, बाजार आधे बंद, आधे खुलेRaj Express

ग्वालियर : लॉकडाउन का दिखा असर, बाजार आधे बंद, आधे खुले

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : रंगों के त्यौहार होली पर खरीदारी करने निकल रहे लोग, तोड़ रहे कर्फ्यू, सड़कों पर ट्रैफिक, पुलिस ने नहीं दिखाई सख्ती।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। कोरोना के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए 9 महीने बाद रविवार को लॉकडाउन लगाया गया है, लेकिन रंगों के त्यौहार होली पर खरीदारी करने निकलने वालों ने कर्फ्यू और लॉकडाउन की धज्जियां उड़ा दी हैं। बाजार भी पूरी तरह बंद नहीं है। रंग और खानपान सेंटर को प्रतिबंध में मिली छूट के चलते बाजार खुले हुए हैं। त्यौहार को देखते हुए जिला प्रशासन और पुलिस के अफसर भी सख्ती नहीं दिखा रहे हैं। सिर्फ सांकेतिक होली दहन की अनुमति रही। भीड़ जुटाने पर चालान की कार्रवाई की जाएगी।

शनिवार रात 10 बजे से ही शहर के बाजार बंद होना शुरू हो गए थे। पुलिस ने भी सख्ती बरती थी, लेकिन सुबह होते-होते माहौल एक दम बदल गया है। 9 महीने बाद रविवार को ग्वालियर में लॉकडाउन की घोषण की थी, लेकिन रविवार को होलिका दहन होने के चलते लॉकडाउन का मिला जुला असर रहा। सुबह-सुबह कुछ बाजार पूरी तरह बंद रहे, लेकिन मुरार, हजीरा, किलागेट के बाजारों में त्यौहार की खरीदारी करने लोग बाजारों में घूम रहे हैं। कई बाजारों में बिल्कुल भी सख्ती नहीं है। सड़कों पर भी आम दिनों की तरह तो नहीं, लेकिन टेंपो और ऑटो दौड़ते नजर आ रहे हैं। ऐसा ही चला तो लॉकडाउन का क्या मतलब रहेगा और कैसे कोरोना संक्रमण की रोकथाम की जा सकेगी।

जिला प्रशासन ने लॉकडाउन लगाने के बाद शनिवार रात घोषणा की थी कि होली और शब ए बारात के त्यौहार सांकेतिक रूप से मनाए जाएंगे। साथ ही त्यौहार को देखते हुए सख्ती में मामूली छूट दी थी, लेकिन स्पष्ट रूप से कहा था कि होलिका दहन के समय भीड़ एकत्रित न की जाए।

लॉकडाउन में सवारी वाहन चलने व दुकानें खुलने का पता चलते ही पुलिस कप्तान अमित सांघी ने पुलिस अफसरों को फटकार लगाई तो पुलिस अफसर और जवान सड़कों पर उतर आए और सवारी वाहनों के खिलाफ कार्रवाई के साथ ही जो दुकानें खुली थी उन्हें बंद कराकर सड़कों पर निकले लोगों से पूछताछ की तो बाजार खाली होने लगे।

बसों में भीड़ तो ट्रेनों में सीमित मुसाफिर :

कोरोना संक्रमण के कारण शहर के हजारों लोग अन्य प्रदेशों में संक्रमण को लेकर प्रदेश सरकारों द्वारा लगाई गई पाबंदियों के चलते सीमित संख्या में ही होली का पर्व मनाने जा पा रहे है इनमें उन मुसाफिरों की संख्या अधिक है जिनके परिवार जिलों के आसपास कस्बों में रहते है। हालांकि आज लॉकडाउन के चलते शहर से बाहर जाने वालों को दी गई छूट के चलते आज सरकारी व निजी बस स्टैण्डों पर यात्रियों की भारी भीड़ बस स्टैण्डों पर सुबह से ही दिखाई दे रही है। वहीं ट्रेनों में जनरल टिकट पर यात्रा बंद होने के कारण इस साल होली जैसे पर्व पर सीमित संख्या में ही शहर से बाहर जाने वाले स्टेशन पर ट्रेन पकड़ते दिखे। कोराना काल का असर निजी टैक्सी के काराबोर पर भी पड़ता दिख रहा है। क्योंकि अन्य प्रदेश सरकारों द्वारा दूसरे प्रदेश से आने वाले लोगों के एंट्री लेने से पहले कोरोना रिपोर्ट आवश्यक की गइ्र्र है जिसके कारण इस साल निजी टैक्सियों से लोगों की आवाजाही न के बराबर ही दिखाई दे रही है।

