ठंड बड़ी तो घटने लगी डेंगू मरीजों की संख्या
ठंड बड़ी तो घटने लगी डेंगू मरीजों की संख्याRaj Express

Gwalior : ठंड बड़ी तो घटने लगी डेंगू मरीजों की संख्या, 52 की जांच में 4 निकले संक्रमित

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : सोमवार को जीआर मेडिकल कॉलेज और जिला अस्पताल में मिलाकर 52 डेंगू संदिग्ध मरीजों की जांच की गई। इसमें सिर्फ 4 मरीजों को डेंगू होने की पुष्टि हुई है।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। जिले में ठंड बड़ी तो डेंगू के मरीजों की संख्या अब कम होने लगी है जो राहत की बात है। जिस तरह एक्सपर्ट डॉक्टरों ने कहा था कि 18 नवंबर से मरीजों की संख्या अपने-आप कम होने लगेगी, अब वह होने भी लगा है। सोमवार को जीआर मेडिकल कॉलेज और जिला अस्पताल में मिलाकर 52 डेंगू संदिग्ध मरीजों की जांच की गई। इसमें सिर्फ 4 मरीजों को डेंगू होने की पुष्टि हुई है।

जीआर मेडिकल कॉलेज में सोमवार को 32 संदिग्ध मरीजों की जांच की गई। इसमें ग्वालियर निवासी 12 वर्षीय अंतरा को डेंगू होने की पुष्टि हुई। ठीक इसी प्रकार जिला अस्पताल में 20 डेंगू संदिग्ध मरीजों की जांच की गई। इसमें चार शहर का नाका हजीरा निवासी 34 वर्षीय रामधुन, आदर्श नगर शीतला निवासी 3 वर्षीय वर्ष माहौर और वार्ड 23 निवासी 50 वर्षीय मुन्नी जाटव को डेंगू होने की पुष्टि हुई है। इस सीजन में अब तक डेंगू के 636 मरीज मिल चुके हैं। 295 मरीज अन्य जिलों के हैं। वहीं जिले में चिकिनगुनिया के अब तक 3 मरीज मिले हैं।

सितम्बर से लगातार बढ़ रहे थे डेंगू के मरीज :

सितम्बर से लगातार बढ़ रहे डेंगू ने विभाग के सामने मुश्किलें खड़ी कर दी थीं। अक्टूबर में शायद ही ऐसा कोई दिन रहा हो, जब चार-पांच लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव न आई हो। चिकित्सकों का कहना है कि जैसे-जैसे ठंड बढ़ती जाएगी, रोगियों की संख्या कम होती जाएगी। अब तक प्रभावित हुए लोगों में सर्वाधिक युवा, बच्चे व किशोर शामिल हैं।

डेंगू से बचाव के उपाय :

  • एडीज एजिप्टी मच्छर साफ एवं स्थिर पानी में अपने अंडे देता है

  • घर के अंदर टंकी, बाल्टी में एकत्रित पानी को 3 से 4 दिन में खाली कर, सुखाकर फिर पानी से भरे।

  • घर में पानी में लगाने वाले पौधे जैसे मनीप्लांट, कमल आदि न लगाए।

  • यदि घर में कोई डेंगू से पीड़ित है, तो सुनिश्चित करें कि उन्हें मच्छर न काटे इस हेतु उन्हें कम से कम 10 दिनों तक 24 घंटे मच्छरदानी में रखे।

  • यदि पानी में लार्वा दिखाई दे तो उसे कपड़े से छानकर, लार्वा को हाथ से मसलकर नष्ट कर दे।

  • दिन में सोते समय मच्छरदानी का उपयोग अवश्य करें।

  • पूरी बांह के हल्के रंग के कपड़े पहने,खिड़की और दरवाजे पर मच्छर जाली लगाएं।

इनका कहना है :

डेंगू रोगियों की संख्या घटने लगी है। यह राहत का संकेत है। इसका मुख्य कारण ठंड बढ़ने के साथ-साथ मलेरिया विभाग के द्वारा लगातार सर्वे और फोगिंग का असर है। इससे मच्छरों की संख्या कम होने लगी है, वहीं लोग पूरे शरीर को ढंकने वाले कपड़े पहनने लगे हैं। जैसे-जैसे ठंड बढ़ती जाएगी। डेंगू नियंत्रण में आता जाएगा।

डॉ. मनीष शर्मा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी

घर में साफ पानी जमा न होने दें। एक चम्मच पानी में भी मच्छरों के लार्वा उत्पन्न हो सकते हैं। मच्छरदानी लगाकर सोएं। अब डेंगू के जाने का समय है। थोड़े दिन और सावधानी बरतने की जरूरत है। सभी के प्रयास से इस बीमारी पर नियंत्रण पाया जा सकता है।

डॉ. विनोद दोनेरिया, जिला मलेरिया अधिकारी

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co