इंदौर : होलिका दहन की भी अनुमति नहीं देगा प्रशासन
होलिका दहन की भी अनुमति नहीं देगा प्रशासनSocial Media

इंदौर : होलिका दहन की भी अनुमति नहीं देगा प्रशासन

इंदौर, मध्यप्रदेश : प्रदेश में बढ़ते कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए जिले की आपदा प्रबंधन कमेटी द्वारा सार्वजनिक रूप से होली मनाए जाने पर लगाया प्रतिबंध हटाया नहीं जाएगा।

इंदौर, मध्यप्रदेश। प्रदेश में बढते कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए जिले की आपदा प्रबंधन कमेटी द्वारा सार्वजनिक रूप से होली मनाए जाने पर लगाया प्रतिबंध हटाया नहीं जाएगा। प्रशासन द्वारा निर्णय लिए जाने के बाद भाजपा नेता और कांग्रेस विधायकों ने इसका विरोध करते हुए सार्वजनिक रूप से होलिका दहन किए जाने की बात कही थी। वहीं शाम तक भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और पूर्व सासंद कृष्णमुरारी मोघे ने भी होलिका दहन पर रोक के निर्णय पर पुन: विचार करने की बात कही। कलेक्टर मनीष सिंह ने स्पष्ट शब्दों में कहा दिया कि जो प्रतिबंध लगाए गए हैं वह शहर हित में लगाए गए हैं, उन्हें बदला नहीं जाएगा। सार्वजनिक रूप से ना तो होलिका दहन होगा और ना ही शब-ए-बारात के आयोजन। वहीं सोमवार को धुलेंडी पर भी लोगों की आवाजाही पर सख्ती रहेगी।

शुक्रवार का दिन जिला प्रशासन और जन प्रतिनिधियों के बीच बयानों और मुलाकातों का रहा। होलिका दहन पर रोक लगाने के निर्णय पर सबसे पहले भाजपा प्रवक्ता उमेश शर्मा ने मोर्चा खोला और ट्वीट पर अपनी बात कही थी। वही अगली सुबह कांग्रेस के विधायक संजय शुक्ला ने होली मनाने की घोषणा की। दोपहर में हिंदू संगठनों ने भी कलेक्टर को पत्र सौंप कर परंपरा निवार्हन के लिए होलिका दहन की अनुमति देने की मांग की। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने भी प्रशासन को पुन: विचार करने की बात कही। श्री विजयवर्गीय ने ट्वीटर पर लिखा कि इंदौर के जिला प्रशासन ने होली दहन नहीं करने के आदेश दिए हैं। ये बेहद आपत्तिजनक फैसला है। मेरा आग्रह है कि प्रशासन इस फैसले पर पुनर्विचार करे। इससे जनता की धार्मिक भावनाएं आहत होंगी।

कलेक्टर ने की चर्चा :

इस सब के बाद भी इंदौर कलेक्टर कलेक्टर मनीष सिंह का कहना है कि सोशल मीडिया के द्वारा जो नेता-जनप्रतिनिधि आपदा प्रबंधन कमेटी के इस निर्णय का विरोध कर रहे थे उनसे चर्चा हो चुकी है। सभी शहर हित में यह निर्णय मामने को तैयार है। कलेक्टर ने कहा कि इंदौर जिले में कोरोना का संक्रमण काफी तेजी से बढ़ रहा है। वर्तमान में शहर के अस्पतालों में उपलब्ध बेड पर 10 फीसदी मरीज इंदौर के आसपास के जिलों के हैं। वहीं आने वाले 7 से 8 दिनों में संक्रमण की रफ्तार और अधिक तेज होने की आशंका है तब शहर के अस्पतालों में 30 फीसदी मरीज अन्य जिलों के भर्ती रहेंगे। यदि अभी से कड़े कदम नहीं उठाए गए तो आने वाले दिनों में स्थिति नियंत्रण से बाहर हो सकती है। आपदा प्रबंधन कमेटी के निर्णय पर आज से अमल प्रारंभ कर दिया गया है। लगभग सभी धर्मस्थलों को बंद करा दिया गया है। वहीं रात 9 बजे बाजार भी बंद करा दिए जाएंगे।

चर्चा के बाद माने कांंग्रेसी नेता :

होलिका दहन के सार्वजनिक कार्यक्रमों को प्रतिबंधित करने और धुलेंडी के दिन भी आवाजाही पर सख्ती बरतने के आपदा प्रबंधन कमेटी के निर्णय का कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला, विधायक विशाल पटेल, शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलिवाल, भाजपा प्रवक्ता उमेश शर्मा, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय आदि द्वारा विरोध किया गया था। हालांकि कलेक्टर के बायान के बाद अब लगाता है कि इस मामले का पटाक्षेप हो गया है। इसके पूर्व इंदौर जिला कलेक्टर द्वारा होलिका दहन पर रोक लगाने के निर्देश के बाद विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल व हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने ज्ञापन सौंपा। साथ ही कहा कि होलिका दहन तथा होली मनाने छूट दी जाए, हिन्दू समाज अपने प्रमुख त्योहारों की इस प्रकार उपेक्षा सहन नहीं कर सकता।

पूर्व सांसद मोघे ने लिखा सीएम को पत्र :

भाजपा के वरिष्ठ नेता औैर पूर्व सांसद कृष्णमुरारी मोघे ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिख कर होली पर्व पर रीति रिवाज के अनुसार होलिका दहन के लिए रात्रि में समय देने की मांग की है। उन्होनें आयोजन में संख्या निर्धरित करते हुए छूट देने की बात कही। पूर्व सांसद मोघे ने कहा कि होली के पर्व पर रीति रिवाज अनुसार मुहूर्त को देखते हुए रात्रि में होलिका दहन के लिए समय सीमा का निर्धारण करना और साथ ही कोरोना काल की परेशानी को देखते हुए उस आयोजन में संख्या को निर्धारित करते हुए छूट देना उचित होगा। साथ ही होलिका दहन के अगले दिन प्रात काल में महिलाओं द्वारा होलिका पूजन की परंपरा रहती है सो जनभावना के अनुरूप सोमवार सुबह एक नियत समय व संख्या निर्धारित करके पूजन के लिए छूट प्रदान करना चाहिए। उन्होनें मुख्यमंत्री से आग्रह है कि रविवार रात्रि एवं सोमवार सुबह होली का दहन व पूजन लॉकडाउन में छूट प्रदान कर जन भावना के अनुरूप निर्णय लेने का का आग्रह किया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co