योजनाओं का लोकार्पण करते हुए
योजनाओं का लोकार्पण करते हुएShahid - RE

Gwalior : आधी नहीं पूरी बनेगी एलीवेटेड रोड, लॉजिस्टिक पार्क भी बनेगा

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : नितिन गड़करी ने ग्वालियर सहित मुरैना एवं प्रदेश में विकास कार्यों की कई सौगातें दी। शिवराज सिंह चौहान ने चंबल का पानी लाने के लिए 926 करोड़ की योजनाएं स्वीकृत करने की घोषणा।
Summary

केन्द्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गड़करी ने लगाई सौगातों की झड़ी। ग्वालियर से इटावा तक का मार्ग 1200 करोड़ की लागत से होगा फॉर लाईन। मुख्यमंत्री ने चंबल से पानी लाने के लिए 926 करोड़ की योजनाओं की घोषणा की। केन्द्रीय मंत्री ने 1199 करोड़ की योजनाओं का किया भूमि पूजन एवं शिलान्यास।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। केन्द्रीय राज्य एवं परिवहन मंत्री नितिन गड़करी ने ग्वालियर सहित मुरैना एवं प्रदेश में विकास कार्यों की कई सौगातें दी। ट्रिपल आईटीएम कॉलेज के सामने आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए केन्द्रीय मंत्री ने 1199 करोड़ के विकास कार्यों का भूमि पूजन एवं उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने घोषणा की 440 करोड़ की लागत से बनाई जा रही एलीवेटेड रोड़ दो चरण में नहीं बल्कि एक ही चरण में पूरी बनेगी। इसके साथ ही उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए लॉजिस्टक पार्क भी बनाया जायगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने चंबल का पानी लाने के लिए 926 करोड़ की योजनाएं स्वीकृत करने की घोषणा।

कार्यक्रम के दौरान केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने बताया कि आगामी दो वर्षों में मप्र में 40 हजार करोड़ के कार्य होंगे। उन्होंने समारोह में घोषणा की कि ग्वालियर शहर में स्वर्ण रेखा पर दोनों चरणों का एलीवेटेड रोड अत्याधुनिक मलेशिया से आई नई तकनीक के साथ बनाया जायेगा। एलीवेटेड रोड के दोनों चरण के टेण्डर एक साथ निकाले जायेंगे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि 6 लेन के आगरा ग्वालियर ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे, यमुना एक्सप्रेस-वे से जुड़ेगा और मात्र तीन घंटे में दिल्ली से ग्वालियर की दूरी तय की जा सकेगी। लगभग 87 किलोमीटर लम्बे इस एक्सप्रेस-वे का निर्माण लगभग 2500 करोड़ रूपए की लागत से होगा। उन्होंने घोषणा की कि आगरा-ग्वालियर एक्सप्रेस-वे के किनारे लॉजिस्टिक पार्क की स्थापना भी की जायेगी। गड़करी ने यह भी घोषणा की कि ग्वालियर-आगरा के पुराने मार्ग का जीर्णोद्धार कर फोरलेन सीमेंट कंक्रीट मार्ग बनाया जायेगा, इसके आदेश जारी कर दिए गए हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ग्वालियर का औद्योगिक वैभव फिर से लौटायेंगे। इक्यूवेशन सेंटर का निर्माण कर ग्वालियर को फिर से औद्योगिक हब बनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि कहा कि सरकार एक साल के भीतर एक लाख भर्ती करने जा रही है। उन्होंने यह भी कहा कि आगरा एक्सप्रेस-वे व चंबल एक्सप्रेस-वे के दोनों ओर औद्योगिक धंधे स्थापित होंगे, जिससे रोजगार के नए अवसर मिलेंगे। कार्यक्रम को केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, ज्योतिरादित्य सिंधिया, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर एवं सांसद विवेक नारायण शेजवलकर ने भी संबोधित किया।

भिण्ड इटावा रोड होगा फॉर लाईन, 1200 करोड़ होंगे खर्च :

कार्यक्रम में विशिष्ठ अतिथि के रूप में शामिल केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने एलीवेटेड रोड के दूसरे चरण को पूरा करने, ग्वालियर से भिण्ड इटावा रोड़ को फॉर लाईन करने एवं मुरैना में प्लाई ओवर ब्रिज की मांग की। इन मांगों को पूरा करते हुए केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने 1200 करोड़ की लागत से ग्वालियर इटावा सड़क को फॉर लाईन करने की घोषणा की। इसी तरह मुरैना से सबलगढ़ तक 300 करोड़ रूपए की लागत से 72 किलोमीटर लम्बा फोरलेन सड़क मार्ग बनाया जायेगा। केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने इन दोनों सड़क मार्गों के निर्माण की मांग रखी थी। केन्द्रीय मंत्री ने मांग को पूरा करते हुए उन्होंने मुरैना शहर में बैरियर चौराहे से रेलवे स्टेशन तक फ्लाईओवर बनाने की घोषणा भी की।

