Indore : स्मार्ट सिटी की पुलिस टीम भी हो रही स्मार्ट
स्मार्ट सिटी की पुलिस टीम भी हो रही स्मार्टसांकेतिक चित्र

Indore : स्मार्ट सिटी की पुलिस टीम भी हो रही स्मार्ट

इंदौर, मध्यप्रदेश : आम जनता के लिए ये राहत की बात है कि स्मार्ट सिटी की पुलिस हाईटेक होने के साथ पुलिस का मुखबिर तंत्र भी बेहद मजबूत हो गया है।

हाइलाइट्स :

  • पुलिस हाईटेक-इनफारमर सिस्टम भी पावरफुल।

  • ड्रायडे पर बेचने के लिए लाई 81 हजार की अवैध शराब जब्त।

  • बिना लाइसेंस ढाबे पर परोसी जा रही थी शराब।

  • पुलिस की छवि सुधारने वाले 8 मामले।

इंदौर, मध्यप्रदेश। आम जनता के लिए ये राहत की बात है कि स्मार्ट सिटी की पुलिस हाईटेक होने के साथ पुलिस का मुखबिर तंत्र भी बेहद मजबूत हो गया है। ड्राय डे के पहले पुलिस ने छापा मारकर एक ढाबे पर अवैध रुप से बिक रही शराब के गोरखधंधे का भंडा फोड़ किया। कनाडिय़ा इलाके में तो ड्राय डे पर बेचने के लिए लाई गई 81 हजार रुपए की शराब पकड़ा। चोरी की वारदातों के चंद घंटों में ही पुलिस आरोपियों को सलाखों के पीछे करने में कामयाब हो रही है। जबरन कालोनी और सराफा में चोरी करने वाले आरोपियों को पुलिस ने चौबीस घंटे के अंदर ही गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे कर दिया। चैकिंग के दौरान पुलिस ने एक बेट्री चोर को गिरफ्तार कर 2.40 लाख की बेट्रियां जब्त कीं। फोटो शूट के बहाने के किराए पर कैमरे लेकर गायब हुए आरोपियों को पुलिस ने दस लाख के कैमरों के साथ गिरफ्तार कर लिया। चंदननगर पुलिस ने एक छोटे से क्लू से 14 साल से गायब युवक को पुणे से लाकर परिजनों के हवाले किया।

केस-1 : तस्करों से 81 हजार की शराब जब्त

शहर में अवैध शराब की तस्करी करने वाले तत्वो के विरूद्ध पुलिस का अभियान जारी है। कनाडिया पुलिस ने बीती रात बड़ी मात्रा में अवैध देसी मसाला, देसी प्लेन शराब के साथ दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस टीम को बीती रात मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुई कि बिचोली मर्दाना में राहुल मंडलोई द्वारा अपने निवास स्थान पर कार से अवैध देसी शराब बुलाई है, शीघ्र पुलिस दल द्वारा दविश देने पर आरोपी शराब सहित रंगे हाथ पकडे जा सकते हैं। पुलिस दल द्वारा तत्परता पूर्वक कार्यवाही करते हुए रात्री में ही शराब तस्कर राहुल मंडलोई के निवास स्थान ओम साई विहार कालोनी फेस 2 बिचोली मर्दाना पर दविश दी गई तो अपने मकान के सामने ही राहुल पिता बिक्रम मंडलोई, अपने साथी राजेश उर्फ राज मंसोरे पिता मोतीलाल मंसोरे के साथ उनके कब्जे में 16 पेटी देसी मसाला एंव देसी प्लेन मदिरा कुल 144 लीटर अवैध शराब जब्त की। बरामद शराब की कुल कीमत करीब 81,000 रुपए है । आरोपी राहुल मंडलोई आदतन अपराधी है जिस पर पूर्व से चोरी, बलात्कार, शराब तस्करी जैसे गंभीर अपराध दर्ज हैं।

