इंदौर : जिनके नाम सूची में नहीं आए थे, उन्हें भी लगा वैक्सीन
जिनके नाम सूची में नहीं आए थे, उन्हें भी लगा वैक्सीनRaj Express

इंदौर : जिनके नाम सूची में नहीं आए थे, उन्हें भी लगा वैक्सीन

इंदौर, मध्य प्रदेश : कोविड वैक्सीनेशन के तहत बुधवार को टीकाकरण दोबारा शुरू किया गया। एमवायएच अधीक्षक ने भी लगवाया टीका।

इंदौर, मध्य प्रदेश। कोविड वैक्सीनेशन के तहत बुधवार को टीकाकरण दोबारा शुरू किया गया। मॉप-अप राउंड के तहत उन स्वास्थ्यकर्मियों को टीके लगाए जा रहे हैं, जिनका नाम पूर्व से सूची में था, लेकिन किन्हीं कारणों के चलते वो टीके नहीं लगा पाए थे। यदि इस बार भी वैक्सीन नहीं लगाया, तो यह मान लिया जाएगा कि वो वैक्सीन लगाने के इच्छुक नहीं है और उनका नाम सूची से हटाकर अन्य को मौके दिया जाएगा।

बुधवार को एमवायएच सहित शहर के 105 टीकाकरण केंद्रों पर वैक्सीनेशन हुआ। एमवायएच में अस्पताल अधीक्षक डॉ. पीएस ठाकुर ने भी वैक्सीन लगाया। वहीं अस्पताल में उन स्वास्थकर्मियों को भी वैक्सीन लगाया गया, जिनका नाम पहली सूची में नहीं आया था। अचानक उन्हें वैक्सीन लगाने के लिए मैसेज आया, तो वो वैक्सीनेशन के लिए तुरंत सेंटर पर पहुंचे।

उम्मीद छोड़ दी थी, मिली बड़ी खुशी :

बुधवार को एमवायएच में कार्यरत जितेंद्र रावत को भी बताया गया कि वैक्सीनेशन के लिए आपका नाम है, तो उनका खुशी का ठिकाना नहीं रहा, क्योंकि एक दिन पहले तक उनका नाम सूची में नहीं था, जिसके कारण वो निराश थे कि उन्हें पहले राउंड में वैक्सीन नहीं लग पाएगा, लेकिन अंतिम दौर में उनका वैक्सीनेशन होने से वो बहुत खुश हैं, क्योंकि हाई ब्लड प्रेशर सहित अन्य बीमारियों से ग्रस्त होते हुए वह नियमित रूप से एमवायएच में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। उल्लेखनीय है कि जिले को दो बार में 59 हजार 500 वैक्सीन का डोज मिला है। इनमें से 650 डोज आर्म फोर्स के लिए भेजे गए हैं। 22 हजार 500 स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन लग चुका है। इन्हें दूसरा बूस्टर डोज 13 फरवरी से लगाया जाएगा। कुल 35 हजार 500 डोज बचे हैं। इन्हीं में 10 हजार स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा है। पहला व दूसरा डोज निकाल लिया जाए तो अन्य विभागों के फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए 13 हजार डोज का स्टॉक है, जबकि रजिस्ट्रेशन 30 हजार से ज्यादा हुए हैं। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. तरुण गुप्ता ने बताया वैक्सीन का स्टॉक पर्याप्त है। जल्द ही वैक्सीन की नई खेप हमें मिलने वाली है। वहीं आईएमए अध्यक्ष डॉ. सतीश जोशी ने शिकायत की है कि अभी बहुत से हेल्थ वर्कर वैक्सीनेशन के लिए बचे हैं, जिन्होंने अभी तक पंजीयन नहीं कराया है। कोविड पोट्रल पर वैक्सीनेशन नहीं हो पा रहा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co