भोपाल में मां दुर्गा पर चढ़ाए गए फूल, नींबू और नारियल से बनेगी जैविक खाद और अगरबत्ती
मां दुर्गा पर चढ़ाए गए फूल, नींबू और नारियल से बनेगी खाद और अगरबत्ती Syed Dabeer Hussain - RE

भोपाल में मां दुर्गा पर चढ़ाए गए फूल, नींबू और नारियल से बनेगी जैविक खाद और अगरबत्ती

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश की राजधानी भोपाल में मां दुर्गा पर चढ़ाए गए फूल, नींबू और नारियल से जैविक खाद और अगरबत्ती बनेगी, इसके लिए रोज 4 गाड़ियां फूल, नींबू-नारियल इकट्‌ठा करेंगी।

भोपाल, मध्यप्रदेश। इस वर्ष नवरात्रि का पूर्व 7 अक्‍टूबर 2021 से शुरू हुआ है, 14 अक्टूबर तक चलने वाले इन दिनों में मां दुर्गा के अलग-अलग स्वरूपों की पूजा की जा रही है। कई पंडालों में प्रतिदिन फूल और सैंड़कों नारियल और फूल चढ़ाए जा रहे हैं। इस बीच खबर मिली है कि मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में मां दुर्गा पर चढ़ाए गए फूल, नींबू और नारियल से जैविक खाद और अगरबत्ती बनेगी।

रोज 4 गाड़ियां इकट्‌ठा करेगी फूल, नींबू-नारियल :

बता दें कि भोपाल में नवरात्रि के अवसर पर कई पंडाल सजाए गए हैं। इन पंडालों में प्रतिदिन 10 टन के करीब फूल और सैंड़कों नारियल और फूल चढ़ाए जा रहे हैं, अब इसी सामग्री से नगर निगम जैविक खाद और अगरबत्ती बनाएगा। इसके लिए रोजाना 4 गाड़ियां फूल, नींबू-नारियल इकट्‌ठा करेगी और एम्स-आदमपुर छावनी स्थित प्लांट पर लेकर जाएगी, जैविक खाद पार्कों में इस्तेमाल की जाएगी।

फूलों से जो खाद बनाई जाएगी उसका पार्कों में होगा उपयोग:

मिली जानकारी के मुताबिक फूलों से जो जैविक खाद बनाई जाएगी, वह नगर निगम के पार्कों के काम आएगी। स्वच्छता में नंबर-1 की दौड़ में शामिल राजधानी भोपाल नगर निगम में कई नए इनोवेशन कर रहा है। फूलों से खाद बनाने का इनोवेशन इनमें से एक है। फूलों से जो जैविक खाद बनाई जाएगी उसका उपयोग इन पार्कों में किया जाएगा।

दरअसल, सितंबर में भी गणेश विसर्जन के दौरान नगर निगम पूजन सामग्री एकत्रित कर उसे जैविक खाद में तब्दील कर रही है। वहीं, अब दुर्गा उत्सव के दौरान भी अब यही प्रोसेस अपनाई जा रही है। दुर्गा पंडालों में चढ़ने वाले फूल, नींबू और नारियल से नगर निगम ने इजैविक खाद और अगरबत्ती बनाने का प्लान बनाया है। इसके लिए 4 गाड़ियों को लगाया गया है जो पंडालों से सामग्री लेकर प्लांट तक जाएगी। वहीं लोगों को भी प्रेरित किया जा रहा है कि वो भी अपने घरों की पूजन सामग्रियों को पंडालों तक लेकर आए, जिससे कि इन पूजन सामग्रियों को गाड़ियों में भर कर यहां से ले जाया जा सके।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co