पेट्रोल की बढ़ती कीमतों और स्वास्थ्य जागरूकता के कारण बढ़ी साइकिल की डिमांड
पेट्रोल की बढ़ती कीमतों और स्वास्थ्य जागरूकता के कारण बढ़ी साइकिल की डिमांडसांकेतिक चित्र

पेट्रोल की बढ़ती कीमतों और स्वास्थ्य जागरूकता के कारण बढ़ी साइकिल की डिमांड

शहर के हर क्षेत्र में लोग सुबह-शाम को साइकिल चलाते हुए दिखाई दे जाएंगे। छोटे-मोटे कामों के लिए लोग साइकिल का उपयोग कर रहे हैं। इसके साथ घरों के छोटे-छोटे बच्चों में भी साइकिल का क्रेज बढ़ा है।

इंदौर मध्यप्रदेश। पिछले डेढ़ साल से चल रहे कोरोना काल के दौरान साइकिल की डिमांड सबसे ज्यादा रही। कोरोना वायरस की वजह से शरीर को फिट रखने और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए साइकिल का इस्तेमाल इन्दौर शहर के लोग बड़ी संख्या में कर रहे हैं और अब पेट्रोल की बढ़ती कीमतों ने लोगों को साइकिल खरीदने पर मजबूर कर दिया है। छोटे-मोटे कामों के लिए लोग साइकिल का उपयोग कर रहे हैं। इसके साथ घरों के छोटे-छोटे बच्चों में भी साइकिल का क्रेज बढ़ा है।

शहर के हर क्षेत्र में लोग सुबह-शाम को साइकिल चलाते हुए दिखाई दे जाएंगे। बीआरटीएस पर तो रात को भी कई युवा साइकिल चलाते हुए दिखाई देते हैं। कई लोग तो अब आस-पास की दुकान से सामान खरीदने के लिए साइकिल से जा रहे हैं। इससे फिटनेस भी सही हो रही और पैसा भी बच रहा है। इसी को लेकर साइकिल की डिमांड तेजी से बढ़ रही है। पेट्रोल की बढ़ती कीमतें भी साइकिल की बिक्री बढ़ा रही है। पेट्रोल की कीमत 105 रुपए से ज्यादा हो गई है, डीजल भी 100 के करीब पहुंच गया है। ऐसे में साइकिल ही लोगों को सही वाहन नजर आ रहा है। जिससे स्वास्थ भी ठीक रहेगा और बचत भी होगी।

पहले के मुकाबले अब ज्यादा हो रही साइकिल की बिक्री :

सालों से साइकिल बिक्री का काम कर रहे कारोबारियों ने बताया कि साइकिल की शहर में दूसरी लहर के बाद जैसे ही लॉकडाउन हटा वैसे ही लोग साइकिल खरीदने पहुंचने लगे है। महारानी रोड स्थित साइकिल दुकान संचालकों ने बताया कि साइकिल की बिक्री में 25 से 30 प्रतिशत की वृद्धि एक साल में देखी गई है। बच्चों के साथ युवाओं में भी सबसे ज्यादा क्रेज देखा जा रहा है। कई बुजुर्ग भी अब व्यायाम के रूप में इसको चलाते है। कई लोग पुरानी साइकिलों को भी ठीक करवाने आ रहे है।

हल्की और गियर वाली साइकिलों की डिमांड :

शहर में इन दिनों साइकिल के शौकिन लोग महंगी हाईब्रिड और गियरवाली साइकिलों की डिमांड कर रहे है। इन साइकिलों से आराम से 20-25 किमी का सफर तय किया जा सकता है। इन साइकिलों की डिमांड ज्यादा लेकिन माल उपलब्ध नहीं होने से वेटिंग चल रही है। साथ ही बच्चों को मोटे टायर वाली साइकिलें लूभा रही है।

5 हजार से लाखों की साइकिलें बिक रही शहर में :

शहर में साइकिल चलाने के शौकीन जिस तरह बढ़े हैं, उसी प्रकार विदेशी साइकिलों की डिमांड भी बढ़ रही है। कई विदेशी कंपनियों की साइकिलें इन्दौर में बिक रही हैं। इनकी कीमत 30 हजार से 5 लाख तक है। हालांकि महंगी साइकिलों को ऑर्डर पर मंगवाया जाता है। सामान्य रूप से 5 से 30 हजार तक की साइकिलें ज्यादा बिक रही है।

स्वास्थ्य के लिए भी साइकिल चलाना फायदेमंद :

ज्यादा सुविधाजनक जीवनशैली और गलत खान-पान के कारण लोगों की इम्युनिटी गिरी है। उनके अनुसार साइकिलिंग हेल्थ के लिए काफी फायदेमंद है। कई मरीजों को साइकिलिंग करने की सलाह भी दी जाती है। कोरोना काल में लोगों की जीवनशैली और सोच में काफी बदलाव आया है। साइकिलिंग करने से लंग्स मजबूत होते हैं। पैरों के लिए यह सबसे अच्छी एक्सरसाइज है। यदि 40 वर्ष के बाद लोग साइकिलिंग करें तो इसका फायदा उन्हें जरूर मिलेगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co