सर्वलांस पर रखे जाएंगे कोविड मरीजों के मोबाइल, घूमता मिला तो होगी एफआईआर
कलेक्टर ने की समीक्षा बैठक, दिए दिशा-निर्देशRaj Express

सर्वलांस पर रखे जाएंगे कोविड मरीजों के मोबाइल, घूमता मिला तो होगी एफआईआर

ग्वालियर, मध्यप्रदेश: मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई। कोई भी पॉजिटिव मरीज अगर घर के बाहर घूमता पाया गया तो उसके खिलाफ धारा-144 के तहत एफआईआर की कार्रवाई की जाएगी।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। पॉजिटिव मरीजों के मोबाइल को सर्वलांस पर रखा गया है। कोई भी पॉजिटिव मरीज अगर घर के बाहर घूमता पाया गया तो उसके खिलाफ धारा-144 के तहत एफआईआर की कार्रवाई की जाएगी। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने यह निर्देश गुरूवार को कोविड नियंत्रण की समीक्षा बैठक में दिए।

बैठक के दौरान कलेक्टर सिंह ने इंसीडेंट कमाण्डरों को निर्देशित किया है कि कोविड-19 के तहत होम क्वारंटाइन कोई भी व्यक्ति घर के बाहर घूमता नहीं पाया जाना चाहिए। ऐसे सभी मरीजों के मोबाइल ट्रेसिंग पर रखे जाएं और कोई भी व्यक्ति बाहर घूमता पाया जाए तो उसके खिलाफ धारा-144 के तहत पुलिस प्रकरण कायम कराया जाए। उन्होंने यह भी निर्देशित किया कि जिस क्षेत्र में भी कोविड का पॉजिटिव मरीज पाया जाता है, उसके घर के आस-पास को बैरीकेटिंग के माध्यम से कन्टोनमेंट जोन बनाया जाए। इसके साथ ही सर्वेक्षण का कार्य भी प्राथमिकता के आधार पर कराया जाए। कलेक्टर ने इंसीडेंट कमाण्डरों को यह भी निर्देशित किया है कि वे अपने-अपने क्षेत्र में बिना मास्क के घूमने वालों के विरुद्ध चालान की कार्रवाई करें। इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग के लिये सभी व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के बाहर गोले बनाने का कार्य भी किया जाए। बैठक में सीईओ जिला पंचायत आशीष तिवारी, सीईओ स्मार्ट सिटी श्रीमती जयति सिंह, एडीएम इच्छित गढ़पाले, एडीएम एचबी शर्मा सहित सभी इंसीडेंट कमाण्डर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.मनीष शर्मा एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

कोविड सेंटर होंगे शुरू :

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बैठक में यह भी निर्देशित किया है कि पूर्व की भांति कोविड केयर सेंटरों को भी तत्परता से प्रारंभ किया जाए। पूर्व में फिजिकल कॉलेज, मेला ग्राउण्ड, श्याम वाटिका, हुरावली के साथ-साथ सभी ब्लॉक स्तर पर भी केन्द्र प्रारंभ किए गए थे। संबंधित इंसीडेंट कमाण्डर सभी केन्द्रों को प्रारंभ करने की तत्परता से कार्रवाई करें।

मरीजों को परेशानी का सामना नहीं करना पड़े :

सीएमएचओ को कहा है कि मरीजों को भर्ती करने में किसी प्रकार की परेशानी नहीं आना चाहिए। दवाएं एवं ऑक्सीजन की व्यवस्थायें भी अच्छी होना चाहिए। पूर्व की भांति एम्बूलेंस की व्यवस्थायें की जाएं। कंट्रोल कमाण्ड सेंटर पर भी पर्याप्त संख्या में एम्बूलेंस उपलब्ध होना चाहिए। कंट्रोल कमाण्ड सेंटर के माध्यम से वीडियो कॉलिंग के जरिए चिकित्सीय सलाह देने का कार्य निरंतर हो, यह भी सुनिश्चित किया जाए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.