Raj Express
www.rajexpress.co
टीकमगढ़ : रेत माफिया द्वारा ट्रैक्टर से सप्लाई की जा रही अवैध रेत
टीकमगढ़ : रेत माफिया द्वारा ट्रैक्टर से सप्लाई की जा रही अवैध रेत|Saurav Khare
मध्य प्रदेश

टीकमगढ़: रेत माफिया द्वारा ट्रैक्टर से सप्लाई की जा रही अवैध रेत

टीकमगढ़, मध्य प्रदेश: रेत माफिया बगैर रॉयल्टी के ओवरलोड ट्रैक्टर में भरकर नदियों से रातों-रात रेत को साफ कर रहें हैं। इसे रोकने के लिए प्रशासन नदियों तक नहीं पहुंच पा रहा है।

Saurav Khare

हाइलाइट्स:

  • बगैर रॉयल्टी के ओवरलोड ट्रैक्टर, बड़े-बड़े वाहन रातोंरात कर रहें, रेत साफ

  • अवैध खनन रोकने के लिए स्थानीय प्रशासन नदियों तक नहीं पहुंच पा रहे

  • खनिज विभाग की तहसील स्तर पर लगी है ड्यूटी

  • सरकारी कर्मचारियों को भी बड़े-बड़े ठेकेदारों से हो रहा बड़ा मुनाफा

राज एक्सप्रेस। टीकमगढ़, खरगापुर बारिश का मौसम खत्म भी नहीं हुआ है कि, रेत माफिया पानी से चलती नदियों से रेत निकाल रहे हैं। बगैर रॉयल्टी के ओवरलोड ट्रैक्टर, बड़े-बड़े वाहन रातोंरात रेत नदियों से साफ कर रहें हैं। अवैध खनन रोकने के लिए स्थानीय प्रशासन नदियों तक पहुंच भी नहीं पा रहा है। दिन में अपने ठिकानों से रेत को बेच रहे हैं, जिससे खनिज विभाग को करोड़ों का घाटा लग रहा है। क्षेत्र भर में चर्चाओं में बनी रहने वाली चित्तर सिंह, बरार घाट, चिरोल घाट, फुटेर घाट, सिद्ध घाट की नदियों से रेत माफियाओं ने खंगाल कर नदियों का अस्तित्व ही मिटा दिया है, लेकिन जिम्मेदार खनिज विभाग के अफसर के कार्यवाही को लेकर उदासीन बने हुए हैं।

टीकमगढ़ : रेत माफिया द्वारा ट्रैक्टर से सप्लाई की जा रही अवैध रेत
टीकमगढ़ : रेत माफिया द्वारा ट्रैक्टर से सप्लाई की जा रही अवैध रेत
Saurav Khare

खनिज विभाग की लगी है ड्यूटी :

खनिज विभाग ने तहसील स्तर पर अधिकारियों की ड्यूटी भी लगा रखी है, लेकिन संबंधित अधिकारी जिला से ही अपनी ड्यूटी पूरी कर रहे हैं। इस वजह से नदियों से खनिज माफिया लगातार रेत का अवैध उत्खनन कर रहे हैं। ट्रैक्टर ट्राली में 5 वर्ग फुट की लकड़ी की पट्टियों को लगाकर कम दामों में बड़ी-बड़ी कंपनियों के ठेकेदारों को रेत बेची जा रही है, जिससे क्षेत्र की नदियों का अस्तित्व ही मिट गया है और बड़ी-बड़ी कंपनियों के ठेकेदारों के साथ रेत माफियाओं को अच्छा मुनाफा हो रहा है।

वहीं सरकारी विभागों के सामने से अवैध उत्खनन वाले ट्रैक्टर रेत से भर कर निकलते रहते हैं, सरकारी कर्मचारियों को बड़े-बड़े ठेकेदारों से बड़ा मुनाफा हो रहा है, जिससे अवैध उत्खनन पर कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। 5 वर्ष के अंतराल में अभी तक अवैध उत्खनन करने वालों पर कोई कार्यवाही नहीं की गई है।

टीकमगढ़ : रेत माफिया द्वारा ट्रैक्टर से सप्लाई की जा रही अवैध रेत
टीकमगढ़ : रेत माफिया द्वारा ट्रैक्टर से सप्लाई की जा रही अवैध रेत
Saurav Khare

कार्यवाही करने पर छह ट्रैक्टर ट्राली ट्रक जेसीबी मशीन जप्त :

तालाब में हो रहे अवैध खनन पर कार्यवाही पर सवाल उठे थे। तालाब में हो रहे अवैध खनन पर खरगापुर तहसीलदार द्वारा पुलिस बल को ले जाकर कार्रवाई की गई थी। जिसमें छह ट्रैक्टर ट्राली ट्रक जेसीबी मशीन जप्त की गई थी। इन वाहनों की जब्ती बनाकर वाहन पुलिस को सुपुर्द भी नहीं किए गए थे। वाहनों की जब्ती की सूची बनाकर सुपुर्द किए गए थे, तहसीलदार की सांठ-गांठ में वाहनों को छोड़ दिया गया था। 10 मई को रेत उत्खनन पर प्रकाशित खबर पर अधिकारियों द्वारा कोई पहल नहीं देखी गई। पुलिस थाना तहसील कार्यालय के सामने से दिन-रात रेत से ओवरलोड ट्रैक्टर दौड़ रहे हैं।

थाना प्रभारी हिमांशु चौबे का कहना :

इस मामले में थाना प्रभारी हिमांशु चौबे का कहना है कि, अवैध उत्खनन रोकने के लिए राजस्व विभाग कर्मचारियों को पुलिस बल के साथ रेत माफियाओं के ठिकानों पर कार्यवाही करना चाहिए मेरे द्वारा रेत उत्खनन पर कार्रवाई की जा रही है।

एसडीएम विकास कुमार आनंद का कहना :

इस मामले पर एसडीएम विकास कुमार आनंद का कहना है कि, आपके द्वारा संज्ञान में आया है रात और दिन में नदियों से रेत खनन किया जा रहा है। तहसील स्तर कर्मचारियों को अवगत कराकर कार्यवाही की जाएगी।