Gwalior : पड़ोसी ने तलघर बनाने कराई खुदाई, लापरवाही से ढह गई तीन मंजिला ईमारत
पड़ोसी ने तलघर बनाने कराई खुदाई, लापरवाही से ढह गई तीन मंजिला ईमारतRaj Express

Gwalior : पड़ोसी ने तलघर बनाने कराई खुदाई, लापरवाही से ढह गई तीन मंजिला ईमारत

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : गीता कॉलोनी दाल बाजार में तीन मंजिला पुराना मकान भरभराकर ढह गया। मकान में सो रहे डॉक्टर उसमें दब गए। एक घंटे के रेस्क्यू के बाद उन्हें बाहर निकाला।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। गीता कॉलोनी दाल बाजार में सोमवार-मंगलवार की रात डेढ़ बजे तीन मंजिला पुराना मकान भरभराकर ढह गया। मकान में सो रहे डॉक्टर उसमें दब गए। एक घंटे के रेस्क्यू के बाद उन्हें बाहर निकाला। सिर में चोट होने से उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों ने उन्हें खतरे से बाहर बताया है। दुर्घटना का कारण पास में मकान बनाने तलघर की खुदाई रहा। आधी रात को ही नगर निगम के अधिकारी मौके पर पहुंचे। लापरवाही से कार्य करने पर निगम ने मकान निर्माण की मंजूरी निरस्त करने की कार्रवाई शुरू कर दी है।

गीता कॉलोनी में अलंकार होटल के पास सुरेश नीखरा (गुप्ता) का तीन मंजिला मकान है। उसमें उनका बेटा डॉ. आलोक नीखरा निवारण डायग्नोस्टिक सेंटर का संचालन करते हैं। डॉ. नीखरा के मकान से सटकर व्यवसायी नत्थीलाल बंसल का मकान था। वे उसे तोड़कर बना रहे हैं। नगर निगम से तलघर, ग्राउंड फ्लोर व तीन मंजिल की मंजूरी ली थी। तलघर बनाने ज्यादा खुदाई कर उसमें पानी भर दिया । इससे डॉ. नीखरा की बुनियाद कमजोर हो गई। खुदाई के दौरान सुरक्षा नहीं बरती। इसलिए रात में मकान भरभराकर ढह गया। इसमें डॉ.आलोक नीखरा दब गए। जिसे निगम अधिकारी व पुलिस की सहायता से बाहर निकाला। गनीमत यह रही कि जब घटना हुई उस वक्त डॉ. नीखरा रात में घर में अकेले थे। उनकी पत्नी और बच्चे शादी में गये थे, जबकि पिता माधौगंज में दूसरे मकान में रहते हैं।

जोरदार धमाके जैसे आई आवाज :

रात में अचानक मकान दो हिस्सों में ढह गया। जोरदार धमाके जैसी आवाज आई तो पड़ोसी हड़बड़ाकर उठे वहां जा खड़े हुए। उन्होंने डॉ. नीखरा के नजदीकी ओमप्रकाश सेठ के अलावा पुलिस को जानकारी दी। सेठ अपने बच्चों, नाती को लेकर वहां पहुंचे। नगर निगम के भवन अधिकारी वीरेन्द्र शाक्य, क्षेत्राधिकारी अनिल श्रीवास्तव, फायर ब्रिगेड व पुलिस की टीम भी वहां पहुंच गई। मलबे में दबे डॉ. नीखरा को बाहर निकाला और जेएएच ले गये। बाद में निजी अस्पताल में भर्ती कराया।

इनका कहना है :

नत्थीलाल बंसल को तलघर व जी प्लस थ्री की मंजूरी दी थी, लेकिन निर्माण कार्य में लापरवाही बरतने के कारण यह घटना घटी। इसलिए मंजूरी निरस्त करने की र्कारवाई की जा रही है।

वीरेन्द्र शाक्य, भवन अधिकारी नगर निगम

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co