कलेक्टर ने की झांकियों के संचालक एवं अखाड़ों के सदस्यों के साथ बैठक
कलेक्टर ने की झांकियों के संचालक एवं अखाड़ों के सदस्यों के साथ बैठकRaj Express

Indore : सबसे आगे रहेगी खजराना गणेश मंदिर की झांकी, कलेक्टर ने की बैठक

इंदौर, मध्यप्रदेश : अखाड़ा वालों को निर्देश, निर्धारित झांकी के साथ ही चल समारोह में शामिल हो। अनंत चतुर्दशी पर निकलने वाली परंपरागत झांकी का क्रम भी हुआ निर्धारित।

इंदौर, मध्यप्रदेश। इंदौर की गौरवशाली परंपरा को बनाए रखते हुए इस वर्ष अनंत चतुर्दशी के अवसर पर परंपरागत झांकी चल समारोह आयोजित किया जाएगा। अनंत चतुर्दशी पर निकलने वाली परंपरागत झांकी का क्रम भी निर्धारित कर दिया गया है। सबसे आगे खजराना गणेश मंदिर की झांकी रहेगी।

जिला प्रशासन द्वारा उक्त समारोह के गरिमापूर्ण एवं सफल आयोजन के लिए व्यापक तैयारियां की जा रही हैं। इसी क्रम में मंगलवार को तैयारियों को अंतिम रूप देने के लिए एआईसीटीएसएल के सभाकक्ष में सभी झांकी संचालकों एवं अखाड़ों के सदस्यों के साथ बैठक आयोजित की गई है। बैठक में पुलिस आयुक्त हरिनारायण चारी मिश्र, कलेक्टर मनीष सिंह, अतिरिक्त पुलिस आयुक्त मनीष कपूरिया, नगर निगम आयुक्त सुश्री प्रतिभा पाल, अपर कलेक्टर पवन जैन सहित संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

अखाड़े अन्य झांकियों में ना हो शामिल :

बैठक में कलेक्टर मनीष सिंह ने निर्देश दिए कि सभी झांकियों के संचालक यह सुनिश्चित करें कि अखाड़े अपने निर्धारित झांकियों के साथ चल समारोह में शामिल हों। यदि झांकी पहले निश्चित स्थान पर आ जाती है, तो उसे उसी क्रम में बिना अखाड़े के जाने दिया जाएगा। अखाड़े इस बात का विशेष ध्यान रखें कि वे किसी अन्य झांकी के साथ शामिल ना हो, झांकी के साथ अखाड़े प्रारंभ से ही साथ चलेंगे बीच में कोई अखाड़ा उसमें शामिल नहीं हो सकेगा। उन्होंने कहा कि पुलिस एवं प्रशासन द्वारा पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे कि कोई भी झांकी अनाधिकृत रूप से चल समारोह में शामिल ना हो। प्रशासन द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों का पूर्णत: पालन हो इसकी जिम्मेदारी सभी आयोजकों की रहेगी।

शस्त्र कला के लिए 3 मिनट का समय मिलेगा :

बैठक में उपस्थित झांकी संचालकों एवं अखाड़ों के सदस्यों द्वारा दिए गए सुझाव पर कलेक्टर ने निर्देश दिए कि समारोह के निर्णायक मंच पर डिजिटल क्लॉक की व्यवस्था की जाएगी। इसी के साथ ही शस्त्र कला प्रदर्शन के लिए 3 मिनट का समय निर्धारित किया गया। सदस्यों द्वारा दिए गए सुझाव पर कलेक्टर सिंह ने उन्हें आश्वासन दिया कि 26 जनवरी को दिए जाने वाले पुरस्कारों में झांकियों के विजेताओं को ससम्मान पुरस्कृत किया जाएगा।

झांकियों का क्रम तय हुआ :

अपर कलेक्टर पवन जैन ने बैठक में झांकियों के क्रम की जानकारी देते हुये बताया कि चल समारोह में निकलने वाली झांकियों का क्रम पूर्व वर्षों की भांति निम्न अनुसार रहेगा :

  1. खजराना गणेश मंदिर

  2. इंदौर विकास प्राधिकरण

  3. नगर निगम

  4. होप टेक्सटाईल (भंडारी मिल)

  5. कल्याण मिल

  6. मालवा मिल

  7. हुकुमचंद मिल

  8. स्वदेशी मिल

  9. राजकुमार मिल

  10. स्पूतनिक ट्यूटोरियल एकेडमी

  11. जय हरसिद्धी मां सेवा समिति

  12. श्री शास्त्री कार्नर नवयुवक मंडल

चल समारोह हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश :

बैठक में जानकारी दी गई कि अखाड़े में धारदार हथियार लेकर चलना पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा अखाड़े के खलीफा तलवार को केवल प्रतीक के रूप में लेकर जुलूस में रहेंगे। तलवार के अतिरिक्त बनेठी और एक पटा प्रत्येक अखाड़े को लेकर चलने की अनुमति रहेगी। यदि किसी भी तरह का घातक हथियार किसी के पास पाया जाता है तो पुलिस द्वारा उसे तत्काल रुप से जप्त कर लिया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश अनुसार डीजे पर प्रतिबंध पूर्व की तरह इस वर्ष भी जारी रहेगा। झांकी एवं अखाड़ा प्रबंधक इस बात को सुनिश्चित करेंगे कि उनके साथ प्रोसेशन में आगे बढ़ने वाले साथी किसी भी तरह के मादक एवं नशीले पदार्थों का सेवन ना करें। झांकी मार्ग पर प्रोसेशन के सुचारू रूप से आगे बढ़ने के लिए झांकी एवं अखाड़ा आपस में सद्भाव बनाए रखेंगे। प्रोसेशन में हाथी ऊंट आदि को सम्मिलित करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। किसी भी तरह का खतरनाक प्रदर्शन पूर्णत: वर्जित रहेगा। झांकी मार्ग पर पटाखों एवं विस्फोटक पदार्थों का उपयोग पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co