इंदौर : अब रात 10 बजे तक गुलजार रहेंगे बाजार
अब रात 10 बजे तक गुलजार रहेंगे बाजारSocial Media

इंदौर : अब रात 10 बजे तक गुलजार रहेंगे बाजार

इंदौर, मध्य प्रदेश : इंदौर नगर निगम क्षेत्र एवं महू कैंटोनमेंट एवं नगरी क्षेत्र में दुकानें तथा व्यावसायिक संस्थान रेस्टोरेंट रात्रि 10 बजे तक खुले रह सकेंगे।

इंदौर, मध्य प्रदेश। इंदौर नगर निगम क्षेत्र एवं महू कैंटोनमेंट एवं नगरी क्षेत्र में दुकानें तथा व्यावसायिक संस्थान रेस्टोरेंट रात्रि 10 बजे तक खुले रह सकेंगे। इस संबंध में कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी मनीष सिंह ने धारा 144 दंड प्रक्रिया संहिता 1973 के तहत आदेश जारी किया है। जारी आदेश में कहा गया है कि पूर्व में दुकानें व्यावसायिक संस्थान एवं रेस्टोरेंट आदि गतिविधियां संचालित करने की अनुमति रात्रि 8 बजे तक दी गई थी। अब यह गतिविधियां प्रात: छ हबजे से रात्रि 10 बजे तक संचालित की जा सकेगी। यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है। इस आदेश का उल्लंघन भारतीय दंड विधान की धारा 188 के अंतरगत दंडनीय अपराध की श्रेणी में माना जाएगा।

कलेक्टर द्वारा जारी आदेश की प्रति
कलेक्टर द्वारा जारी आदेश की प्रतिTwitter Handle of Collector Indore

इसके पूर्व व्यापारियों की ओर से भाजपा और कांग्रेस के नगर अध्यक्ष आदि ने कलेक्टर को इस संबंध में एक पत्र लिखा था, जिसमें कहा गया गया था कि कोरोना महामारी के कारण करीब 6 महीने व्यापार बिलकुल बन्द रहा व्यापार बन्द होने के कारण कई रिटेलर व्यापारियों की आर्थिक स्थिति बहुत खराब हो चुकी है। कई व्यापारी तो अपनी दुकाने बन्द कर घर बैठ चुके हैं, इसलिए रात 10 बजे तक दुकान खोलने की अनुमति दी जाए।

दुकाने बंद कर ठेले पर सब्जी, फल बेचने को मजबूर :

पत्र में लिखा गया था कि इंदौर में अधिकांश व्यापारी किराए पर दुकानें लेकर व्यापार करते हैं और पिछले 6 महीने से बिजनेस बन्द होने के कारण दुकानो का किराया दुकान मालिकों को नहीं दे पाए हैं। जिसके कारण दुकानदारों और दुकान मालिकों के बीच भी तू-तू मैं-मैं होती रही हैं। कई दुकानदार तो दुकानें बन्द करके नोकरी की तलाश कर रहे हैं और नौकरी मिल नहीं रही है। तो कई दुकानदार ठेलों पर सब्जी और फल बेचकर अपने परिवार कठिनाइयों के साथ पाल रहे हैं। कई व्यापारियों ने परिवार के भरण पोषण के लिये अपनी जमा पूंजी और गहने भी खत्म कर दी है कई व्यापारियों ने अपनी बच्चियों की शादी के लिए जमा की गई पूंजी को भी परिवार के भरण पोषण में और कर्जा चुकाने में खत्म कर दी तो कई व्यापारियों ने परिवार का भरण पोषण करने के लिए कई लोगो से कर्जा तक ले लिया है। पर उस कर्जे को चुकाने के लिए भी अब दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कई लोगों ने अपने दैनिक होने वाले खर्च में भी पूर्ण रूप से कटौती कर दी है। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए मास्क, सेनेटाइजर, फिजिकल डिस्टेंस को लेकर नियम और कड़े किये जाए।

व्यापारियों ने ली राहत की सांस :

कलेक्टर का आदेश रविवार रात से ही लागू होने से व्यापारियों ने बड़ी राहत ली है। उनका कहना है कि रात 8 बजे दुकान करने से उनके धंधे चौपट हो गए थे, क्योंकि पुलिस 7.30 बजे से ही डंडे फटकराने लगती थी। इंदौर खाऊ ठियों से पूरे देश में मशहूर है और सर्दियों में अच्छा-खासा व्यापार रात में ही होता है। शाम 6 बजे दुकान शुरू होती थी और ग्राहकी 7 बजे के आसपास होती थी और बंद होने का समय हो जाता था। वहीं ऑफिस से देर से घर जाने वालों के साथ भी यही दिक्कत थी कि ज्यादातर दुकाने बंद हो जाती थीं। अब रात 10 बजे तक समय होने से सभी को राहत मिलेगी। लोगों का यह भी कहना है कि निगम चुनाव का असर हुआ है, क्योंकि महापौर आरक्षण की तिथि घोषित हो गई है और उसके बाद चुनाव का ऐलान भी हो जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co