वैक्सीनेशन केंद्र और काउंटर की संख्या बढ़ाएं : डॉ. चौधरी
वैक्सीनेशन केंद्र और काउंटर की संख्या बढ़ाएं : डॉ. चौधरीSocial Media

वैक्सीनेशन केंद्र और काउंटर की संख्या बढ़ाएं : डॉ. चौधरी

सागर, मध्यप्रदेश। प्रदेश के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा है कि प्रदेश में सौ प्रतिशत वैक्सीनेशन के लिए वैक्सीनेशन केंद्र की संख्या बढ़ाई जाएगी।

सागर, मध्यप्रदेश। प्रदेश के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए नागरिक मास्क लगाएं, आपस में मिलते समय दो गज की दूरी बनाकर रखें, साबुन से लगातार हाथ धोते रहें। सौ प्रतिशत वैक्सीनेशन के लिए वैक्सीनेशन केंद्र की संख्या बढ़ाई जाएगी।

डॉ. चौधरी ने रविवार को सागर जिला चिकित्सालय में फीवर क्लीनिक के निरीक्षण के दौरान कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए कोरोना के संबंध में जारी सरकारी गाइडलाइन का पालन करना जरूरी है। कोरोना के लक्षण होने पर नागरिक अपने नजदीक के फीवर क्लीनिक में जाकर टेस्ट करवाएं। सभी नागरिक जो 45 वर्ष से अधिक आयु के हैं, वो कोरोना वैक्सीन लगवाएं। उन्होंने यहां वैक्सीनेशन सेंटर्स की व्यवस्थाओं का जायजा लिया और वैक्सीनेशन के लिए केंद्र पर पहुंचे व्यक्तियों से चर्चा भी की। उन्होंने कहा कि इस चरण में 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों को जल्द से जल्द वैक्सीन लग सके इसके लिए वैक्सीनेशन केंद्रों और उन पर काउंटरों की संख्या को बढ़ाया जाएगा।

उन्होंने जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी और सिविल सर्जन को निर्देश दिए हैं कि आवश्यकता होने पर फीवर क्लीनिक में टेस्ट काउंटर की संख्या बढ़ाएं ताकि मरीजों को टेस्ट करवाने के लिए अधिक इंतजार नहीं करना पड़े। उन्होंने कहा कि भोपाल के जय प्रकाश जिला चिकित्सालय स्थित फीवर क्लीनिक में एक के स्थान पर दो काउंटर की व्यवस्था की गई है। गर्मी के मौसम में नागरिकों की सुविधा को ध्यान में रख कर व्यवस्था करने के निर्देश विभाग के अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने कहा कि जिले में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए रोको-टोको अभियान के तहत और सख्ती के साथ कार्रवाई करें। उन्होंने कहा है कि शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन कराने के लिए वैक्सीनेशन केंद्र बढ़ायें। किसी भी स्थिति में कोरोना संक्रमण को और बढऩे नहीं देना है, इसके लिए समस्त आवश्यक प्रबंध किए जाएं।

सभी जिला अस्पतालों में स्थापित किए जाएंगे सहज प्रसूति केंद्र :

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने सागर जिला चिकित्सालय के दिव्यांग पुनर्वास केंद्र में स्थापित सहज प्रसूति केंद्र का भी निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि सागर में प्रदेश का प्रथम सहज प्रसूति केंद्र है। ऐसे केंद्र सभी जिला चिकित्सालयों में स्थापित किए जाएंगे। सागर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुरेश बौद्ध एवं महिला चिकित्सक डॉ. ज्योति चौहान ने बताया कि सहज प्रसूति केंद्र में फिजियोथेरेपिस्ट डॉ. अंशुल द्वारा सेवाएं प्रदान की जा रही हैं। इससे गर्भवती महिलाओं को लाभ भी हो रहा है। उन्होंने बताया कि डॉ. अंशुल द्वारा प्रत्येक सप्ताह के सोमवार एवं शनिवार को गर्भवती माताओं को व्यायाम, पोषण, मैडिटेशन रेलेक्शन एवं प्रसव पूर्व तैयारी के विषय में बताया जाता है। इससे गर्भकाल में होने वाली समस्याओं से निजात मिलती है। इस अवसर पर पूर्व मंत्री रामपाल सिंह, हीरा सिंह राजपूत, श्री कमलेश्वर, सुधीर यादव, अनुविभागीय अधिकारी पवन बारिया, सिटी मजिस्ट्रेट सीएल वर्मा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुरेश बौद्ध, सिविल सर्जन डॉ. एमडी गायकवाड़, डॉ. देवेंद्र गोस्वामी, डॉ. एसआर. रोशन सहित जन-प्रतिनिधि एवं अन्य डॉक्टर मौजूद थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co