ग्वालियर : मैं जनता के बीच रहती हूं इसलिए उनका मिलता है आशीर्वाद

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : इमरती देवी बोली हम तो खेत काटते थे, लेकिन जनता ने हमें विधायक बनाया। जो लोग सोचते हैं कि इमरती देवी को लेकर कुछ भी बोल दो तो उसका जवाब भी मेरी डबरा की जनता देगी।
ग्वालियर : मैं जनता के बीच रहती हूं इसलिए उनका मिलता है आशीर्वाद
मैं जनता के बीच रहती हूं इसलिए उनका मिलता है आशीर्वादSocial Media

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। जनता के बीच रहती हूं इसलिए उनका हमेशा आशीर्वाद मुझे मिलता है और जो लोग सोचते हैं कि इमरती देवी को लेकर कुछ भी बोल दो तो उसका जवाब भी मेरी डबरा की जनता देगी। यह बात डबरा से भाजपा प्रत्याशी एवं प्रदेश सरकार में मंत्री इमरती देवी ने राज एक्सप्रेस से बातचीत करते हुए कही।

इमरती का कहना है कि में जिला पंचायत सदस्य रही और विधायक भी कई बार रही, लेकिन किसी की इतनी हिम्मत नहीं थी कि मैरे सामने मेरे बारे में कुछ कह जाएं, लेकिन अब मैं भाजपा में हूं तो उसके संस्कार सीखकर उसके हिसाब से चल रही हूं इसलिए सुनकर भी शांत हूं। इमरती का इशारा कमलनाथ द्वारा डबरा में एक सभा के दौरान उनको आयटम कहने पर था। एक सवाल के जवाब में इमरती ने बताया कि हर किसी की किस्मत होती है, मैं भी खेत में धान एवं गेहूँ काटती थी, मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि राजनीति में आकर विधायक व मंत्री बन जाऊंगी, लेकिन किस्मत में जो लिखा होता है उसके हिसाब से रास्ता खुल जाता है और यह किस्मत मेरी डबरा की जनता है जिसने मुझ पर एक बार नहीं बल्कि कई बार विश्वास किया तो उनके विश्वास को वह किसी भी कीमत पर मरते दम तक नहीं टूटने दूंगी यह मेरा वचन है। इमरती देवी ने बताया कि वह एससी से आती है तो इसका मतलब यह नहीं कि कोई भी मेरे बारे में कु छ बोल जाएं, लेकिन जो बोलकर गए है उनकी किस्मत भी तो देखा मुख्यमंत्री की कुर्सी से उतर गए कि नहीं। अगर कमलनाथ यह बात मुरैना या भिण्ड में जाकर बोलते तो वहां तलवारे खिंच जाती, लेकिन मै अब शांत होकर सुनने की आदी होती जा रही हूं, क्योंकि मुझे अब अपनी जनता पर पूरी विश्वास है कि जो लोग मेरे बारे में जो कहकर गए है उसका जवाब वहीं देगी।

हम तो पांचों साल सेवा में रहते है :

इमरती देवी ने बताया कि वह चुनाव जीतकर भोपाल बैठने वालों में से नहीं हूं, अगर भोपाल बैठती तो जनता मुझे घर बैठा देती। मैं तो चुनाव जीतने के बाद भी अगले चुनाव तक जनता के बीच ही रहती आई हूं और आगे भी रहती रहूंगी, यह मैं और मेरे क्षेत्र की जनता जानती है। क्षेत्र का विकास हो इसके लिए उन्होंने कमलनाथ सरकार में भी काफी कुछ मांगा था, लेकिन उन्होंने तो साफ मना कर दिया था कि सरकार के खजाना खाली है, अब हम सत्ता में हो और मंत्री हो उसके बाद भी क्षेत्र का विकास नहीं करा सके तो फिर मेरा मंत्री रहना क्या उचित था? इस बात को मैने जनता से कहा है और उनका मुझे आशीर्वाद मिल रहा है, भाजपा मेें आने के बाद डबरा में कई विकास कार्य हुए जिसमें सबसे खास काम जो कराया वह है किसानो के खेत पर सिंचाई के लिए पानी पहुंचाना। अब एससी की महिला हूं, इसलिए कांग्रेसी इस तरह की बाते मेरे बारे में बोल जाते है, लेकिन मै अब इन बातो से विचलित नहीं होती, जनता से भी मैने कहा कि बताओ मैरे बारे में जो बोला वह क्या सही है तो उनका एक ही जवाब मिल रहा है कि इमरती तुम चिंता मत करो, अब मुझे तो अपनी जनता की बात ही सुनना है। इमरती को लेकर कमलनाथ ने जो शब्द कहे थे अब वह चुनावी मुद्दा बन गया है और भाजपा नेता हर मंच पर महिला को अपमानित करने का मुद्दा उठा रहे है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co