ग्वालियर : 4 बजे खत्म हो गई वैक्सीन वापस लौटे लोग, लापरवाही की खुली पोल
4 बजे खत्म हो गई वैक्सीन वापस लौटे लोग, लापरवाही की खुली पोलसांकेतिक चित्र

ग्वालियर : 4 बजे खत्म हो गई वैक्सीन वापस लौटे लोग, लापरवाही की खुली पोल

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : वैक्सीनेशन को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तक चिंतित हैं, लेकिन शहर के अफसर ही वैक्सीनेशन में लापरवाही बरत रहे हैं।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। वैक्सीनेशन को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तक चिंतित हैं, लेकिन शहर के अफसर ही वैक्सीनेशन में लापरवाही बरत रहे हैं। सोमवार को देखने में आया कि टिहोली सबवैक्सीनेशन सेंटर पर वैक्सीन खत्म हो गई। स्वास्थ्य अधिकारियों ने समय पर वैक्सीन नहीं पहुंचाई। इससे ग्रामीण के वृद्धजनों को बिना टीकाकरण कराए ही वापस लौटना पड़ा। इससे अफसरों की लापरवाही की पोल खुलती दिखी।

ग्राम टिहोली में सोमवार को वैक्सीनेशन के लिए यहां सब वैक्सीनेशन सेंटर बनाया था। टिहोली के वैक्सीनेशन सेंटर पर टिहोली के अलावा बडेरा और आरोली के वृद्धजनों का टीकाकरण भी होना था। यहां 150 लोगों को वैक्सीन लगाई जानी थी। सुबह से ही वैक्सीनेशन सेंटर पर टीकाकरण कराने वाले लोग पहुंचने लगे थे। शाम को करीब 4 बजे वैक्सीनेशन सेंटर पर वैक्सीन खत्म हो गईं और वैक्सीनेशन सेंटर पर 40 लोग और वैक्सीनेशन कराने के लिए खड़े हुए थे। इसकी जानकारी वहां उपस्थित स्टाफ ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.मनीष शर्मा को दी। सीएमएचओ ने थोड़ी देर में वैक्सीन उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। लेकिन शाम 6 बजे तक वहां वैक्सीन नहीं पहुंची। इससे वहां टीकाकरण के लिए खड़े 40 लोगों को बिना टीकाकरण कराए ही वापस लौटना पड़ा।

टिहोली के सरपंच की जुबानी :

टिहोली के सरपंच आशाराम बघेल ने राजएक्सप्रेस को बताया कि शाम 4 बजे वैक्सीन खत्म हो गई और वैक्सीनेशन सेंटर पर 35-40 लोग टीकाकरण के लिए खड़े हुए थे। इससे मुरार जनपद को और नायब तहसीलदार को अवगत कराया, लेकिन किसी ने भी वैक्सीन उपलब्ध नहीं कराई। इससे लोगों को बिना वैक्सीनेशन कराए ही वापस लौटना पड़ा।

सख्त कार्रवाई के निर्देश :

वैक्सीनेशन में लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उसके बाद भी शहर के अफसर वैक्सीनेशन कार्य में लापरवाही बरत रहे हैं।

20 हजार टीकाकरण का था लक्ष्य :

कोरोना की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीके लगाने की शुरुआत सोमवार से की गई। इसके लिए जिले में 138 केंद्र बनाए गए हैं। इन केंद्रों पर 20 हजार लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन काफी लोग टीकाकरण कराने ही नहीं आए। टीकाकरण केंद्रों में 21 प्राइवेट और 117 सरकारी टीकाकरण केंद्र है। जहां टीके लगवाने की व्यवस्था की गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co