ग्वालियर : जिनको पिछली बार दुकानें मिली, उनको आसानी से होगा आवंटन
जिनको पिछली बार दुकानें मिली, उनको आसानी से होगा आवंटनसांकेतिक चित्र

ग्वालियर : जिनको पिछली बार दुकानें मिली, उनको आसानी से होगा आवंटन

कोरोना की वजह से मेला डेढ़ महीना लेट हो चुका है, जिसके चलते मेला को तैयार करने का काम काफी तेजी से किया जा रहा है। मेला प्राधिकरण ने आवेदन लेना शुरू किए, 18 तक पूरी होगी आवंटन प्रक्रिया।

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। कोरोना की वजह से मेला डेढ़ महीना लेट हो चुका है, जिसके चलते मेला को तैयार करने का काम काफी तेजी से किया जा रहा है, लेकिन फिर भी 15 फरवरी तक मेला तैयार होने की कोई संभावना नहीं है। फरवरी का महीना तैयारियों में जाएगा और मार्च से ही मेला में रौनक दिखेगी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 15 फरवरी तक मेला तैयार करने के लिए कलेक्टर से पूछा तो उन्होंने तुरंत हामी भर दी, लेकिन सब जानते हैं विशाल ग्वालियर मेला में टैंडर से लेकर आवेदन लेने और दुकानों के आवंटन प्रक्रिया में वक्त लगता है। इस बार काफी तेजी से काम होने के बाद भी फरवरी का महीना तैयारियों में निकल जाएगा, लेकिन फरवरी में खानपान और झूला सेक्टर में सैलानी आनंद उठा सकेंगे।

ऑटोमोबाइल सेक्टर की जगह तय :

मेला में साफ-सफाई का काम तेजी से चल रहा है, हाईमास्ट भी जल गए हैं। वहीं दुकानों हासिल करने के लिए मेला दफ्तर का बाहर जमघट लगना शुरू हो गया है। दुकान आवंटन के लिए दुकानदारों से आवेदन लिए जा रहे हैं। अब तक मेला में 30 से 35 आवेदन आ चुके हैं। मेला प्राधिकरण के मुताबिक पहली प्राथमिकता उन दुकानदारों को होगी जिन्होंने पिछले वर्ष मेला में दुकान लगाकर कारोबार किया था। वहीं ऑटोमोबाइल सेक्टर के लिए जगह आवंटित कर दी गई हैं। अब किस कंपनी का शोरूम कहां लगेगा, इसका निर्णय ऑटोमोबाइल एशोसिएशन करेगी।

मार्च में होंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम :

मेला में वाहनों की छूट 1 मार्च से मिलेगी और सांस्कृतिक कार्यक्रम में एक मार्च से शुरू करने की कोशिश है। इसके लिए इवेंट्स मेनेजरों ने मेला दफ्तर में अपने प्रपोजल देना शुरू कर दिया है। शहर के रंगकर्मी, नर्तकों के साथ बॉलीवुड नाइट के लिए भी आवेदन दिए जा रहे हैं। इस बार मेला में सर्दी कम होने की वजह से सांस्कृतिक कार्यक्रमों में सैलानियों की संख्या अधिक होने की उम्मीद की जा रही है। मेला प्राधिकरण भी सैलानियों की रुचि के अनुसार कार्यक्रम बनाने में जुटा है।

मृगनयनी हैण्डलूम मेला का शुभारंभ कल :

उधर मेला परिसर स्थित गांधी शिल्पबाजार शिल्प बाजार के समापन के बाद दो दिन तो सन्नाटा रहा, लेकिन 13 फरवरी शनिवार से एक बार फिर रौनक दिखाई देगी। हस्त शिल्प एवं हथकरघा विकास निगम के प्रबंधक सुधीर व्यास ने बताया कि 14 फरवरी को शाम 4 बजे राज्यस्तरीय कबीर पुरस्कार प्राप्त अशोक कुमार कोली मृगनयनी हैण्डलूम मेला का शुभारंभ करेंगे। इस मेला में हैंडलूम के साथ हस्तशिल्प एवं मृगनयनी के उत्पाद मौजूद रहेंगे।

इनका कहना है :

हमारी पहली कोशिश है कि 15 फरवरी से मेला के कुछ सेक्टर पूरी तरह तैयार हो जाएं, जिससे सैलानी मेला का आनंद उठा सकें। दुकानों के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। 30-35 आवेदन भी आ चुके हैं। 18 फरवरी तक इसे पूर्ण कर लिया जाएगा। ऑटोमोबाइल सेक्टर के लिए जगह आबंटित कर दी गई है। सांस्कृतिक कार्यक्रम मार्च में होंगे।

निरंजन श्रीवास्तव, सचिव, ग्वालियर मेला प्राधिकरण

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co