Swachh Survekshan 2021 : देश का दिल (मप्र) तीसरा सबसे स्वच्छ राज्य
देश का दिल (मप्र) तीसरा सबसे स्वच्छ राज्यRaj Express

Swachh Survekshan 2021 : देश का दिल (मप्र) तीसरा सबसे स्वच्छ राज्य

इंदौर 5वीं बार स्वच्छता में देश का सिरमौर, भोपाल 7वां, ग्वालियर 15वां और जबलपुर 20वें स्थान पर। मुख्यमंत्री ने इंदौर सहित अन्य शहरों को दी बधाई कई केटेगरी में नगरीय निकायों को मिला स्वच्छता पुरस्कार।

भोपाल, मध्यप्रदेश। देश का दिल मध्यप्रदेश तीसरा सबसे स्वच्छ राज्य बन गया है। इसके साथ ही इंदौर को देश में सबसे स्वच्छ शहर का पांचवी बार सम्मान प्राप्त हुआ है। शनिवार को दिल्ली में स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 के परिणमों की घोषणा विज्ञान भवन में की गई। पुरस्कार वितरण कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्वच्छता अमृत महोत्सव में इंदौर को सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज और देश के सर्वश्रेष्ठ स्वच्छ शहर का अवार्ड दिया। मध्यप्रदेश को तीसरे सबसे स्वच्छ राज्य का पुरस्कार प्राप्त हुआ है। पुरस्कार नगरीय विकास एंव आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह , राज्यमंत्री ओपीएस भदौरिया और सांसद शंकरलाल लालवानी, अधिकारियों ने प्राप्त किया। स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में प्रदेश के 10 लाख से अधिक आबादी की श्रेणी में देश के 20 टॉप शहरों में मध्यप्रदेश के चार शहर शामिल हैं। इनमें इन्दौर को प्रथम, भोपाल को सातवां, ग्वालियर को 15वां और जबलपुर को 20वां स्थान मिला। इसी प्रकार 1 से 10 लाख जनसंख्या के शहरों में पश्चिमी जोन में देश के 100 शहरों में मध्यप्रदेश के 25 शहर शामिल किए गए हैं। पचास हजार से एक लाख आबादी की श्रेणी में देश के 100 शहरों में मप्र के 26 शहर, 25 से 50 हजार आबादी की श्रेणी में देश के 100 शहरों में प्रदेश के 26 शहर और 25 हजार से कम आबादी की श्रेणी में देश के 100 शहरों में प्रदेश के 35 शहर शामिल हैं। इस प्रकार चार जनसंख्या श्रेणियों के प्रथम 100 शहरों में मध्यप्रदेश के 116 शहर शामिल हैं।

सर्वश्रेष्ठ होना अच्छी बात है, पर सर्वश्रेष्ठ बने रहना बड़ी बात : राष्ट्रपति

राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने इंदौर की सराहना करते हुए कहा कि सर्वश्रेष्ठ होना अच्छी बात है, लेकिन सर्वश्रेष्ठ स्थान पर बने रहना बड़ी बात है। उन्होंने शहर को अपने इस प्रयास के लिए शुभकामनाएं और बधाई दी। इंदौर शहर को फाइव स्टार शहर का प्रमाणीकरण भी आज ही प्राप्त हुआ है। केन्द्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने सभी विजेताओं को बेहतर प्रदर्शन के लिए बधाई और शुभकामनाएं दीं।

इंदौर 12 करोड़, देवास 8 करोड़ और भोपाल को 3 करोड़ मिलेंगे :

प्रदेश के 6 शहर इंदौर, भोपाल, उज्जैन, देवास, होशंगाबाद और बड़वाहा तथा पचमढ़ी केन्ट उत्कृष्ट अवार्ड श्रेणी के लिए सम्मानित किए गए। इसके अलावा 27 शहरों ने स्टार रेटिंग प्राप्त की। फाइव स्टार 1, 3 स्टार 9 और 1 स्टार 17 शहर घोषित किए गए हैं। सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज में इंदौर के साथ देवास तथा भोपाल ने भी श्रेष्ठ स्थान प्राप्त किया है। सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज में पुरस्कार के रूप में इंदौर को 12 करोड़, देवास को 8 करोड़ और भोपाल को 3 करोड़ की पुरस्कार राशि दी गई हुई।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में प्रदेश को क्या मिला :

