Gwalior : कोविड वैक्सीन का बूस्टर डोज लगवाने में लोग नहीं दिखा रहे रूचि
बूस्टर डोज लगवाने में लोग नहीं दिखा रहे रूचिShahid - RE

Gwalior : कोविड वैक्सीन का बूस्टर डोज लगवाने में लोग नहीं दिखा रहे रूचि

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : कोविड वैक्सीन का बूस्टर डोज लगवाने में लोग अब रूचि नहीं दिखा रहे हैं। उसी का नतीजा है कि करीब पांच माह बाद भी सिर्फ 69 हजार लोगों को ही बूस्टर डोज लग पाई है।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। कोविड वैक्सीन का बूस्टर डोज लगवाने में लोग अब रूचि नहीं दिखा रहे हैं। उसी का नतीजा है कि करीब पांच माह बाद भी सिर्फ 69 हजार लोगों को ही बूस्टर डोज लग पाई है। जबकि लोगों को यह नहीं भूलना चाहिए कि अभी कोरोना खत्म नहीं हुआ है। इसलिए सावधानी ही कोरोना से बचाव का एक मात्र उपाय है।

कोरोना संक्रमण एक बार फिर से पैर पसारने लगा है। रोजाना बढ़ रही मरीजों की संख्या के बावजूद भी लोग कोरोना संक्रमण को लेकर जमकर लापरवाही बरत रहे हैं। लोगों की लापरवाही का आलम जिले में यह है कि जिले में 20 हजार सात सौ से अधिक लोग ऐसे हैं, जिन्हें कोरोना का दूसरा टीका लगवाए 9 महीने से अधिक का समय हो गया है। उसके बाद भी उन्होंने अभी तक बूस्टर डोज नहीं लगवाया है। जबकि बूस्टर डोज लगवाने के लिए उनके पास लगातार मोबाइल पर मैसेज आ रहे हैं। लेकिन उन्हें लोग अनदेखा कर रहे हैं। वरिष्ठ चिकित्सकों का कहना है कि समय के साथ ही साथ कोरोना टीके का प्रभाव कम होने लगता है। जिन लोगों ने एक साल पहले कोरोना का दूसरा टीका लगवाया था, उनके शरीर में बनी एंटीबाडी अब कमजोर होने लगी है। जरूरी है कि लोग समय पर सतर्कता डोज लगवा लें। कोरोना संक्रमण को लेकर अब कतई लापरवाही नहीं बरतें और सेंटर पर पहुंचें और अपना ड्यू बूस्टर डोज लगवाकर संक्रमण से बचाव करें।

इसलिए जरूरी है बूस्टर डोज :

कोविड विशेषज्ञों की राय है कि जिन लोगों को कोरोना का दूसरा टीका लगवाए नौ महीने से ज्यादा समय बीत चुका है, उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने लगेगी। इनके संक्रमित होने की आशंका ज्यादा है, ऐसे लोग सतर्कता डोज लगवा लें। कोरोना अभी समाप्त नहीं हुआ है। सावधानी बहुत जरूरी है। क्योंकि बूस्टर डोज से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बनी रहेगी। कोरोना वायरस का आक्रमण भी हुआ तो एंटीबाडी लड़कर उसे खत्म कर देगी।

7 हजार को तीन महीने बाद :

जिले में हो रहे त्रि-स्तरीय पंचायत व ननि चुनाव संचालित करने वाले 7 हजार से अधिक सरकारी अफसर व कर्मचारी जिनकी ड्यूटी चुनाव में लगाई गई है ये सभी कर्मी बूस्टर डोज दूसरे वैक्सीन के तीन महीने बाद लगवा सकते हैं।

किस दिन मिले कितने संक्रमित :

  • 10 जून को 2 संक्रमित मिले

  • 11 जून को 4 संक्रमित मिले

  • 12 जून को 1 संक्रमित मिले

  • 13 जून को 2 संक्रमित मिले

  • 14 जून को 3 संक्रमित मिले

  • 15 जून को 5 संक्रमित मिले

  • 16 जून को 1 संक्रमित मिले

  • 17 जून को 4 संक्रमित मिले

नोट : वर्तमान में एक्टिव केस मरीजों की संख्या 20 है।

वैक्सीनेशन की स्थिति :

  • प्रथम डोज : 17,82,569

  • दूसरा डोज : 16,51,753

  • बूस्टर डोज : 69,097

इनका कहना है :

जिन लोगों को कोरोना का दूसरा टीका लगवाए नौ महीने से ज्यादा हो गया है। वह बूस्टर डोज अवश्य लगवायें,क्योंकि कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। वैक्सीनेशन और सावधानी ही कोरोना से बचाव का एकमात्र उपाय है।

डॉ.मनीष शर्मा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co