ग्वालियर : आखिरकार ग्वालियर मेला को मिली हरी झंडी, 15 जनवरी से होगा आयोजन
आखिरकार ग्वालियर मेला को मिली हरी झंडीRaj Express

ग्वालियर : आखिरकार ग्वालियर मेला को मिली हरी झंडी, 15 जनवरी से होगा आयोजन

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : गांधी शिल्प बाजार भी लगेगा, 11 जनवरी की तिथि में हो सकता है बदलाव। 24 दिन में आयोजन की तैयारी करना होगी चुनौती, दुकान आवंटन की प्रक्रिया जल्द होगी शुरू।

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। आखिरकार लंबे इंतजार के बाद ग्वालियर मेला की तिथि की घोषणा हो गई है। 15 जनवरी से ग्वालियर मेला का आयोजन होगा। उद्योग मंत्री वीरेंद्र सकलेचा ने मेला व्यापार मंडल के प्रतिनधि मंडल से मुलाकात के दौरान यह घोषणा की, साथ ही मेला का आयोजन कोविड नियमों के अनुसार करने के निर्देश दिए।

एक ओर जहां ग्वालियर मेला के आयोजन को लेकर परमीशन मिल गई है, वहीं मेला परिसर मेें 10 जनवरी से आयोजित होने वाले शिल्प बाजार को भी हरी झंडी मिल गई है। मेला नहीं लगने की स्थिति में शिल्प बाजार 10 जनवरी से 20 जनवरी तक आयोजित होना था, लेकिन मेला की तिथि घोषित होने के बाद अब गांधी शिल्प बाजार की तिथि परिवर्तन करने पर हस्तशिल्प विकास निगम विचार कर रहा है, क्योंकि ग्वालियर मेला में हर रोज हजारों की संख्या में लोग पहुंचते हैं, ऐसे में मेला अवधि के दौरान शिल्प बाजर आयोजित होता है तो निश्चित तौर पर गांधी शिल्प बाजार के शिल्पियों को इसका लाभ होगा। तिथि परवर्तित नहीं होने की स्थिति में हस्तशिल्प विकास निगम मेला अवधि के दौरान एक अन्य मेला का आयोजन कर सकता है। इस पर भी विचार किया जा रहा है।

मेला में करीब 2 हजार से अधिक दुकानें, छतरियां और चबूतरों के साथ बहुत बड़ा खुला प्रागंण हैं, जहां व्यापाारिक गतिविधियों के साथ मनोरंजन के साधन उपलब्ध रहते हैं, जिनका आनंद उठाने के लिए रोजाना सैकड़ों की तादाद में लोग आते हैं, ऐसे में मेला में सोशल डिस्टेंसिंग बड़ी चुनौती होगी। मास्क और सेनीटाइजर का पालन कराना भी आसान नहीं होगा,ऐसे में मेला प्राधिकरण के लिए इस बार का मेला काफी मशक्कत भरा होगा।

दुकानदार और सैलानी खुश :

मेले की तिथि घोषित होने से एक ओर जहां मेला दुकानदारों में खुशी की लहर दौड़ गई है, वहीं मेले का इंतजार कर रहे सैलानी भी जाहिर तौर पर खुशी जाहिर कर रहे हैं। यहां बता दें कि मंगलवार की सुबह मेला व्यापार संघ के अध्यक्ष महेंद्र भदकारिया, महेश मुद्गल, कैट के प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र जैन के नेतृत्व में मेला दुकानदार संघ के प्रतिनिधि मंडल भोपाल जाकर उद्योग मंत्री वीरेंद्र सकलेचा से मिला। भाजपा के मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने यह मुलाकात कराई। गौरतलब है कि पाराशर भी ग्वालियर से ताल्लुक रखते हैं, जिसके बाद उद्योग मंत्री वीरेंद्र सकलेचा ने और ज्यादा इंतजार न कराते हुए 15 जनवरी से मेला आयोजन की हरी झंडी दे दी।

इनका कहना है :

सभी व्यापारी और सैलानी मेला आयोजन को लेकर चिंतित थे। आखिरकार उद्योगमंत्री ने मेला व्यापारी संघ के प्रतिनिध मंडल के समक्ष मेला आयोजन की तिथि घोषित कर दी, जिससे सब खुश हैं। कोविड नियमों का पालन करते हुए मेला का आयोजन किया जाएगा।

महेंद्र भदकारिया, अध्यक्ष मेला व्यापार संघ

कैट लगातार इस मुुहिम में जुटा था कि हर हाल में ग्वालियर मेला का आयोजन हो। शासन ने आखिरकार ग्वालियर मेला के व्यापारिक और सांस्कृतिक महत्व को समझा और मेला आयोजन की परमीशन दी। इससे सभी खुश हैं।

भूपेंद्र जैन, अध्यक्ष कैट मध्यप्रदेश

गांधी शिल्प बाजार का आयोजन 11 जनवरी से होने जा रहा था,लेकिन खुशी की बात है कि ग्वालियर मेला 15 जनवरी से आयोजित होने जा रहा है,ऐसे में हम शिल्पबाजार की तिथि पर पुनर्विचार करेंगे, क्योंकि मेला का लाभ गांधी शिल्प बाजार को भी मिलता था। तिथि परिवर्तन के लिए दिल्ली प्रस्ताव भेजा जाएगा।

राजीव शर्मा, प्रबंध संचालक, संत रविदास हस्तशिल्प विकास निगम

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co