Raj Express
www.rajexpress.co
डिलीवरी के बाद गलत इलाज से महिला की मौत
डिलीवरी के बाद गलत इलाज से महिला की मौत|Pankaj Yadav
मध्य प्रदेश

छतरपुर: गर्भवती महिला की डिलीवरी के बाद गलत इलाज से महिला की मौत

छतरपुर: जिला अस्पताल में इलाज के दौरान लापरवाही के मामले लगातार सामने आ रहे हैं, बीती रात एक गर्भवती महिला की डिलीवरी के बाद लापरवाही के चलते मौत हो गई।

Pankaj Yadav

हाइलाइट्स :

  • छतरपुर के अस्पताल में इलाज के दौरान लापरवाही का मामला।

  • वकीलों ने जिला अस्पताल के बाहर लगाया जाम।

  • दोषी डॉक्टर के विरूद्ध कार्यवाही करने की मांग।

  • गर्भवती महिला की डिलीवरी के बाद गलत इलाज।

राज एक्‍सप्रेस। छतरपुर के अस्पताल में इलाज में लापरवाही के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। बीती रात एक गर्भवती महिला की डिलीवरी के उपरांत कथित रूप से इलाज में बरती गई, लापरवाही के चलते उसकी मौत हो गई। सुबह जिला अस्पताल के बाहर मृतिका के परिजनों और वकीलों ने जाम लगाकर अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी की एवं दोषी डॉक्टर पर कार्यवाही की मांग की।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक :

बीती रात जिला अदालत के अधिवक्ता नीरज दिहुलिया की पत्नि कल्पना दिहुलिया को डिलेवरी के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। रात 12 बजे अस्पताल में भर्ती कराने के बाद ऑपरेशन से महिला की डिलीवरी कराई गई और महिला ने एक बेटी को जन्म दिया था। महिला के परिजनों ने बताया कि, ड्यूटी डॉक्टर निधि खरे ने ऑपरेशन के बाद महिला के पेट में जो टांके लगाए थे, वह टूट गए, जिसके कारण पेट में खून भर गया था। बीती रात गंभीर अवस्था में महिला ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।

दर्जनों वकील पहुंचेे अस्पताल :

सुबह जैसे ही वकीलों के संगठन जिला अधिवक्ता संघ को यह जानकारी लगी, तो दर्जनों वकील अस्पताल पहुंच गए और डॉक्टर के विरूद्ध कार्यवाही करने की मांग करने लगे। मौके पर सुनवाई न होने के कारण वकीलों ने हाईवे पर जाम लगाने की कोशिश की, जिसके बाद सिटी कोतवाली टीआई सरिता वर्मन मौके पर पहुंची और वकीलों को समझाइश दी। बाद में तीन सदस्यीय डॉक्टरों की टीम ने महिला का पोस्टमार्टम किया एवं पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्यवाही करने का आश्वासन दिया जिसके बाद वकीलों ने जाम खोल दिया।