आज CM ने लगाए पीपल, मौलश्री, गूलर और कचनार के पौधे
आज CM ने लगाए पीपल, मौलश्री, गूलर और कचनार के पौधेSocial Media

अपने प्रतिदिन पौधा लगाने के संकल्प के बीच आज CM ने लगाए पीपल, मौलश्री, गूलर और कचनार के पौधे

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज सीएम शिवराज ने श्यामला हिल्स स्थित स्मार्ट सिटी उद्यान में चार पौधे लगाए है, यहां उन्‍होंने पीपल, मौलश्री, गूलर और कचनार के पौधे रोपे है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। एमपी के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने प्रदेश को हरा भरा बनाने हेतु 'One Plant A Day' के तहत हर दिन एक पौधा लगा रहे हैं, पौधारोपण की परंपरा को आगे बढ़ाते हुए आज सीएम शिवराज ने श्यामला हिल्स स्थित स्मार्ट सिटी उद्यान में चार पौधे लगाए है, यहां उन्‍होंने पीपल, मौलश्री, गूलर और कचनार के पौधे रोपे है।

जाने इन पौधों का महत्व :

  • आज लगाया गया मौलश्री एक औषधीय वृक्ष है, इसका सदियों से आयुर्वेद में उपयोग होता आ रहा है।

  • गूलर के फल अंजीर की तरह होते हैं, यह भी आयुर्वेद की दृष्टि से महत्वपूर्ण है।

  • कचनार सुंदर फूलों वाला वृक्ष है। प्रकृति ने कई पेड़-पौधों को औषधीय गुणों से भरपूर रखा है, इन्हीं में से कचनार भी एक है।

  • पीपल को पर्यावरण शुद्ध करने वाला वृक्ष माना गया है। यह छायादार वृक्ष के रूप में भी जाना जाता है। इसका धार्मिक और आयुर्वेदिक महत्व भी है।

मिली जानकारी के मुताबिक, आज सीएम शिवराज ने अपने प्रतिदिन पौधा लगाने के संकल्प के बीच श्यामला हिल्स स्थित स्मार्ट सिटी उद्यान में पीपल, मौलश्री, गूलर और कचनार के पौधे लगाए। यूनिसेफ की मध्यप्रदेश प्रमुख मार्गरेट ग्वादा ने भी पौधरोपण किया। यूनिसेफ के संचार विशेषज्ञ अनिल गुलाटी पौधरोपण में शामिल हुए। पौधरोपण में "स्वर से ईश्वर तक'' संस्था के प्रतिनिधि दीपक सिंह, आशा के. सिंह, धनंजय सिंह ने भी पौधे लगाए। वही सामाजिक कार्यकर्ता प्रवीण नापित की पुत्री आयुषी और सामाजिक कार्यकर्ता राहुल राजपूत ने भी अपने जन्म-दिवस पर पौधे लगाए।

बता दें, यूनिसेफ, प्रदेश में स्कूल शिक्षा, स्वास्थ्य और जलवायु परिवर्तन के क्षेत्र में राज्य शासन के साथ मिल कर विभिन्न गतिविधियाँ संचालित कर रहा है। स्वर से ईश्वर तक संस्था द्वारा सीमेंट की खाली बोरियों में पेड़ लगाने की शुरुआत की गई है। इससे प्लास्टिक की बोरियों का सही उपयोग होता है। संस्था ने ‘तुम मुझे पौधा दो-हम आपको पेड़ देंगे’ के लक्ष्य के साथ छोटे पौधों को बड़ा करके वापस देने की प्रक्रिया आरंभ की है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co