अभूतपूर्व नजारा : कदम ताल करते हुए शहर की सड़कों पर निकले स्वयंसेवक
कदम ताल करते हुए शहर की सड़कों पर निकले स्वयंसेवकPrafulla Tiwari

अभूतपूर्व नजारा : कदम ताल करते हुए शहर की सड़कों पर निकले स्वयंसेवक

हर मोड़ हर चौराहे पर पुष्प वर्षा, जगह-जगह हुआ स्वागत, बच्चों ने महापुरुषों का वेष धारण किया। कोई अब्दुल कलाम बना, तो कोई महात्मा गांधी, कोई भगत सिंह के वेष में था, तो कोई नेताजी सुभाषचंद्र बोस बना।

होशंगाबाद, मध्यप्रदेश। शहर में आज एक अभूतपूर्व नजारा उस समय दिखाई दिया स्वयं सेवक सड़कों पर कदमताल करते हुए निकले। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के इस पथ संचलन में बच्चों ने महापुरुषों का वेष धारण किया था, कोई अब्दुल कलाम बना, तो कोई महात्मा गांधी, कोई भगत सिंह के वेष में था, तो कोई नेताजी सुभाषचंद्र बोस बना।

रविवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का हिंदू शक्ति संगम पथ संचलन निकाला गया। गुप्ता ग्राउंड से सैकड़ों की संख्या में आरएसएस के स्वयंसेवक शहर में निकले। चौक चौराहों पर महिलाएं अपने हाथों में पुष्प से भरे थाल लिए स्वयंसेवकों का स्वागत करने के लिए खड़ी रही। उनके निकलते ही उन पर पुष्प वर्षा की गई। स्वयंसेवक अपने गणवेश में कदम से कदम मिलाकर चल रहे थे। पथ संचलन में आकर्षक झांकियां भी लोगों का मन मोह रही थी। सतरास्ते पर सरस्वती शिशु मंदिर के विद्यार्थियों द्वारा ए से जेड तक के महापुरुषों का वेष रखकर अपने वाली पीढ़ी को याद दिलाया। पथ संचलन गुप्ता ग्राउंड से प्रारंभ होकर सतरास्ता, अमर चौक, हलवाई चौक, मेन बोर्ड चौराहा, सराफा चौक, मोरछली चौक, एकता चौक, गांधी पार्क, एसएनजी स्कूल, नेहरू पार्क, टेलीफोन एक्सचेंज चौराहा, विवेकानंद घाट, मीनाक्षी चौक होते हुए एनएमवी कॉलेज के सामने से वापस गुप्ता ग्राउंड पहुंचा। मौका था राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नर्मदापुर में आयोजित हुए हिन्दू शक्ति संगम पथ संचलन का। जिसमे 2000 से अधिक स्वयंसेवकों ने भाग लिया। शिशु मंदिर के विद्यार्थियों ने ए से जेड तक सभी महापुरुषों के रूप धारण किये। पथ संचलन के दौरान स्वयं सेवक पूरी तरह अनुशासित और एक दूसरे से कदमताल करते हुए सड़कों पर निकले। अनुशासन का आलम यह था कि एक भी स्थान पर ना तो कहीं आवाजाही बाधित हुई और ना ही कहीं ट्रैफिक जाम की स्थिति निर्मित हुई। स्वयं सेवकों ने पथ संचलन के माध्यम से आमजन को राष्ट्रप्रेम के साथ-साथ स्वयं शासन का भी एक संदेश दिया है, जो महामारी के इस दौर में सर्वाधिक प्रासंगिक है। स्वयं शासन का एक अर्थ समानता यही है कि आप खुद पर नियंत्रण रखें। कोरोना महामारी के दौरान लोगों को मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए प्रशासन को काफी जद्दोजहद करनी पड़ रही है। स्वयं शासन से सीख और सबक लेकर हर व्यक्ति खुद ही मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें तो महामारी को रोकने में काफी मददगार साबित हो सकता है।

गुप्ता ग्राउंड में बैठे आरएसएस के स्वयंसेवक
गुप्ता ग्राउंड में बैठे आरएसएस के स्वयंसेवकPrafulla Tiwari

पुलिस का रहा पहरा, हर चौराहे पर चकाचौंध व्यवस्था :

आरएसएस के पथसंचलन को लेकर पुलिस प्रशासन द्वारा चकाचौंध व्यवस्था की गई हैं। एसडीओपी मंजू चौहान एवं कोतवाली टीआई संतोष सिंह चौहान, तहसीलदार एवं नपा प्रभारी सीएमओ शैलेन्द्र बड़ोनिया सहित अनेक अधिकारी के अलावा पुलिस कर्मी संघ के पथसंचलन सुरक्षा व्यवस्था में पूरे समय तैनात रहे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co