केस-2 : ढाबे पर परोस रहे थे शराब

एंटी माफिया अभियान के तहत अवैधानिक गतिविधियों में लिप्त बदमाशों के विरुद्ध इंदौर पुलिस द्वारा लगातार कार्यवाही की जा रही है। जिले में अवैध रूप से शराब व अन्य नशाखोरी करने वाले व कराने वाले लोगों के विरुद्ध भी सख्त कार्रवाई की जा रही है। बडग़ोंदा पुलिस ने होटल, ढाबों पर आकस्मिक चेकिंग की। गणेश ढाबा कैलाश फाटा गवली पलासिया पर पुलिस टीम द्वारा दबिश दी गई तो मौके पर लोग शराब पीते पाए गए और होटल पर अवैध रूप से शराब परोसी जा रही थी। लाइसेंस आदि के बारे में पूछने पर ढाबे से कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला। पुलिस ने अवैध रूप से शराब का सेवन कराने पर होटल पर काम करने वाले धीरज पाटीदार निवासी प्रिंस कॉलोनी गवली पलासिया को मौके से पकड़ा तथा होटल संचालक रूपेश पिता राकेश पाटीदार, गवली पलासिया के विरुद्ध केस दर्ज किया।

केस-3 : डेढ दर्जन केस वाला वाहन चोरी में बंदी

गौतमपुरा पुलिस टीम द्वारा मुखबिर से सूचना के आधार पर मनोज पिता प्रकाश, कृष्णधाम कालोनी देपालपुर को चोरी के दुपहिया वाहन के साथ पकड़ा। उससे दो चोरी की बाइक जब्त की गई। मनोज के खिलाफ पहले से ही 18 केस दर्ज हैं। इसमें रेप और हत्या के मामले भी शामिल हैं। वह निगरानीशुदा बदमाश है,उसके खिलाफ कई बार प्रतिबंधात्मक कार्रवाई हो चुकी है। निगरानी बदमाश होने के साथ ही वह वाहन चोरी की वारदातों में भी लिप्त था। आपरेशन क्राइम कंट्रोल के तहत पुलिस उससे बांड भरवाने के लिए उसकी तलाश कर रही थी,कई ठिकानों पर छापा मारने के बाद भी उसका कहीं पता नहीं चल रहा था। पुलिस उससे पूछताछ कर ये भी पता लगा रही है कि इस चोरी की वारदात में उसके अन्य साथी भी तो शामिल नहीं थे।

केस-4 : घर में घुसकर चोरी, बंदी

पुलिस थाना रावजी बाजार पर गुरुवार को हर्ष पिता राजेश वर्मा,मरीमाता का बगीचा जबरन कालोनी ने रिपोर्ट करते हुये बताया कि अज्ञात बदमाश मेरे घर से मेरा मोबाईल व 7500 रुपए नगदी चोरी कर ले गए है। इस दिशा में कार्यवाही के दौरान पुलिस टीम द्वारा मुखबीर को सक्रिय किया तो उसने संदिग्ध का हुलिया बताया। उसके बताये गये हुलिये के संदिग्ध व्यक्ति के पास पुलिस पहुंची तो वह पुलिस को देखकर भागने लगा जिसे टीम ने घेराबंदी कर पकडा एवं नाम पता पूछने पर राज वर्मा पिता जितेन्द्र वर्मा ,जबरन कालोनी बताया। आरोपी को गिरफ्तार कर थाने लाकर पूछताछ करने पर आरोपी ने दो अन्य साथियों के साथ चोरी करना बताया। इसके बाद पुलिस टीम ने रोहित पिता रतन सिंग सिंगारे, द्वारकापुरी, आदर्श पिता सुरेन्द्र वर्मा, जबरन कालोनी को पकड़ा गया। पूछताछ के बाद आरोपी राज से एक मोबाईल, आरोपी रोहित से नगद रूपये 4010 रुपए व आरोपी आदर्श से 1990 रुपए जप्त किए।

