आत्मनिर्भर बनाने का लक्ष्य: डाउन सिंड्रोम से पीड़ित युवक ने सजाए 1300 दीये

इंदौर, मध्यप्रदेश : डाउन सिंड्रोम से पीड़ित एक युवक ने एक प्रशिक्षण केंद्र में सीखी कला को अपनाते हुए दिवाली पर कलात्मक दीये तैयार किए हैं, युवक ने 1300 दीयों पर बिखेरी कला की रोशनी।
आत्मनिर्भर बनाने का लक्ष्य: डाउन सिंड्रोम से पीड़ित युवक ने सजाए 1300 दीये
डाउन सिंड्रोम से पीड़ित युवक ने सजाए 1300 दीयेSocial Media

इंदौर, मध्यप्रदेश। हिंदुओं का सबसे बड़ा महापर्व दिवाली (14 नवंबर) को मनाया जाएगा, दिवाली के दिन जगमगाते दीपों को देखकर ऊर्जा और सकारात्मकता मिलती है। बाजार कई तरह के दीयों से सज गए हैं, रंग-बिरंगे फैंसी दीये लोगों को आकर्षित कर रहे हैं। वही इस बीच डाउन सिंड्रोम से पीड़ित एक युवक ने एक प्रशिक्षण केंद्र में सीखी कला को अपनाते हुए दिवाली पर कलात्मक दीये तैयार किए और 1300 दीयों पर बिखेरी कला की रोशनी।

19 साल के अक्षत ने दिवाली पर डेकोरेट किए 1300 दीये

बता दें कि अगर कुछ करने की ठान लो तो असंभव को भी संभव बनाया जा सकता है। मिली जानकारी के मुताबिक 19 साल के अक्षत डाउन सिंड्रोम से पीड़ित हैं, इस बीमारी में सोचने-समझने की क्षमता सामान्य लोगों से काफी कम होती है बावजूद इस युवक का जुनून देखिए। इसने नासिक जाकर वोकेशनल ट्रेनिंग सेंटर में ट्रेनिंग ली और अब दीपावाली पर1300 दीये डेकोरेट किए। अक्षत के खूबसूरत दीयों देखकर उनके रिश्तेदार इतने प्रभावित हुए कि उनकी काफी डिमांड हो गई है।

मां के अनुसार-

19 साल के अक्षत डाउन सिंड्रोम से पीड़ित अक्षत को आत्मनिर्भर बनाने का प्रयत्न है, इसलिए इस काम से शुरुआत की। उसकी पहली कमाई है और वह बहुत खुश हैं। इससे आत्मविश्वास बढ़ेगा। अक्षत बाजार जाकर दीये का चुनाव, कलर और डेकोरेशन का सामान भी अक्षत खुद ही खरीदता है। एक दिन में 50-60 दीये डेकोरेट कर लेता है, चार दीयों का एक पैकेट बनाया है, जिसकी कीमत 40 रुपए है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co