ग्वालियर में खुलेगा दूसरा मेडिकल कॉलेज
ग्वालियर में खुलेगा दूसरा मेडिकल कॉलेजSocial Media

ग्वालियर में खुलेगा दूसरा मेडिकल कॉलेज

जीवाजी विश्वविद्यालय के टंडन हॉल में बुधवार को कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला की अध्यक्षता में मेडिकल कॉलेज के प्रारंभ व संचालन किए जाने हेतु एडवाइजरी समिति की मीटिंग हुई, जिसमें यह निर्णय लिया गया।

हाइलाइट्स :

  • जेयू खोलेगा स्वयं का मेडिकल कॉलेज व हॉस्पिटल

  • एडवाइजरी समिति की बैठक में हुआ निर्णय

  • शुरुआत में 150 सीटें व हॉस्पीटल में होंगे 3 सौ बैड

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। जीवाजी विश्वविद्यालय अपना स्वयं का मेडीकल कॉलेज एवं हॉस्पीटल खोलेगा। जीवाजी विश्वविद्यालय के टंडन हॉल में बुधवार को कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला की अध्यक्षता में मेडिकल कॉलेज के प्रारंभ व संचालन किए जाने हेतु एडवाइजरी समिति की मीटिंग हुई, जिसमें यह निर्णय लिया गया।

मीटिंग में इसे लेकर सहमति बनी कि जेयू के पास स्वयं की बीस एकड़ भूमि है, जिस पर जेयू द्वारा मेडिकल कॉलेज खोला जाए। शुरूआत में 150 सीटों के लिए ओपन होने वाले इस कॉलेज के साथ तीन सौ से अधिक बैड वाला अस्पताल भी खोले जाने पर विचार हुआ। इसके लिए एनओसी प्राप्त यहां बता दें कि बीएचयू व एएमयू जैसे विश्वविद्यालयों द्वारा भी स्वयं के हॉस्पिटल संचालित किए जा रहे हैं। इसे देखते हुए भी जेयू में उचित इंफ्रास्ट्रक्चर युक्त हॉस्पिटल खोलने की आवश्यकता है। वर्तमान में प्रदेश में 17 हजार की जनसंख्या पर एक डॉक्टर है। डॉक्टर्स की कमी को पूरी करने के लिए भी हॉस्पिटल ओपन करने की आवश्यकता है।

जेयू को मल्टीफंक्शनल करने की कवायद :

नई शिक्षा नीति के अनुसार विश्वविद्यालय को मल्टीफंक्शनल होना जरूरी है, इसलिए विवि को स्वयं का हॉस्पिटल खोले जाने की जरूरत है। इसके लिए विज्ञापन जारी करके 11 माह के लिए फैकल्टी की संविदा नियुक्ति की जा सकती है। इस बात पर भी फोकस हो कि टीचिंग उपकरण व हॉस्पिटल के उपकरण अलग- अलग हो। ग्वालियर संभाग में वर्तमान में कोई भी प्राइवेट मेडीकल कॉलेज संचालित नहीं है, जबकि अन्य संभागों में यह व्यवस्था उपलब्ध है, अत: मेडिकल कॉलेज खोला जाना चाहिए। जेयू की चिकित्सा संबद्धतता जबलपुर विवि में स्थानांतरित हो गई, जिसे फिर से शुरू किया जाए। बैठक में कुलाधिसचिव प्रो. उमेश होलानी, कुलसचिव प्रो. आनंद मिश्रा, डीसीडीसी डॉ. केशव सिंह गुर्जर, डीआर डॉ. आईके मंसूरी सहित प्रो. जीबीकेएस प्रसाद, प्रो. डीडी अग्रवाल, प्रो. नलिनी श्रीवास्तव, प्रो. एके श्रीवास्तव, डॉ. ज्योति बिंदल, डॉ. संजीव कुमार सिंह, डॉ. सुखदेव माखीजा मौजूद रहे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co