Indore : छावनी कृषि उपज मंडी को सौ एकड़ भूमि पर स्थानांतरित किया जाएगा
छावनी कृषि उपज मंडी को सौ एकड़ भूमि पर स्थानांतरित किया जाएगाRaj Express

Indore : छावनी कृषि उपज मंडी को सौ एकड़ भूमि पर स्थानांतरित किया जाएगा

कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि कैलोद गाँव के निकट भूमि पर शिफ्ट की जा रही कृषि उपज मंडी एशिया की सबसे स्मार्ट मंडी बनायी जायेगी। यह मंडी कृषकों एवं व्यापारियों की आवश्यकता अनुसार सर्वसुविधायुक्त रहेगी।

इंदौर, मध्यप्रदेश। इंदौर में किसानों और कृषि उपज से जुड़े व्यापार को एक नई ऊँचाई देने के लिए प्रशासन और जनप्रतिनिधि दृढ़ संकल्पित होकर कार्य कर रहे हैं। इसी तारतम्य में छावनी कृषि उपज मंडी को कैलोद गाँव के निकट लगभग सौ एकड़ भूमि में स्थानांतरित करने के एक्शन प्लान के संबंध में गुरुवार को रेसीडेंसी कोठी में सांसद शंकर लालवानी, विधायक आकाश विजयवर्गीय, कलेक्टर मनीष सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने चर्चा की। तद्पश्चात सांसद श्री लालवानी, विधायक श्री विजयवर्गीय, कलेक्टर श्री सिंह एवं अन्य जनप्रतिनिधि तथा अधिकारीगण कैलोद गाँव में प्रस्तावित ज़मीन का मौक़ा मुआयना करने पहुंचे।

कृषि संबंधित व्यापार को मिलेंगी नई ऊंचाइयां :

कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि कैलोद गाँव के निकट भूमि पर शिफ्ट की जा रही कृषि उपज मंडी एशिया की सबसे स्मार्ट मंडी बनायी जायेगी। यह मंडी कृषकों एवं व्यापारियों की आवश्यकता अनुसार सर्वसुविधायुक्त रहेगी। यहां पर किसानों को अनाज रखने के लिये गोदाम, ऑनलाइन बैंकिंग के लिये इंटरनेट की सुविधा, पैकेजिंग एवं पॉलीसिंग हेतु आधुनिक मशीनें आदि उपलब्ध कराये जायेंगे। विदित है कि छावनी कृषि उपज मंडी का क्षेत्रफल लगभग 12 एकड़ हैं, जो अब किसानों और कृषि उपज से जुड़े व्यापारियों के लिए छोटा पड़ रहा है। यहाँ आना और व्यापार करना तथा किसानों के लिए अपनी उपज बेचना अब असुविधाजनक होता जा रहा है। ऐसे में इंदौर में सर्व सुविधायुक्त एक विशाल मंडी परिसर कृषकों के लिए एक बड़ी सौग़ात साबित होगा। इससे न केवल इंदौर अपितु संभाग के सभी जि़लों के किसान लाभान्वित हो सकेंगे। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में गत जनवरी माह में इंदौर में आयोजित बैठक में किसानों के हित में नए मंडी परिसर को विकसित करने का फ़ैसला किया गया था। मुख्यमंत्री श्री चौहान से प्राप्त निर्देशों के बाद इस दिशा में जनप्रतिनिधियों एवं जिला प्रशासन द्वारा तेज़ी से कार्रवाई की जा रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co