ग्वालियर : नकल पर अंकुश लगाने सरकारी कॉलेजों में होंगी नर्सिंग की परीक्षाएं
एमएलबी कॉलेज में भी बनाया जाएगा नर्सिंग का परीक्षा केन्द्र। Manish Sharma

ग्वालियर : नकल पर अंकुश लगाने सरकारी कॉलेजों में होंगी नर्सिंग की परीक्षाएं

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : सत्र जून 2020 की जीएनएम-एएनएम नर्सिंग कोर्सेज की मुख्य परीक्षाएं 17 फरवरी से शुरू होने जा रही हैं।

हाइलाइट्स :

  • जीएनएम-एएनएम की परीक्षाएं 17 फरवरी से शुरू होंगी

  • कोरोनाकाल में समय पर नहीं हो सकी थीं परीक्षाएं

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। कोराना महामारी की वजह से लेट हुयीं सत्र जून 2020 की जीएनएम-एएनएम नर्सिंग कोर्सेज की मुख्य परीक्षाएं 17 फरवरी से शुरू होने जा रही हैं। वैसे यह परीक्षाएं अक्टूबर माह में होना थीं, कोविड-19 का संक्रमण फैला था, इसलिए तय समय पर नहीं कराई गईं। खास बात यह है कि इसी माह हो रहीं इन परीक्षाओं में नकल पर अंकुश लगाने के लिए मप्र नर्सेस रजिस्ट्रेशन काउंसिल ने सरकारी कॉलेजों में ही सेंटर रखे हैं।

इससे नर्सिंग के नकल माफिया को फिर से झटका लगा है। वहीं नकल के भरोसे परीक्षा देने वाले नर्सिंग के छात्र-छात्राओं की भी टेंशन बढ़ गई है। ऐसे छात्र सालभर कॉलेजों में पढ़ने नहीं आते। सरकारी कॉलेजों में परीक्षाएं कराए जाने से ऐसे छात्र-छात्राओं को नेया डूबने की चिंता सता रही है। जानकारी के मुताबिक जीएनएम और एएनएम की परीक्षाओं में नकल ठेका लेने वाले लोग कई दिनों से निजी कॉलेजों में सेंटर रखवाने के प्रयास में जुटे थे। मप्र नर्सेस रजिस्ट्रेशन काउंसिल की रजिस्ट्रार श्रीमती चन्द्रकला दिवगैया के सख्त रवैए के चलते उनकी पसंदीदा सेंटर्स की मंशा पर पानी फिर गया। इन परीक्षाओं में नकल पर पूरी तरह से पाबंदी लगाने के लिए ही ग्वालियर में सरकारी कॉलेजों को सेंटर्स बनाया है। मेडीकल कॉलेज सहित एमएलबी कॉलेज, साइंस कॉलेज और केआरजी कॉलेज में यह परीक्षाएं कराई जाएंगी। परीक्षा में करीब पांच हजार परीक्षार्थी शामिल होंगे। क्योंकि पूर्व में यह परीक्षाएं ठेके पर नकल के लिए बदनाम रही हैं, इसलिए नर्सेस काउंसिल के अधिकारियों का पूरा फोकस नकल रोकने पर है, इसलिए उड़नदस्ता भी हर सेंटर पर छापामारी करेंगे।

छात्रहित में भराए फार्म

17 से शुरू हो रही नर्सिंग परीक्षा के कई छात्र फार्म नहीं भर पाए थे। ऐसे छात्र परीक्षा से वंचित नहीं रहें, इसके लिए नर्सिंग छात्र संगठन के प्रदेश महासचिव भूपेन्द्र गुर्जर आगे आए। उन्होंने नर्सिग काउंसलि से लेकर चिकित्सा शिक्षा विभाग के अफसरों को छात्रों की समस्या बताई और लेट फीस के साथ शनिवार को परीक्षा फार्म भरने की लिंक खुलवाई।

हर सेंटर पर पर्यवेक्षक निरीक्षण करेंगे :

जीएनएम-एएनएम कीपरीक्षाएं कोविड- 19 महामारी की बजह से लेट हुई हैं। परीक्षाओं में नकल पर पूरी तरह से पाबंदी लगाने के लिए सरकारी कॉलेजों में सेंटर रखे हैं। हर सेंटर पर पर्यवेक्षक भी नियमित निरीक्षण करेंगे।

श्रीमती चन्द्रकला दिवगैया रजिस्ट्रार,मप्र नर्सेस रजिस्टेशन काउंसिल मप्र

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co