ठेला पलटने के मामले में पटवारी ने शिवराज सरकार को घेरा
ठेला पलटने के मामले में पटवारी ने शिवराज सरकार को घेरा|Deepika Pal-RE
मध्य प्रदेश

ठेला पलटने के मामले में गर्माई सियासत, पटवारी ने शिवराज सरकार को घेरा

इंदौर, मध्यप्रदेश : पिपलियहाना चौराहे पर ठेला पलटने की घटना पर विधायक जीतू पटवारी ठेले पर अंडे की दुकान लगाने वाले पीड़ित बच्चे से मिलने पहुंचे।

Deepika Pal

Deepika Pal

इंदौर, मध्यप्रदेश। वैश्विक महामारी कोरोना से जहां प्रदेश की स्थिति चिंताजनक बन गई हैं वहीं दूसरी तरफ लॉक डाउन के चलते आम जनता के सामने रोजी रोटी का संकट आन खड़ा हो गया है जिस बीच बीते दिन सामने आई पिपलियहाना चौराहे पर ठेला पलटने की घटना पर अब राजनीतिक सियासत गरमा गई है जिसके चलते बीजेपी समेत कांग्रेस ने प्रतिक्रिया दी है। इस बीच विधायक जीतू पटवारी ठेले पर अंडे की दुकान लगाने वाले पीड़ित बच्चे से मिलने पहुंचे और आश्वासन दिया है।

क्या है पूरा मामला

मिली जानकारी के अनुसार, यह घटना इंदौर के पिपलियहाना चौराहे पर एक बच्चा परिवार के साथ अंडे का ठेला लगाकर रोजी-रोटी कमा रहा था। घटना के वक़्त वह सुबह से ठेला लगाए हुए था। उसी दौरान निगम की टीम गाड़ी लेकर आई और कहा कि यहां से ठेला हटा लें, नहीं तो जब्त कर लेंगे। वहीं इसके एवज में 100रुपए की मांग भी कर रहे थे, नहीं देने पर वे भागे और ठेला पलटा गया। इससे मेरे सारे अंडे फूट गए। इस पर बच्चे का कहना है कि धंधा नहीं हो रहा है, ऊपर से इतना नुकसान कर दिया। बच्चा और परिजन निगमकर्मियों को कोसते रहे। जिसके बाद मामला सामने आने के बाद दोनों की दलों ने नेताओं ने विरोध दर्ज प्रतिक्रिया दी है वहीं निगमायुक्त ने मामले में जांच बैठा दी है।

पूर्व मंत्री पटवारी ने हरसंभव मदद का दिया आश्वासन

इस संबंध में,आज शुक्रवार सुबह पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ठेले पर अंडे की दुकान लगाने वाले बच्चे से मिलने पहुंचे। जहां विधायक पटवारी पीड़ित बच्चे पारस रायकवार से मिले और पीड़ित परिवार को हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। साथ ही पटवारी ने आगे कहा कि, सरकार के पास कोई मास्टर प्लान नहीं है और बस डंडे के दम पर कोरोना को भगाने की बात कर रहे हैं। इस प्रकार प्रशासन बस डंडा लेकर गरीबों को पीट रहा है, इस अन्याय के खिलाफ कांग्रेस प्रदेश में लामबंद होगी।

सरकार और प्रशासन को घेरते हुए कही बात

इस संबंध में, शिवराज सरकार और प्रशासन को घेरते हुए कहा कि,विषय है बच्चे का, ठेले का, और गरीब का प्रशासन किसके लिए है। प्रशासन को इनकी आर्थिक सहायता और मदद करनी चाहिए। लेकिन वे जनता को प्रताड़ित कर रहे है। सरकार की ओर कोरोना संकट को लेकर जितने भी लॉक डाउन और रोकथाम के प्रयास किए गए है सब असफल रहे हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co