इंदौर : 850 का रेमडेसीवीर इंजेक्शन ब्लैक में 4-5 हजार में बिक रहा
850 का रेमडेसीवीर इंजेक्शन ब्लैक में 4-5 हजार में बिक रहासांकेतिक चित्र

इंदौर : 850 का रेमडेसीवीर इंजेक्शन ब्लैक में 4-5 हजार में बिक रहा

इंदौर, मध्यप्रदेश : शुक्ला ने पीपीई किट पहनकर कोरोना मरीजों के वार्ड में जाकर उनसे मुलाकात की और उनके परिजनों के साथ हो रही पीड़ा को जाना।

इंदौर, मध्यप्रदेश। क्षेत्र क्रमांक 1 के विधायक और महापौर पद के प्रत्याशी संजय शुक्ला ने इंदौर के समस्त सरकारी अस्पतालों का दौरा अभियान में मंगलवार को सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल का दौरा कर वहां की व्यवस्था को जाना। शुक्ला ने पीपीई किट पहनकर कोरोना मरीजों के वार्ड में जाकर उनसे मुलाकात की और उनके परिजनों के साथ हो रही पीड़ा को जाना।

विधायक शुक्ला ने डॉक्टर सुमित शुक्ला, टंटू शर्मा, सर्वेश तिवारीके साथ पूरे हॉस्पिटल का दौरा किया। विधायक शुक्ला ने बताया की सबसे ज्यादा समस्या मरीजों को रेमडेसीवीर इंजेक्शन नहीं मिलने से आ रही है। 850 रुपए का इंजेक्शन 4 से 5 हजार रुपए में मिल रहा है। बाजार में इंजेक्शन की काला बाज़ारी हो रही है उसके बाद भी मरीजों को बाजार में इंजेक्शन नही मिल पा रहा। लोग परेशान हो रहे।

संजय शुक्ला ने पीपीई किट पहनकर कोरोना मरीजों के वार्ड में जाकर उनसे मुलाकात की
संजय शुक्ला ने पीपीई किट पहनकर कोरोना मरीजों के वार्ड में जाकर उनसे मुलाकात की Raj Express

सरकारी अस्पतालों की व्यवस्थाएं हो चुकी भंग :

विधायक संजय शुक्ला ने आरोप लगाया कि सरकार द्वारा जो 700 करोड़ रुपए कोरोना के नाम पर दिए वो पैसा कहा है। मुख्यमंत्री उपवास की बजाय हॉस्पिटलो का दौरा करे और मास्क पहनाने की जगह इंजेक्शन की व्यवस्था करे। मुख्यमंत्री को स्वास्थ्य विभाग के अमले को आदेशित करना चाहिए कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी प्रतिदिन हॉस्पिटलों का दौरा करें। शहर के सरकारी अस्पतालों में कोविड 19 महामारी के चलते सारी व्यवस्थाएं भंग हो चुकी हैं । मरीजों की पीड़ा दूर नहीं हो पा रही है और उनके परिजनों को अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसी पीड़ा के मद्देनजर विधायक संजय शुक्ला ने शहर के सरकारी अस्पतालों का दौरा करने की शुरुआत की है शुक्ला ने बताया कि देखने में आया है कि मरीजों को दवाई भी नहीं मिल रही है। जांच के लिए उनके परिजन इधर से उधर भटक रहे हैं। उनकी कोई सुनवाई नहीं हो पा रही है। एक तरफ सरकार स्वास्थ्य सुविधाओं के मामले में बढ़-चढ़कर दावे कर रही है, दूसरी तरफ सरकारी अस्पतालों में बेहाली का आलम है। गंभीर बीमारी से पीडि़त मरीजों को भी दवा नहीं मिल पा रही है। कहा जा रहा है कि इस दवा का शॉर्टेज है। बाजार से खरीद लो इससे निर्धन और गरीब वर्ग के मरीज इलाज के अभाव में दम तोड़ रहे हैं। अनेक सरकारी अस्पतालों में स्टाफ का रवैया ठीक नहीं है। उनकी सुनवाई नहीं हो पा रही है। शुक्ला ने बताया कि यदि कोरोना मरीजों और उनके परिवार को सरकार की तरफ से उचित व्यवस्था नहीं मिलेगी तो जिस हॉस्पिटल में ज्यादा लापरवाही मिलेगी उस हॉस्पिटल के बाहर धरने पर बैठ जाऊंगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co