इंदौर : चुनाव के दौरान शिकायतों के त्वरित निराकरण के लिए इंतजाम

जिला स्तरीय सी-विजिल कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। सी-विजिल मोबाइल ऐप है। यह ऐप कोई भी डाउनलोड कर इसके माध्यम से फोटो, वीडियो, ऑडियो आदि के माध्यम से रियल टाइम शिकायतें दर्ज कर सकते हैं।
इंदौर : चुनाव के दौरान शिकायतों के त्वरित निराकरण के लिए इंतजाम
चुनाव के दौरान शिकायतों के त्वरित निराकरण के लिए इंतजामSocial Media

इंदौर, मध्य प्रदेश। मध्यप्रदेश के इंदौर में जिला प्रशासन ने मतदाताओं तथा अन्य नागरिकों आदि द्वारा विधानसभा उप चुनाव के दौरान की जाने वाली शिकायतों के त्वरित और प्रभावी निराकरण के लिये पुख्ता इंतजाम किये गये हैं।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार कलेक्टर मनीष सिंह द्वारा जिला स्तरीय सी-विजिल कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। सी-विजिल मोबाइल ऐप है। यह ऐप कोई भी डाउनलोड कर इसके माध्यम से फोटो, वीडियो, ऑडियो आदि के माध्यम से रियल टाइम शिकायतें दर्ज कर सकते हैं। प्राप्त शिकायतों का 15 से 20 मिनट के भीतर निराकरण किया जायेगा। इस ऐप के माध्यम जैसे ही शिकायतें मिलेंगी तुरंत मौके पर टीम भेजकर उसका निराकरण किया जायेगा और आवश्यक कार्यवाही की जायेगी।

कलेक्टर ने शिकायतों के संबंध में तुरंत कार्यवाही और वीडियोग्राफी के लिये पृथक से टीमों का गठन किया है। इस सी-विजिल ऐप के माध्यम जैसे ही उपभोक्ता आर्दश आचरण संहिता के उल्लंघन की शिकायत दर्ज करायेंगे, उसकी जानकारी जिला स्तरीय कंट्रोल रूम को जीपीएस लोकेशन सहित मिलेगी। कंट्रोल रूम द्वारा संबंधित क्षेत्र के नजदीक तैनात टीम को तुरंत सूचना दी जायेगी और मौके पर 15 से 20 के अंदर भेजकर आवश्यक कार्यवाही और निराकरण सुनिश्चित किया जायेगा। यह टीम मौके से ही अपना प्रतिवेदन प्रस्तुत करेगी।

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा शुरू किए गए नए सी-विजिल (नागरिक सतर्कता) ऐप से फॉस्टन-ट्रेक शिकायत प्राप्ति एवं निवारण प्रणाली का सृजन हुआ है। सी-विजिल, (नागरिक सतर्कता) नागरिकों के लिए निर्वाचनों के दौरान आदर्श आचार संहिता और व्यय के उल्लंसघन की रिपोर्ट करने हेतु एक कारगर मोबाइल ऐप है। 'सी-विजिल' का अभिप्राय नागरिक सतर्कता से है और इसमें नागरिकों द्वारा निर्वाचनों के स्वतंत्र एवं निष्पाक्ष संचालन के लिए परस्पर सक्रिय और जिम्मेादार भूमिका निभाने पर बल दिया गया है।

इस ऐप की एक विशेषता यह है कि यह उड़नदस्तों को समयबद्ध तरीके से कार्य करने के लिए डिजिटल साक्ष्यश सुनिश्चित करने हेतु ऐप के भीतर से ऑटो लोकेशन कैप्चकर के साथ जीवंत फोटो/वीडियो लेने देता है। इस ऐप का प्रयोग करते हुए नागरिक राजनीतिक कदाचार की घटनाओं के घटने के कुछ ही मिनटों में उनकी तत्काइल रिपोर्ट कर सकते हैं, जिसके लिए रिटर्निंग अधिकारी के कार्यालय में तत्कापल जाने की जरूरत नहीं होती।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co