केस-5 : मारोठिया बाजार के चोर फुटेज से गिरफ्तार

बुधवार को फरियादी द्वारा रिपोर्ट की गई की रात्रि में मारोठिया बाजार में उसकी दुकान में अज्ञात चोरों द्वारा कॉस्मेटिक का करीब 50 हजार का सामान चोरी कर लिया गया। सराफा पुलिस ने केस दर्ज विवेचना में लिया। विवेचना के दौरान पुलिस टीम द्वारा घटनास्थल से लेकर मुख्य मार्गों के सीसीटीवी के फुटेज निकाले गए जिसमें दो अज्ञात बदमाश चोरी करते हुए दिखाई दिए। जिनका रूट ट्रैक किया गया तथा सीसीटीवी फुटेज के आधार आरोपी फिरोज तथा किशोर को गिरफ्तार कर चोरी का माल जब्त किया गया।

केस- 6 : टावर से बैटरी चोरी करने वाला गिरफ्तार

एसपी महेशचंद जैन एवं एएसपी पुनीत गेहलोत के मार्गदर्शन में एसडीओपी सांवेर के नेतृत्व में थाना प्रभारी सांवेर मोहन मालवीय व उनकी टीम द्वारा वाहनों से बैट्री चोरी करने वाली गैंग का पर्दाफाश कर आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। आपरेशन क्राइम कंट्रोल तहत सक्रिय किए गए मुखबिर से बीती रात सूचना प्राप्त हुई की एक सफेद रंग कि लोडिंग महिन्द्रा पिकअप मे कई बेट्रियां कहीं ले जा रही हैं। इसे ले जाने वाला संदिग्ध दिख रहा है। पुलिस टीम ने तत्काल घेराबंदी कर महिंद्रा पिकअप एमपी 09 जीएच 6906 को रोका और उसे चलाने वाले वाले पूछताछ की तो उसने अपना नाम समरजीत सिहं पिता यशपाल सिहं सिक्ख, साकेतनगर बताया। गाड़ी में रखी करीब दो दर्जन बैट्रियों के संबंध में पूछने पर संतोषप्रद जवाब ना दे सका तब उसे थाने लाकर सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने अपने साथियों के साथ चन्द्रावतीगंज थाना क्षेत्र के टावर से बेट्रीयां चुराना बताया गया है । पुलिस टीम द्वारा आरोपी के कब्जे से 24 बेट्रियां कीमत करीब 2.40 लाख की जब्त कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। उसके साथियों के बारे में भी पुलिस को सुराग मिल गए हैं उनकी भी तलाश की जा रही है। पुलिस का कहना है कि उन्हें भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

