मरीज की मौत के बाद परिजनों ने किया अस्पताल में हंगामा
मरीज की मौत के बाद परिजनों ने किया अस्पताल में हंगामाSocial Media

Indore : मरीज की मौत के बाद परिजनों ने किया अस्पताल में हंगामा

इंदौर,मध्यप्रदेश : शनिवार को डॉक्टरों पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए मरीज की मौत के बाद परिजनों ने मेदांता अस्पताल में जमकर हंगामा कर दिया।

इंदौर,मध्यप्रदेश। शनिवार को डॉक्टरों पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए मरीज की मौत के बाद परिजनों ने मेदांता अस्पताल में जमकर हंगामा कर दिया। उन्होंने आरोप लगाया की मरीज एक महीने से अधिक समय से अस्पताल में भर्ती था, लेकिन डॉक्टरों ने शनिवार की सुबह अचानक उसे मृत घोषित कर दिया।

इस मामले में आक्रोशित परिजनों ने जमकर हंगमा करते करते हुए अस्पताल का मुख्य द्वार भी बंद कर दिया था। बाद में गुस्साए परिजनों को शांत कराने के लिए पुलिस को बीच-बचाव करना पड़ा और शव को सौंप दिया।

आक्रोशित परिजनों के अनुसार उनके मरीज दिनेश उपाध्याय (45 वर्ष), रीवा निवासी 2 अगस्त को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसके पहले दिनेश उपाध्याय को महू के गेटवेल अस्पताल और फिर ईएसआईसी अस्पताल जहां से उसे मेदांता अस्पताल रेफर कर दिया गया था।डॉ. संदीप श्रीवास्तव ने मरीज की बायपास सर्जरी की थी, इसके बाद वह ठीक हो रहा था, लेकिन बाद में डॉक्टरों ने एक टेस्ट किया और कहा कि मरीज का लीवर और रीनल (गुर्दे) दोनो फेल्योर हैं। परिजनों का यह भी आरोप था कि मरीज ठीक हो गया था, लेकिन डॉक्टर ने उसका गलत इलाज किया और उसे बेवजह अस्पताल में रखा गया।

इस मामले में कार्डियोथोरेसिक सर्जन डॉक्टर संदीप श्रीवास्तव ने बताया कि मरीज हेपेटोरेनल सिंड्रोम से पीड़ित था, जिससे उसका लीवर और किडनी भी प्रभावित हुई थी।

महावीर अस्पताल में हंगामा : द्वारकापुरी इलाके के महावीर अस्पताल में शनिवार शाम 33 वर्षीय व्यक्ति की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा किया। परिजनों का आरोप है कि सागर पैलेस कॉलोनी निवासी मरीज मनोज को पथरी निकालने की सर्जरी के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन वह ऑपरेशन थियेटर से जिंदा बाहर नहीं आ सका। इस मामले में परिजनों ने पुलिस में किसी प्रकार का शिकायत नहीं की है।

अस्पताल अधीक्षक डॉ. संजय गीद ने कहा कि इलाज में किसी तरह की लापरवाही नहीं बरती गई और परिवार को इलाज की व्यवस्था के बारे में भी नियमित रूप से बताया जा रहा था। मरीज की मृत्यु के बाद परिवार की भावनाएं थीं। हमने उन्हें शांत किया जिसके बाद परिजन शव लेकर अस्पताल से चले गए। इस मामले में पुलिस में कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई गई।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co