शहडोल : हाथियों का झुंड फिर पहुंचा गोदावल
हाथियों का झुंड फिर पहुंचा गोदावलAfsar Khan

शहडोल : हाथियों का झुंड फिर पहुंचा गोदावल

शहडोल, मध्य प्रदेश : हाथियों का झुंड धान, मक्का, अरहर की फसलों को पहुंचा रहा नुकसान। अभी तक कोई जनहानि नहीं हुई हैं।

शहडोल, मध्य प्रदेश। जंगली हाथियों का झुंड ब्योहारी तहसील के वनपरिक्षेत्र गोदावल के बीट उफरी के वनकक्ष आरएफ 217 में गुरूवार को देखा गया। जंगली हाथियों का झुंड रात्रि के समय आस-पास के गांव घोरसा, बेंडरा, मडउडोल, कोठिया आदि के ग्रामीण किसानों के खेत मेंं लगी धान, मक्का, अरहर की फसलों को भारी क्षति पहुंचाई जा रही है। हाथियों का झुंड गोदावल रेंज के उफरी बीट के जंगल में बना हुआ है। विभागीय अमले के द्वारा हाथियों की संख्या लगभग 2 दर्जन से ऊपर बताई जा रही है।

मुनादी के जरिए समझाईश :

गोदावल रेंज के डिप्टी रेंजर दिनेश शर्मा वन कर्मचारियों के साथ हाथियों के झूंड की हरकतों पर नजर बनाये हुए है, विभाग के द्वारा आस-पास के ग्रामीण अंचलो में डूग्गी पिटवाकर व मुनादी के जरिये लोगों को समझाइश दी जा रही है कि जंगली हाथियों से दूरी बना कर रखे उन्हें परेशान न करें। जिन ग्रामीणों की फसलों को हाथियों ने नुकसान पहुंचाया है। उसके क्षतिपूर्ति के लिऐ राजस्व विभाग को पत्राचार के द्वारा सूचना दी जा चुकी है। उनके द्वारा जंगली हाथियों के द्वारा किए गए नुकसान का सर्वे कराकर ग्रामीणों की क्षतिपूर्ति की जाएगी।

न किसी प्रकार की जनहानि :

हाथियों का झुंड हर साल जंगल के इसी कोरिडोर से गुजरता है, जो दिन के वक्त जंगल में आराम करता है और रात में ग्रामीण क्षेत्रों में लगी फसलों को नुकसान पहुंचाते हैं। विभागीय अमला जंगली हाथियों के झुंड पर नजर बनाए हुए हैं और लोगों को निरंतर समझाइश दी जा रही हैं कि जंगली हाथियों के नजदीक कोई ना जाए, जिससे किसी जनहानि की अप्रिय स्थित निर्मित हो।

पुलिस का भी लिया जा रहा सहयोग :

लोगों की सुरक्षा के लिए विभागीय अमले के साथ ही पुलिस प्रशासन का भी सहयोग लिया जा रहा है। जंगल क्षेत्र में हाथियों के आने की सूचना के बाद रात दिन जंगली हाथियों के झुंड पर वन परिक्षेत्राधिकारी गोदावल रेंज दिनेश शर्मा अपने सहकर्मी अशोक द्विवेदी, रमजान खान, मनोज सोनवानी आदि के साथ निरंतर नजर बनाए हुए हैं और लोगों को समझाइश भी दे रहे हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co