केन्द्रीय मंत्री सिंधिया ने जताया आभार :

केन्द्रीय नागरिक उड्डयन एवं इस्पात मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकारों के साझा प्रयासों से ग्वालियर को ऐसा आधुनिक शहर बनायेंगे, जिससे शहर में अगले 50 सालो तक बुनियादी सुविधाओं की कोई कमी नहीं रहेगी। उन्होंने एलीवेटेड रोड सहित ग्वालियर को अन्य सौगातें देने के लिये केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी के प्रति आभार जताया। साथ ही लॉजिस्टिक पार्क, एलीवेटेड रोड़ के द्वितीय चरण का काम सहित ग्वालियर शहर के अन्य विकास कार्यों की मांग रखी, जिसे केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री ने स्वीकार कर लिया।

अब उद्योग की सौगात दें तो युवाओं के चेहरे खिल जाएं :

प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने सौगातें देने के लिए अतिथियों का आभार व्यक्त किया है। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि जेसी मिल,सिमको और रैन सहित कई फैक्टरी बंद हो गई हैं। आपने इतनी घोषणा कर दी हैं और सौगातें दी है तो एक मांग और पूरी कर दें। ग्वालियर में उद्योग की व्यवस्था कराएं ताकि युवा बेरोजगार न रहें। उनके चेहरे पर भी खुशी आ जाए। ऊर्जा मंत्री की इस मांग को मुख्यमंत्री ने स्वीकार करते हुए लॉजिस्टिक हब के साथ उद्योग हब बनाने के लिए भी कहा।

यह अतिथि रहे उपस्थित :

समारोह में प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव, जिले के प्रभारी एवं जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, राजस्व व परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत, पंचायत एवं ग्रामीण मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह, सांसद ग्वालियर विवेक नारायण शेजवलकर, सांसद भिण्ड श्रीमती संध्या राय, महापौर डॉ. शोभा सतीश सिकरवार, बीज एवं फार्म विकास निगम के अध्यक्ष मुन्नालाल गोयल, नगर निगम सभापति मनोज सिंह तोमर, पूर्व विधायक मदन कुशवाह तथा कमल माखीजानी व कौशल शर्मा, अशोक शर्मा सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण मंचासीन थे।

इन कार्यों का भी हुआ शिलान्यास व लोकार्पण :

केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तथा अन्य अतिथियों द्वारा एलीवेटेड रोड़ व आईएसबीटी के शिलान्यास के अलावा जिन कार्यों का शिलान्यास व लोकार्पण किया गया, उनमें सीआरआईएफ योजना के अंतर्गत चीनौर-करहिया एवं करहिया-भितरवार सड़कमार्ग एवं डबरा-पिछोर रोड़ से कटारे बाबा की समाधि-बडेरा के बीच सड़क निर्माण कार्य का शिलान्यास शामिल है। साथ ही सीआरआईएफ योजना के अंतर्गत ग्वालियर शहर में आगरा लूप से शताब्दीपुरम मार्ग पर एक किलोमीटर लम्बाई में लगभग 21 करोड़ रूपए की लागत से बनाए गए रेलवे ओवरब्रिज और लगभग 6 करोड़ 67 लाख रूपए की लागत से बनकर तैयार हुए 100 सीटर शासकीय दृष्टि एवं श्रवण बाधितार्थ उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भवन का लोकार्पण किया गया। इसके अलावा अतिथियों ने सीआरआईएफ योजना के अंतर्गत ही कोलारस जिला शिवपुरी के अंतर्गत मेघोनाबाड़ा से अमरौद (मुंगावली जिला अशोकनगर) तक सड़क निर्माण कार्य का भी लोकार्पण किया।

कार्यक्रम में यह नई सौगातें मिली :

  • रॉक्सीपुल से महाराज बाड़ा तक बनेगा फ्लाई ओवर।

  • हजीरा से चार शहर का नाका तक बनेगा प्लाई ओवर।

  • 20 हजार करोड़ की लागत से बनेगा अटल एक्सप्रेस वे,कोटा से इटावा तक 415 किलोमीटर रहेगी लम्बाई। अगले तीन माह के भीतर भूमिपूजन किया जायेगा। यह एक्सप्रेस-वे बुन्देलखंड व यमुना एक्सप्रेस-वे तथा दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस-वे से जुड़ेगा।

  • फूलबाग से किले तक 120 करोड़ रूपए की लागत से होगा रोप-वे का निर्माण।

  • जलालपुर में बनेगा रेलवे ओवरब्रिज।इस आरओबी के निर्माण से जलालपुर व बरौआ सहित लगभग दो दर्जन गांवों को सुगम आवागमन की सुविधा मिलेगी। शनिश्चरा मंदिर जाने वाले श्रृद्धालुओं को भी आवागमन में आसानी रहेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co