कोरोना जांच शुल्क में स्वास्थ्य विभाग ने की कटौती, जाने क्या होगी नई दरें
कोरोना जांच शुल्क में स्वास्थ्य विभाग ने की कटौती, जाने क्या होगी नई दरेंसांकेतिक चित्र

कोरोना जांच शुल्क में स्वास्थ्य विभाग ने की कटौती, जाने क्या होगी नई दरें

भोपाल, मध्यप्रदेश : विभाग के आदेश अनुसार शुल्क में सेम्पल कलेक्शन ट्रांसपोर्ट शुल्क, कंज्युमेबल, पीपीई किट एवं अन्य समस्त कर सहित इत्यादि का शुल्क शामिल हैं।

हाइलाइट्स :

  • 700 रूपए में होगी कोरोना की आरटी-पीसीआर जांच

  • 300 रूपए में होगा रैपिड एंटीजन टेस्ट

  • घर पर जांच करवाने पर देना होगा 200 रूपए अतिरिक्त राशि

  • स्वास्थ्य विभाग ने की आरटी-पीसीआर टेस्ट की दरें निर्धारित

भोपाल, मध्यप्रदेश। आरटी-पीसीआर टेस्ट से कोविड -19 टेस्ट का सेम्पल कलेक्शन प्रयोगशाला में करने के दौरान कोरोना मरीजों को जांच शुल्क के रूप में 700 रूपए प्रति मरीज के हिसाब से भुगतान करना होगा। यदि सेम्पल कलेक्शन मरीज के घर जाकर करता है तो अतिरिक्त शुल्क 200 रूपए देना होगा। ये नई दरें स्वास्थ्य विभाग ने तय की है। इस संबंध में आदेश भी जारी कर दिया है। यह आदेश सभी निजी आरटी-पीसीआर, आईसीएमआर एवं एनएबीएल द्वारा निजी प्रयोगशालाओं एवं मान्यता प्राप्त अस्पतालों में कोविड-19 जांच के लिए आरटी-पीसीआर एवं रेपिड एन्टीजन टेस्ट के पुनरीक्षित शुल्क का निर्धारण आपदा प्रबन्धन अधिनियम के संबंध में नए नियम लागू किए गए हैं।

ये सब शुल्क में होगा शामिल :

विभाग के आदेश अनुसार शुल्क में सेम्पल कलेक्शन ट्रांसपोर्ट शुल्क, कंज्युमेबल, पीपीई किट एवं अन्य समस्त कर सहित इत्यादि का शुल्क शामिल हैं। रेपिड एन्टीजन टेस्ट से कोविड-19 जांच यदि अस्पताल, प्रयोगशाला में किया जाता है तो जांच शुल्क 300 रूपए प्रति मरीज लिया जाएगा। यदि सेम्पल कलेक्शन मरीज के घर जाकर किया जाता है तो अतिरिक्त शुल्क 200 रूपए लिया जा सकता है। उक्त शुल्क में सेम्पल कलेक्शन ट्रांसपोर्ट शुल्क, कंज्युमेबल, पीपीई किट एवं अन्य समस्त कर सहित के शुल्क शामिल हैं।

जांच में मरीज के कोविड 19 से संक्रमित पाये जाने पर इसकी सूचना संबंधित मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं संबंधित आईडीएसपी सेल को तत्काल दी जाएगी। निजी जांच प्रयोगशालाओं, अस्पतालों द्वारा आरटीपीसीआर मशीन से उत्पन्न समस्त डाटा, ग्राफ एवं किट्स के बैच नम्बर के रिकार्ड सुरक्षित रखें जाएगें, ताकि आवश्यक होने पर भविष्य में इसका सत्यापन, जांच की जा सकेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co