ग्वालियर : अभी जनरल टिकट के लिए और करना होगा इंतजार
अभी जनरल टिकट के लिए और करना होगा इंतजारसांकेतिक चित्र

ग्वालियर : अभी जनरल टिकट के लिए और करना होगा इंतजार

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : गरीब लोगों को सस्ती और सुगम यात्रा भी जनरल टिकट के माध्यम से होती थी, लेकिन कोरोनाकाल में जनरल बोगी हटा देने की वजह से लोग जनरल कोच में यात्रा नहीं कर पा रहे हैं।

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। ट्रेन में यदि आकास्मिक यात्रा करनी होती थी तो रिजर्वेशन कन्फर्म नहीं होने की स्थिति में जनरल टिकट ही एक मात्र विकल्प था। गरीब लोगों को सस्ती और सुगम यात्रा भी जनरल टिकट के माध्यम से होती थी, लेकिन कोरोनाकाल में जनरल बोगी हटा देने की वजह से लोग जनरल कोच में यात्रा नहीं कर पा रहे हैं। ग्वालियर स्टेशन का निरीक्षण करने आए डीआरएम संदीप माथुर से जब इस संबध में जानकारी चाही तो उन्होंने साफतौर पर फिलहाल जनरल टिकट शुरू करने की किसी संभावना से इंकार कर दिया।

डीआरएम माथुर ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान कहा कि "विदेशों में कोरोना का प्रकोप फिर से दिखने लगा है, हालांकि हमारे देश में वैक्सीनेशन का काम अभी शुरू हो चुका है, लेकिन इसे पूरा होने में अभी वक्त लगेगा। भारत में भी कोरोना फैलने की संभावना अभी बनी हुई है। जनरल कोच में बहुत भीड़ होती है, ऐसे में वहां सोशल डिस्टेंसिंग और कोविड नियमों का पालन संभव नहीं हैं, ऐसे में सामान्य टिकट शुरु करने को लेकर अभी कोई योजना नहीं है।"

बिरलानगर तक पूरी हुई तीसरी लाइन :

उन्होंने बताया कि संभवत: फरवरी के अंतिम माह में महाप्रबंधक वार्षिक निरीक्षण पर आ सकते हैं, इसलिए उन्होंने धौलपुर से दतिया तक सभी स्टेशनों का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि बिरलानगर, रायरू, बानमौर तक तीसरी लाइन का काम हो गया है। सीआरएस की अनुमति के लिए प्रस्ताव भेज दिया गया है। मुरैना रेलवे स्टेशन के आस-पास के क्षेत्रों को विकसित करने की योजना है। माथुर ने बताया कि झांसी मंडल से अधिकत्तर ट्रेनों का संचालन शुरु कर दिया गया है, साथ ही यात्रियों की संख्या को देखते हुए ट्रेनों की अवधि भी बढ़ाई जा रही है।

शताब्दी की स्पीड से दौड़ रहीं एलएचबी कोच की ट्रेनें :

उन्होंने बताया कि अभी तक ट्रेनें सिर्फ शताब्दी सहित अन्य वीआईपी ट्रेनें नहीं130 किमी की रफ्तार से दौड़ रहीं थीं, लेकिन वर्तमान में सभी एलएचबी कोच वाली ट्रेनें130 किमी की रफ्तार से दौड़ रही हैं। यह ट्रेनें धौलपुर से ललितपुर के बीच 130 किमी की रफ्तार से दौड़ रही हैं, जबकि ललितपुर से बीना तक ट्रेनों की गति 120 रखी गई है।

लोको पायलट के लिए बैंच की जगह सोफे लगेंगे :

सोमवार को डीआरएम संदीप माथुर स्पेशल ट्रेन से ग्वालियर रेलवे स्टेशन आए। निरीक्षण के दौरान उन्होंने सभी प्लेटफार्म का निरीक्षण कर रनिंग रुम व लॉबी का निरीक्षण किया। इस दौरान लॉबी में जब उन्होंने देखा कि लोको पायलट के लिए बेंच रखी गई है, तो उन्होंने अधिकारियों से कहा कि बेंच की जगह आप सोफा लगवाओ, ताकि लोको पायलट को एक अच्छा माहौल मिले। वे जब इंजन में चढ़े, तो टेंशन फ्री रहे। माथुर के आने से पहले ही स्टेशन पर सभी मुख्य द्वारों पर टीटीई के साथ आरपीएफ के जवान तैनात नजर आए, वहीं सफाई के साथ स्टेशन प्रबंधक कक्ष के बाहर रखे गमलों पर कर्मचारी पुताई करते दिखाई दिए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co