सुबह से रही दुकानों पर भीड़ :

लॉकडाउन के चलते रविवार सुबह से ही बाजारों में खरीदारों की जमकर भीड़ रही। लॉकडाउन के कारण सब्जी मंडियां और फल मंडियां बंद रहीं। सुबह से नमकीन, मिठाई, डेयरी, रंग और पिचकारी की दुकानों पर जमकर भीड़ रही।

पिचकारियों और रंगों की दुकानों पर सुबह से ही बच्चों और उनके परिजनों की भीड़ रही। दोपहर तीन बजे तक बाजारों में जमकर रंगों, मिठाइयों, नमकीन, डेयरी आदि की दुकानों पर ग्राहकों की जमकर भीड़ रही। लॉकडाउन पर असमंजस की स्थिति होने के कारण लोगों ने शनिवार को देर रात तक बाजारों में जमकर खरीदारी की। किराना, मिठाई, रंग, गुलाल और पिचकारियों की दुकानों पर देर रात तक भीड़ रही। शहर में कई स्थानों पर रंगों और पिचकारियों की अस्थाई दुकानें सजाई थीं। सदर बाजार, बारादरी, सात नंबर चौराहा, गोला का मंदिर, पिंटोपार्क, मयूर मार्केट, ठाटीपुर, सिटी सेंटर, गोविंदपुरी चौराहा, कंपू, लश्कर, हजीरा, चार शहर का नाका आदि क्षेत्रों में रंगों और मिठाइयों की दुकानों पर भीड़ रही। रविवार को छुट्टी होने के कारण बड़ी संख्या में लोगों ने बाजारों में पहुंचकर खरीददारी की।

हाट भी कराई खाली :

इंदरगंज थाना क्षेत्र के भैस मण्डी के पीछे स्थित सप्ताहिक हाट में दुकानें लगने का पता चलते ही पुलिस अफसर और जवान यहां पर पहुंचे और यहां पर लगी दुकानों को बंद कराया। पहले दुकानदारों ने विरोध करने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस के तेवर देखते हुए अपना सामान समेटने में ही भलाई समझी और कुछ ही देर में पूरी हाट खाली हो गई।

हाट भी कराई खाली
हाट भी कराई खालीRaj Express

यह है प्रतिबंध :

लॉकडाउन की अवधि के दौरान सभी तरह की दैनिक गतिविधियां, सभी निजी एवं शासकीय संस्थाएं, दुकान, जिम, स्पोटर्स कॉम्प्लेक्स, स्वीमिंग पूल, होटल, क्लब, गार्डन, अन्य दुकानें बंद रहेंगी। साथ ही लॉकडाउन अवधि में शराब की दुकाने और बीयरबार व अहाते बंद रहेंगे। साथ ही त्यौहार पर होली, शब-ए-बारात, ईस्टर व ईद-उल-फितर पर कोई जुलूस, सम्मेलन आदि प्रतिबंधित रहेंगे।

यहां मिली प्रतिबंध से छूट :

लॉकडाउन के दौरान प्रतिबंध से इन्हें मिल सकती है छूट जैसे दूध एवं दवाई की दुकान तथा अस्पताल खुले रहेंगे। इसके साथ ही आवश्यक वस्तुओं के थोक परिवहन, औद्योगिक इकाइयों एवं उसके श्रमिकों और कर्मियों, औद्योगिक क'चे माल तथा उत्पाद के परिवहन, बीमार व्यक्तियों के आने-जाने, बाहर से आने वाले ट्रक, डंपरों को तथा एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और बस स्टैण्ड से आने एवं जाने की छूट रहेगी। साथ ही 31 मार्च तक सभी शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे, लेकिन जो परीक्षाएं पहले से तय हैं वह होंगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co