Indore : इनकम टैक्स विभाग ने गिफ्ट्स पर भी टैक्स लेना शुरु किया
इनकम टैक्स विभाग ने गिफ्ट्स पर भी टैक्स लेना शुुरु कियाSocial Media

Indore : इनकम टैक्स विभाग ने गिफ्ट्स पर भी टैक्स लेना शुरु किया

यदि आपने अभी तक इनकम टैक्स रिटर्न में इन गिफ्ट्स की जानकारी साझा नहीं करने की सोची है तो आपको जल्द ही सचेत हो जाना चाहिए। दरअसल इनकम टैक्स विभाग ने गिफ्ट्स पर भी टैक्स लेना शुरु कर दिया है।

इंदौर, मध्यप्रदेश। दिवाली का त्योहार हाल ही में निकला है, जिसमेंं आपको कई लग्जरी गिफ्ट मिले होंगे। यदि आपने अभी तक इनकम टैक्स रिटर्न में इन गिफ्ट्स की जानकारी साझा नहीं करने की सोची है तो आपको जल्द ही सचेत हो जाना चाहिए। दरअसल इनकम टैक्स विभाग ने गिफ्ट्स पर भी टैक्स लेना शुरु कर दिया है। यदि इसके बावजूद भी आप इनकम टैक्स रिटर्न में गिफ्ट्स की जानकारी नहीं देते हैं और गिफ्ट पर लगने वाला टैक्स जमा नहीं करते हैं तो आपको इनकम टैक्स विभाग की ओर से नोटिस मिल सकता है। इसके बाद आपकी मुश्किल काफी बढ़ जाएगी। एक्सपर्ट के अनुसार रिश्तेदार, परिवार या दोस्तों के जरिए मिलने वाले गिफ्ट इनकम के अदर सोर्स में आते हैं, जिनको आपकी सालाना इनकम में जोड़ा जाता है इसलिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते समय इसकी जानकारी देना जरुरी होता है। वहीं इस पर आपको टैक्स स्लैब के अनुसार ही टैक्स देना होता है।

ब्लड रिलेशन वाले गिफ्ट पर नहीं लगेगा टैक्स :

एक्सपर्ट के अनुसार रिश्तेदारों और दोस्तों से मिलने वाले वैसे गिफ्ट जिनकी कीमत 50 हजार रुपए से कम है ऐसे गिफ्ट पर कोई टैक्स नहीं देना होता है लेकिन 50 हजार रुपए से अधिक कीमत वाले गिफ्ट पर इनकम टैक्स भरना पड़ता है। जैसे ही गिफ्ट की कीमत 50 हजार रुपए से अधिक होती है वैसे ही गिफ्ट के पूरे अमाउंट पर टैक्स लगता है। उदाहरण के लिए यदि गिफ्ट की कीमत 51 हजार रुपए है तो पूरे अमाउंट पर टैक्स देना होगा। ऐसा नहीं होगा कि आपको 50 हजार रुपए से ऊपर सिर्फ एक हजार रुपए पर टैक्स लगे। वहीं इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 56 के तहत ब्लड रिलेशन जैसे पति, पत्नी, भाई, बहन, पति और पत्नी के भाई-बहन यानि साला और साली, माता-पिता के भाई-बहन (चाचा, ताऊ या बुआ) द्वारा दिए जाने वाले किसी भी गिफ्ट पर इनकम टैक्स नहीं देना होता। वहीं दोस्त या ऑफिस की ओर से मिलने वाले गिफ्ट जिनकी कीमत 50 हजार रुपए से अधिक है पर इनकम टैक्स देना होगा।

आसान नहीं होगा कमाई छिपाना :

वहीं अब इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से अपनी कमाई छिपाना आसान नहीं होगा। लंबे इंतजार के बाद इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने एनुअल इंफॉर्मेशन स्टेटमेंट (एआईएस) सुविधा जारी की है। इस स्टेटमेेंट में शेयर, म्युचुअल फंड, बैंक एफडी, बचत खाते पर मिलने वाले ब्याज और पोस्ट ऑफिस आदि से होने वाली आय का पूरा ब्योरा रहेगा। डिपार्टमेंट ने सलाह दी है कि आईटीआर भरने से एआईएस जरुर चेक कर लें। एक्सपर्ट के अनुसार पिछले बजट में एनुअल इंफॉर्मेशन स्टेटमेंट की घोषणा की गई थी जिसे अब लागू किया गया है। अभी आय के अन्य स्त्रोतों की जानकारी न देने से इनकम टैक्स रिटर्न मिसमैच हो जाते हैं, जिसके बाद डिपार्टमेंट नोटिस भेजता है। अब करदाता अपने इनकम टैक्स रिटर्न को फाइल करने से पहले नए एआईएस से सत्यापित कर सकते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co