केस-7 : किराए पर कैमरे लेकर गायब,10 लाख के कैमरे सहित दबौचे

छोटी ग्वालटोली पुलिस ने सिद्धार्थ धनगर, भीकनगांव की रिपोर्ट पर धारा 420, 406, 34 में दर्ज केस में विवेचना करते हुए सौरभ पिता पर्वत कुशवाह ,पुरुषोतम नगर, भोपाल, विक्रम पिता राजेंद्र रैकवार, शहीद नगर,भोपाल, अनिकेत पिता विक्रम सिंह कटियार,गायत्री नगर,गंजबासौदा को गिरफ्तार कर आरोपियों के पास से 10 लाख रुपए कीमत के कैमरे जब्त किए हैं। सिद्दार्थ धनगर फोटो शूट व इवेंट के लिए कैमरे किराए पर देता है। आरोपी सौरभ, विक्रम, अनिकेत पेशे से फोटोग्राफर हैं और कैमरे किराए पर लेकर फोटोशूट करते हंै। इन्होंने योजना बनाई कि फोटोशूट के बहाने कैमरे लेकर गायब हो जाएंगे फिर उन्हें कैमरे किराए पर लेकर काम करने की जरुरत नहीं पड़ेगी। इसी योजना के तहत अनिकेत ने सिद्दार्थ से कैमरे किराए पर लेने के लिए संपर्क किया। उसने बताया था कि उन्हें इंदौर में एक फोटो शूट करना है। बात होने के बाद 22 सिंतबर को सिद्दार्थ का कर्मचारी शैलेंद्र धनगर इंदौर पहुंचा। भोपाल से सौरभ व अनिकेत इंदौर आए थे। ये तीनों सरवटे बस स्टैंड क्षेत्र में महावीर लॉज में रुके। इसके बाद शैलेंद्र को खाना खिलाने के लिए सौरभ पास ही एक होटल मे लेकर गया अनिकेत द्वारा बहाना बनाकर लॉज में ही रुक गया था। दोनो के जाने के बाद उसने सभी कैमरे बैग में पैक कर रिक्शा से वहां से चला गया। उसने फोन कर सौरभ को जानकारी दी। होटल में खाना ऑर्डर कर सौरभ ने पेमेंट किया व फोन आते ही वहां से बहाने से निकल गया। सौरभ व अनिकेत सीधे भोपाल आ गए। खाना खाकर जब शैलेंद्र लॉज पहुंचा तो सभी कैमरे गायब थे। अनिकेत का फोन भी बंद आ रहा था। तब उसने सिद्दार्थ को घटना की जानकारी दी। उसने इंदौर आकर छोटी ग्वालटोली पुलिस को मामले की शिकायत की थी। अनिकेत ने जिस मोबाइल से सिद्धार्थ से संपर्क किया था वह बंद कर लिया। होटल में खाने का पेमेंट सौरभ ने अपने ई वॉलेट से ऑनलाइन किया था। इसका नंबर पुलिस ने हासिल किया जिसके बाद सौरभ पकड़ में आया। उसकी निशादेही पर विक्रम को पकड़ा गया। अनिकेत को जानकारी लगनें पर वह अपना सारा सामान लेकर बाहर जाने के लिए निकला। उसने रेलवे स्टेशन जाने के लिए रुम मेट से कैब बुक करवाई थी। पुलिस जब उसके फ्लैट पर पहुंची तो वह निकल गया था। रुममेट से पुलिस ने कैब चालक का मोबाइल नंबर लिया। उससे संपर्क कर पीछा किया फिर भोपाल रेलवे स्टेशन के पास से अनिकेत को पकड़ा। तीनो आरोपी इन कैमरे से 24 सिंतबर को गोवा में एक कपल का फोटो शूट कर 26 सिंतबर को वापस लौटे थे। अनिकेत अपनी योजना के मुताबिक 13 सिंतबर से अचानक घर से गायब हो गया था। उसके नहीं मिलने पर परिवार ने काफी तलाश के बाद गंजबासौदा में सिटी थाना में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। वहां पर भी पुलिस को अनिकेत की गिरफ्तारी की जानकारी दी गई है।

केस-8 : 14 साल से गायब को ढूंढ निकाला

करीब 14 साल से गुमशुदा व्यक्ति के बारे में एक छोटा सा क्लू मिलने के बाद चंदननगर पुलिस ने उसे ढूंढ निकाला और परिजनों के पास पहुंचा दिया। जगदीश प्रजापत सालों पहले लापता हो गया था। उसके परिजनों ने उसके मिलने की आस भी छोड़ दी थी। 27 सितंबर को गुमशुदा जगदीश प्रजापत के परिवारजनों को अचानक सूचना मिली कि उनके पैतृक ग्राम भीलवाड़ा राजस्थान में जगदीश प्रजापत के नाम से आधार कार्ड अपडेट होकर आया है। जगदीश के परिजन थाना चंदन नगर पर सूचना देने आए। चंदन नगर पुलिस द्वारा तत्काल गुमशुदगी दर्ज कर जांच में ली गई। पुलिस द्वारा उसके आधारकार्ड के मोबाईल नम्बर को सर्च कर गुमशुदा की लोकेशन का पता लगाया। लोकेशन पुणे महाराष्ट्र की आई जिसके आधार पर चंदन नगर पुलिस द्वारा तत्काल कार्यवाही करते हुए शुक्रवार को उसे तलाश लिया गया। जगदीश प्रजापत पिता गणेश प्रजापत उम्र 33 साल निवासी राज नगर के 14 वर्ष बाद मिलने पर उनके परिजनों ने थाने में बांटी मिठाइयां तथा हर्षोल्लास से साथ थाने के समस्त स्टाफ का आभार व्यक्त किया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.