सैंपल लेने पहुंची टीम से होटल के मैनेजर ने की अभद्रता
सैंपल लेने पहुंची टीम से होटल के मैनेजर ने की अभद्रता|Social Media
मध्य प्रदेश

सैंपल लेने पहुंची टीम से होटल के मैनेजर ने की अभद्रता

मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले में होटल आदित्याज में संदिग्धों के सेंपल लेने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ होटल के मैनेजर ने की अभद्रता।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले में दीनदयाल नगर चौराहे के पास स्थित होटल आदित्याज में संदिग्धों के सैंपल लेने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ होटल के मैनेजर ने अभद्रता कर दी। मैनेजर सैंपल लेने वाली टीम को वापस भेजना चाह रहा था। इसकी शिकायत तत्काल पुलिस से की गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने मैनेजर का हड़काया तब जाकर सैंपल हुए। इस मामले में कार्यवाही की मांग करते हुए टीम में शाामिल डॉक्टर, नर्स एवं लैब टैक्निशियन ने एसपी को पत्र लिखा है। बुधवार को जिला अस्पताल से 314 संदिग्धों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए।

आपको बता दें कि, ई पास के जरिए अन्य जिलों से ग्वालियर आए कुछ लोग होटल आदित्याज एवं होटल वेदांश में रूके थे। इनकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग को थी इसलिए स्वास्थ्य विभाग की टीम बुधवार सुबह संदिग्धों को सैंपल लेने होटल आदित्याज पहुंची। टीम में डॉ.ऋषभ लेखी, संदीप प्रधान एवं स्टाफ नर्स विद्या राजपूत शामिल थीं। जैसे ही टीम मौके पर पहुंची तो होटल के मैनेजर किशोर शिंदे ने गाली गलौच करते हुए होटल के अंदर घुसने से रोक दिया। चूंकि टीम इंसीडेंट कमांडेट तहसीलदार महेश सिंह कुशवाह के निर्देश पर होटल पहुंची थी इसलिए डॉक्टर ने तत्काल उन्हें फोन लगाकर घटना की जानकारी दी।

तहसीलदार ने सूचना के आधार पर महाराजपुरा थाना प्रभारी को सूचित किया और होटल पहुंचने के लिए कहा। कुछ ही मिनिट में पुलिस बल होटल पहुंच गया और मैनेजर को फटकार लगाई। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बाहर से आए लोगों के सैंपल लिए। होटल मैनेजर द्वारा किए गए दुर्व्यवहार के चलते स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एसपी को पत्र लिखते हुए कार्यवाही की मांग की है। वहीं दूसरी तरफ मुरार जिला अस्पताल से बुधवार को 314 संदिग्धों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए।

कोरोना योद्धा के रूप में कार्य कर रहे स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर एवं कर्मचारियों के साथ इस तरह का व्यवहार किसी भी तरह से उचित नहीं है। अगर ऐसा किया गया तो अपनी जान जोखिम में डालकर लोगों का उपचार कर रहे अमले का मनोबल टूटेगा। प्रशासन को इस मामले में तत्काल एक्शन लेते हुए मैनेजर को गिरफ्तार करना चाहिए। इस मामले में चिकित्सा सेवाएं से जुड़ी संस्थाओं ने भी कार्यवाही की मांग की है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co