सावन बीता, भादौ शुरू लेकिन नहीं भर पाया तिघरा
सावन बीता, भादौ शुरू लेकिन नहीं भर पाया तिघराRaj Express

Gwalior : सावन बीता, भादौ शुरू लेकिन नहीं भर पाया तिघरा

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : पेहसारी बांध से प्रतिदिन आ रहा 12 एमसीएफटी पानी, उसी से हो रही सप्लाई। 729.30 फीट है तिघरा बांध का लेबल, 740 फीट तक रहता है भराव।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। बारिश शुरू हुए लगभग दो महीने बीत चुके हैं। लेकिन तिघरा बांध अभी भी 10 फीट से अधिक खाली है। वर्तमान में तिघरा बांध का लेबल 729.30 फीट है और इसे भरने के लिए प्रतिदिन पेहसारी बांध की कैनाल से पानी आ रहा है। अधिकारियों के अनुसार पेहसारी बांध से प्रतिदिन 10-12 एमसीएफटी पानी आ पाता है जो सप्लाई में चला जाता है। इससे तिघरा बांध का लेबल घट नहीं रहा। लेकिन इसे भरने के लिए कैचमेंट एरिए में जितनी बारिश होनी चाहिए वह नहीं हो रही है। हालांकि एक बार फिर से अंचल में बारिश का दौर शुरू हुआ है जिससे बांध भरने की उम्मीद बनी हुई है।

तिघरा का शहर की लाईफ लाईन माना है। इस बांध से प्रतिदिन शहर को पानी की सप्लाई होती है। हर साल बारिश में बांध के भरने का इंतजार किया जाता है। लोग उम्मीद करते हैं कि बारिश बेहतर होगी तो तिघरा बांध के गेट खुलेंगे और सभी को बांध से पानी निकालने वाले मनमोहक दृश्य देखने को मिलेगा। लेकिन हर बार बारिश के अंतिम दिनों में बांध भरने की स्थिति बनती है। इस बार भी बारिश शुरू हुए दो महीने गुजर चुके हैं, लेकिन बांध का जल स्तर मात्र एक फीट ही बढ़ा है। तिघरा की स्थिति को देखते हुए जल संसाधन विभाग द्वारा पेहसारी बांध से कैनाल के जरिए पानी छोडऩा शुरू कर दिया गया था ताकि पेजयल सप्लाई में किसी तरह की समस्या नहीं आए। लेकिन इसके बावजूद हालातों में बहुत 'यादा सुधार नहीं हुआ। शनिवार को तिघरा बांध का लेबल 729.30 था। यह लेबल पेहसारी बांध से प्रतिदिन आने वाली पानी की वजह ने बना हुआ है। पेहसारी बांध से प्रतिदिन 10 से 12 एमसीएफटी पानी आता है जिससे सप्लाई पूरी हो जाती है। जब तक कैचमेंट एरिए में तेज बारिश का दौर शुरू नहीं होगा, तब तक तिघरा बांध का भरना संभव नहीं है।

जाता हुआ मानसून होता है मेहरबान :

पिछले 10 वर्षोँ की बात करें तो बारिश के शुरूआती महीनों में ग्वालियर में सड़ी गर्मी एवं उमस का माहौल रहता है। खण्ड वर्षा होती है जिससे लोग परेशान हो जाते है। हर साल अगस्त के अंतिम सप्लाई एवं सितंबर में जोरदार बारिश होती है जिससे अंचल के तमाम बांध लबालब हो जाते हैं। इस बार भी ऐसा ही अंदेशा दिखाई दे रहा है। ग्वालियर चंबल संभाग में एक बार फिर से बारिश का दौर शुरू हो गया है। इससे उम्मीद बंध गई है कि जल्द ही बांध भर जाएंगे।

पिछले 10 दिनों में यह रहा है तिघरा का लेवल :

  • 3 अगस्त 728.70 फीट

  • 4 अगस्त 728.70 फीट

  • 5 अगस्त 728.80 फीट

  • 6 अगस्त 728.90 फीट

  • 7 अगस्त 728.90 फीट

  • 8 अगस्त 728.95 फीट

  • 9 अगस्त 729.00 फीट

  • 10 अगस्त 729.10 फीट

  • 11 अगस्त 729.10 फीट

  • 12 अगस्त 729.25 फीट

  • 13 अगस्त 729.30 फीट

इनका कहना है :

तिघरा बांध में प्रतिदिन पेहसारी बांध से पानी आ रहा है। प्रतिदिन 10-12 एमसीएफटी पानी आता है जो सप्लाई में इस्तेमाल हो रहा है। जहां तक तिघरा के भरने की बात है तो अभी बारिश फिर से शुरू हो गई है। ग्वालियर एवं आसपास के क्षेत्र में जाता हुआ मानसून ही बरसता है तभी सभी बांध भर पाते हैं। हमें उम्मीद है कि इस बार भी तिघरा जरूर भरेगा।

यादवेन्द्र शर्मा, एसडीओ, तिघरा, जल संसाधन विभाग

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co