  • 10 लाख अधिक आबादी की श्रेणी में देश के 20 टॉप शहरों में मध्यप्रदेश के सभी 4 शहर इन्दौर, भोपाल, ग्वालियर और जबलपुर शामिल।

  • 1 से 10 लाख आबादी की श्रेणी में पश्चिमी क्षेत्र श्रेणी में देश के 100 शहरों में प्रदेश के 25 शहर शामिल।

  • 50 हजार से 1 लाख आबादी की श्रेणी में देश के 100 शहरों में प्रदेश के 26 शहर शामिल।

  • 25 हजार से 50 हजार आबादी की श्रेणी में देश के 100 शहरों में प्रदेश के 26 शहर शामिल।

  • 25 हजार से कम आबादी की श्रेणी में देश के 100 शहरों में मध्यप्रदेश के 35 शहर शामिल। इंदौर को मिला 5 स्टार के साथ सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज और स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में देश के सर्वश्रेष्ठ शहर का सम्मान।

  • प्रदेश के कुल 27 शहरों को मिली स्टार रेंटिंग, 5 स्टार 1, 3 स्टार 9 और 1 स्टार 17 शहर घोषित किए गए।

  • भोपाल ने इस साल स्व-संवहनीय राजधानी का खिताब और सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज में देश में तीसरा स्थान।

  • प्रदेश के 06 शहर हुए विभिन्न श्रेणियों के राष्ट्रीय पुरुस्कारों से सम्मानित।

  • मप्र को तीसरे सबसे स्वच्छ राज्य का पुरस्कार।

  • उज्जैन शहर को 1 से 10 लाख आबादी के शहरों में नागरिक प्रतिक्रिया में सर्वश्रेष्ठ शहर का सम्मान।

  • छोटे शहरों की श्रेणी में खरगोन जिले के बड़वाहा को जोनल रैंकिंग में सबसे तेजी से बढ़ते शहर का सम्मान।

  • प्रदेश के 295 शहर ओडीएफ डबल प्लस और 78 शहर ओडीएफ प्लस प्रमाणित किए गए हैं। इसके अलावा इंदौर वॉटर प्लस प्रमाणित हुआ है।

  • होशंगाबाद शहर को 1 से 3 लाख जनसंख्या के शहरों में तेजी से बढ़ते हुए शहर का सम्मान ।

  • लेटिनम-दिव्य श्रेणी में एक शहर इंदौर, गोल्ड-अनुपम श्रेणी में 35 शहर, सिल्वर-उज्जवल श्रेणी में 3 शहर और ब्रांज-उदित श्रेणी में 27 शहर, कॉपर-आरोही श्रेणी में 4 शहर सहित कुल 70 शहरों को स्थान मिला है।

प्रदेश के 10 शहर को स्टार रेटिंग :

प्रदेश के शहरों ने स्टार रेटिंग के लिए अपने दावे प्रस्तुत किए थे। इसमें से 324 शहरों को डेस्कटॉप असेसमेंट में सफलता प्राप्त हुई थी। हाल में जारी प्रथम फेस के परिणामों में प्रदेश के 10 शहर इंदौर, भोपाल, उज्जैन, देवास, होशंगाबाद, ग्वालियर, सिंगरोली, मूंदी, बुरहानपुर, राजगढ़ और धार को स्टार रेटिंग प्रमाणीकरण सम्मानित किया है। स्टार रेटिंग के दावों के परीक्षण में करीब 28 बिंदुओं पर शहरों के प्रत्येक वार्ड को परखा जाता है। अगर शहर का एक भी वार्ड उक्त मानदंडों पर विफल होता है, तो शहर का स्टार रेटिंग का दावा निरस्त कर दिया जाता है।

स्वच्छ सर्वेक्षण - 2021 :

सर्वेक्षण कुल 6000 अंकों का था, जिसमें सेवा स्तर प्रगति के कुल 2400 अंक थे। ओडीएफ स्टार रेटिंग के प्रमाणीकरण के 1800 अंक मिलाकर प्रदेश को अपना प्रदर्शन बेहतर करना था। नागरिकों की इस सर्वेक्षण में भूमिका बढ़ी थी, जिसका कुल अंक प्रभाव 1800 का था। इसके अलावा सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज में प्रदेश के 16 नगर निगम शामिल थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co