ग्वालियर : भाजपा में जाने के बाद मोहन सिंह भितरवार में हुए सक्रिय
भाजपा में जाने के बाद मोहन सिंह भितरवार में हुए सक्रियSocial Media

ग्वालियर : भाजपा में जाने के बाद मोहन सिंह भितरवार में हुए सक्रिय

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : सिंधिया के सबसे नजदीक लोगों में की जाती है गिनती। आदिवासियों के हक के लिए लड़ाई लड़ना की शुरू।

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं रा'यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के सबसे नजदीक माने जाने वाले मोहन सिंह राठौर ने अब भाजपा में पहुंचते ही भितरवार विधानसभा में अपनी सक्रियता बढ़ा दी है। कांग्रेस में रहते हुए भी वह खासे सक्रिय रहे थे, लेकिन भितरवार से उनका नंबर टिकट का नहीं लग सका था, लेकिन अब सिंधिया के साथ भाजपा में जाते ही भितरवार में लोगों के बीच जाकर समस्याएं सुनने का काम कर रहे है। इसके पीछे कारण यह है कि अगले विधानसभा में वह कांग्रेस विधायक लाखन सिंह यादव को किसी भी कीमत पर चुनाव हराने की मंशा पाले हुए हैं।

राजनीति में जब मोहन सिंह आएं थे तो उनको पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने आगे बढ़ाया था और युवक कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया था, लेकिन बाद में मोहन सिंह स्व. माधवराव सिंधिया से जुड़ गए थे ओर तभी से उसी परिवार से जुड़े हुए है। प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के दौरान भितरवार के विधायक लाखन सिंह यादव ने सिंधिया को लेकर कई तरह की बाते कही थी उसी को लेकर अब मोहन सिंह ने भितरवार में अपनी सक्रियता बढ़ा दी है ओर प्रतिदिन ग्रामीण क्षेत्र में जाकर लोगों की समस्याएं सुनने का काम कर रहे हैं। इसके पीछे कारण यह है कि लाखन सिंह से मोहन का छत्तीस का आंकड़ा शुरू से रहा है और उप चुनाव के दौरान डबरा से इमरती देवी को हराने के लिए लाखन सिंह यादव ने खासी मेहनत की थी।

आदिवासियों को कराएं पट्टे वितरित :

भितरवार क्षेत्र के आदिवासियों को पट्टे दिए जाने थे, लेकिन लम्बे समय से उनको लटकाकर रखा गया था। भाजपा नेता मोहन सिंह को जब इस बारे में जानकारी लगी तो उन्होंने अधिकारियो से बात कर आदिवासियों को पट्टे वितरित कराने का काम किया। भारत सरकार वन अधिकार अधिनियम के अंतर्गत मोहनसिंह ने जनपद सदस्य सीताराम के साथ घाटीगांव में आदिवासियों को पट्टे का वितरण किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आदिवासियों की वन भूमि पर पट्टे देने का कार्य मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अगस्त माह में ऑनलाइन वितरण किया था।

आदिवासी ग्राम घाटीगांव में मोहनसिंह ने जिला पंचायत एवं जनपद पंचायत सीईओ घाटीगांव से चर्चा कर आदिवासियों को तत्काल पट्टे वितरण का कार्य किया और ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं। मोहनसिंह राठौर ने कहा कि आदिवासियों, अनुसूचित जाति हितग्राहियों की परेशानियों को देखते हुए प्रत्येक माह के प्रथम गुरुवार को अनुविभागीय अधिकारी कार्यालय के पास ग्राम पंचायत परिसर में जन पंचायत का आयोजन कर समस्याओं को सुनने का काम करेगें और वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा कर समस्याओं का समाधान कराया जाएगा। इस अवसर पर सीताराम आदिवासी जनपद सदस्य, रूपराज राठौर, लाला राठौर, दारासिंह कटारे, रघुबर आदिवासी, राजेन्द्र आदिवासी, रजमन आदिवासी, रीनू आदिवासी, नीरज आदिवासी आदि उपस्थित थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co