Gwalior : सीएम हेल्पलाइन के निराकरण में नगर निगम ग्वालियर प्रथम स्थान पर
सीएम हेल्पलाइन के निराकरण में नगर निगम ग्वालियर प्रथम स्थान परSocial Media

Gwalior : सीएम हेल्पलाइन के निराकरण में नगर निगम ग्वालियर प्रथम स्थान पर

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : सोमवार को भोपाल, इंदौर एवं जबलपुर नगर निगम को पीछे छोड़ते हुए ग्वालियर नगर निगम ने 5618 शिकायतों में से 4238 का निराकरण कर नागरिकों की संतुष्टि के साथ बंद कराया।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। सीएम हेल्पलाईन के निराकरण में आखिरकार नगर निगम ग्वालियर ने बाजी मार ली है। सोमवार को भोपाल, इंदौर एवं जबलपुर नगर निगम को पीछे छोड़ते हुए ग्वालियर नगर निगम ने 5618 शिकायतों में से 4238 का निराकरण कर नागरिकों की संतुष्टि के साथ बंद कराया। इन आंकड़ों के साथ ग्वालियर सीएम हेल्प लाईन के निराकरण में नंबर 1 पर आ गया है।

पिछले काफी समय से ग्वालियर नगर निगम सीएम हेल्प लाईन के लंबित प्रकरणों में पिछड़ रहा था। हालात यह थी कि 16 नगरीय निकायों में शिकायतों का निराकरण कराने के मामले में ग्वालियर 11 वें नंबर पर था। प्रमुख सचिव सहित अन्य अधिकारी इस बात से नाराज थे। ग्वालियर कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह भी निगम अधिकारियों को फटकार लगा चुके थे। इसके बाद कलेक्टर द्वारा टीएल की शिकायत एवं सीएम हेल्प लाईन के प्रकरणों का निराकरण कराने के लिए मेराथन बैठक ली और लगातार मॉनिटरिंग करते रहे। वहीं निगमायुक्त का पदभार ग्रहण करने के साथ ही निगमायुक्त किशोर कन्याल द्वारा भी सीएम हेल्प लाईन के प्रकरणों का निराकरण कराने के लिए प्रयासरत रहे। यही वजह रही कि सोमवार को सीएम हेल्प लाईन के निराकरण में ग्वालियर नगर निगम को प्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ। निगमायुक्त किशोर कन्याल ने इस उपलब्धि के लिए सभी निगम अधिकारी एवं कर्मचारियों को बधाई दी। सीएम हेल्प लाईन में स्वास्थ्य विभाग की कुल 25 शिकायतें रूपेशल रूप से बंद कराई गई। इसी प्रकार सीवर सफाई विभाग द्वारा 98 प्रतिशत शिकायतों का निराकरण किया गया।

प्रदेश के 10 प्रमुख अधिकारियों में ग्वालियर के 3 :

सीएम हेल्प लाईन का निराकरण कराने के मामले में प्रदेश के टॉप टेन रेकिंग में ग्वालियर के तीन अधिकारी शामिल हुए हैं। इसमें स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. वैभव श्रीवास्तव, सीवर सेल प्रभारी राजेन्द्र भदौरिया एवं विद्युत विभाग प्रभारी देवी सिंह राठौर शामिल हैं। इन अधिकारियों ने शिकायतों का निराकरण कराने में तत्परता बरती इसलिए यह प्रदेश के टॉप 10 रेकिंग में शामिल हुए। निगमायुक्त ने तीनों अधिकारी एवं उनके विभाग के कर्मचारियों को बधाई दी है। सीएम हेल्पलाइन की संपूर्ण मॉनिटरिंग के लिए नोडल ऑफिसर सीएम हेल्पलाइन डॉ प्रदीप श्रीवास्तव के विशेष योगदान की सराहना की गई।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.