हरदा : चौकड़ी चना घोटाला में जांच के नाम पर किया गबन
हरदा : रोहित बघेल। राज एक्सप्रैस, संवाददाता

हरदा : चौकड़ी चना घोटाला में जांच के नाम पर किया गबन

मध्य प्रदेश : जेल से छूटने के बाद रोहित बघेल ने दिया बड़ा बयान, बहुचर्चित चौकड़ी सहकारी समिति चना घोटाले की जांच के नाम पर नोडल एवं जांच अधिकारी पर भारी भ्रष्टाचार एवं गबन करने का आरोप लगाया गया है।
Summary

बहुचर्चित चौकड़ी सहकारी समिति चना घोटाले की जांच के नाम पर नोडल एवं जांच अधिकारी पर भारी भ्रष्टाचार एवं गबन करने का आरोप लगाया गया है, चना घोटाले में समिति के छोटे कर्मचारियों को गुनाहगार करार देकर सलाखों के पीछे भेज दिया गया था, और खुद नोडल अधिकारी ने 1100 क्विंटल चना का गबन कर दिया, जेल से छूटने के बाद सेवा सहकारी समिति में काम करने वाले रोहित बघेला ने गंभीर आरोप लगाये हैं, जिसकी जांच होना बहुत ही अनिवार्य हो गया है, बताया गया है कि नोडल अधिकारी सतीष सिटोके हैं जांच अधिकारी भी उन्हीं को बनाया गया था।

हरदा, मध्य प्रदेश। विगत वर्ष चौकड़ी सेवा सहकारी समिति में हुए करोड़ों रूपये के चना घोटाले का मामला एक बार फिर तूल पकड़ रहा है। छोटे कर्मचारियों द्वारा की गई अनियमित्ताओं की जांच की आड़ में नोडल एवं जॉच अधिकारी सतीष सिटोके ने ही लाखों का भ्रष्टाचार किया है।

यह आरोप सेवा सहकारी समिति चौकड़ी के रोहित बघेल ने लगाये हैं। ''जेल से छूटने के बाद रोहित बघेल ने राज एक्सप्रेस के सामने बड़ा बयान दिया है '' एवं नोडल अधिकारी पर गंभीर आरोप लगाये हैं। रोहित बघेल ने कहा है कि 29200 क्विंटल कुल चना खरीदी हुई थी, जिसमें से सुल्तानपुर, सक्तापुर वेयहर हाउस एवं खिरकिया डब्लूएलसी वेयर हाउस में 28156 क्विंटल चना रखा गया था, शेष चना जो समिति द्वारा खरीदा गया था, वह नोडल एवं जांच अधिकारी सतीष सिटोके ने मिलीभगत करके फर्जी बिल में पैसा डालकर निकाला है।

सोसायटी में जो घोटाला हुआ है, उसमें जांच अधिकारियों ने गलत जांच करके करोड़ों रूपये का गबन कर दिया और सोसायटी प्रबंधक और अन्य छोटे कर्मचारियों को उसमें फंसा दिया। इतना ही नहीं जांच अधिकारी द्वारा कृषि मंत्री को भी सही जानकारी नहीं देते हुए उन्हें गुमराह किया गया और करोड़ों का गबन किया गया।

रोहित बघेल ने चना घोटाले की हुई जांच की पुन: जांच की मांग की है। चना घोटाले के मामले में रोहित बघेल, दिनेश बघेल, केन्द्र प्रभारी मनोज, ठेकेदार सन्नी मालवीय के उपर धारा 420, 406 का मुकदमा दर्ज किया गया था। 27 जून को इन्हें जेल हो गई थी। रोहित बघेल का आरोप है कि जेल जाने के दरमियान जो खरीदा हुआ अनाज केन्द्र पर रखा था, उसमें बंदरबाट की गई है, पद प्रभाव का गलत उपयोग करते हुए नोडल अधिकारी द्वारा लगभग 1100 क्विंटल चने का गोलमाल किया गया है। यदि चना घोटाले में की गई जॉच की निष्पक्ष जांच होती है, तो जांच अधिकारी भी इसकी जद में आ सकते हैं।

इनका कहना है :

मेरे द्वारा चौकड़ी चना खरीदी अनियमित्ता की जांच की गई थी, मैं जांच अधिकारी था, मैं इस संबंध में कुछ नहीं कह सकता, मेरे द्वारा ऐसा नहीं किया गया है, आरोप कुछ भी लगाये जा सकते हैं।

सतीष सिटोके, नोडल एवं जॉच अधिकारी

आरोप गलत और निराधार हैं।

गिरीश बछानियां, प्रभारी प्रबंधक चौकड़ी

हमारे पास जो बिल आये थे, उनका भुगतान किया गया है।

अनिल शर्मा

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co