Gwalior : तानसेन समारोह आज से, नहीं मिलेगा तानसेन सम्मान
तानसेन समारोह आज से, नहीं मिलेगा तानसेन सम्मानSocial Media

Gwalior : तानसेन समारोह आज से, नहीं मिलेगा तानसेन सम्मान

मुख्यमंत्री शिवराज करेंगे शुभारंभ, केन्द्रीय मंत्री तोमर व सिंधिया एवं संस्कृति मंत्री ऊषा ठाकुर सहित प्रदेश के अन्य मंत्री होंगे शामिल, मूर्धन्य कलाकार होंगे कालिदास अलंकरण से विभूषित।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। सुरसम्राट तानसेन की स्मृति में आयोजित किए जा रहे तानसेन समारोह में रविवार से उनकी समाधि पर सुरलहरियां गूंजना शुरू हो जाएंगी, लेकिन वक्त पर ज्यूरी द्वारा तानसेन सम्मान के लिए कलाकार का नाम तय नहीं किए जाने से फिलहाल इस बार का तानसेन सम्मान इस मौके पर नहीं दिया जाएगा, हालांकि इस मौके पर चयनित कलाकारों को कालिदास सम्मान प्रदान किया जाएगा। तानसेन समारोह के शुभारंभ सुविख्यात सितारवादक पं. कार्तिक कुमार मुम्बई और देश के जाने-माने घटम वादक पं. विक्कू विनायकम को राष्ट्रीय कालिदास सम्मान से अलंकृत किया जाएगा। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, ज्योतिरादित्य सिंधिया संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर सहित प्रदेश के अन्य मंत्री इस मौके पर मौजूद रहेंगे।

तानसेन समारोह की पारंपरिक शुरूआत 26 दिसम्बर को सुबह 9 बजे तानसेन समाधि पर शहनाई वादन, हरिकथा, मिलाद वाचन व चादरपोशी के साथ होगी। समारोह का औपचारिक भव्य शुभारंभ शाम 6 बजे होगा। शुभारंभ समारोह में जिले के प्रभारी एवं जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री भारत सिंह कुशवाह, सांसद विवेक नारायण शेजवलकर, विधायकगण लाखन सिंह यादव, प्रवीण पाठक, सतीश सिकरवार व सुरेश राजे विशिष्टि अतिथि के रूप में आमंत्रित किए गए हैं।

कुल 9 संगीत सभाएं सजेंगी :

इस बार के तानसेन समारोह में कुल 9 संगीत सभायें होंगी। पहली 7 संगीत सभायें सुर सम्राट तानसेन की समाधि एवं मोहम्मद गौस के मकबरा परिसर में सिद्धेश्वर मंदिर ओंकारेश्वर की थीम पर बने भव्य एवं आकर्षक मंच पर सजेंगी। समारोह की आठवीं एवं सुबह की सभा सुर सम्राट तानसेन की जन्मस्थली बेहट में झिलमिल नदी के किनारे सजेगी। समारोह की नौवीं एवं आखिरी संक्षिप्त संगीत सभा का आयोजन 30 दिसम्बर की शाम किला परिसर स्थित गूजरी महल में होगी। सुबह की सभा 10 व शाम की सभा 6 बजे होगी।

इस बार भी संगीत समारोह में भी गत वर्ष की भांति विश्व संगीत को भी शामिल किया गया है। समारोह में अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त विदेशी संगीत साधक प्रस्तुतियाँ देंगे। इनमें ब्राजील, अर्जेंटीना, फ्रांस, स्पेन, रशिया व इजराहल आदि देशों के स्थापित कलाकार शामिल हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co