NRC मुद्दे पर अब पुलिस वाले भिड़े, MP-UP पुलिस की आपस में ठनी

जबलपुर, मध्यप्रदेश : अंतर्राज्यीय पुलिसों के आपस में तालमेल के किस्से तो काफी सुने हैं पर अब आपस में उलझने का ताजा मामला सामने आया है।
NRC मुद्दे पर अब पुलिस वाले भिड़े, MP-UP पुलिस की आपस में ठनी
NRC मुद्दे पर अब पुलिस वाले भिड़े, MP-UP पुलिस की आपस में ठनीSudha Choubey- RE

राज एक्सप्रेस। अंतर्राज्यीय पुलिसों के आपस में तालमेल के किस्से तो काफी सुने हैं लेकिन आपस में उलझने का ताजा मामला सामने आया है। दरअसल नागरिकता कानून और एनआरसी को लेकर देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। पुलिस लोगों को काबू करने में लगी हुई है। इसी से जुड़े पुलिस के कानून व्यवस्था को संभालने और बर्बरता पूर्वक रवैये के वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे हैं। इसके चलते यूपी पुलिस ने अपने ट्वीटर हेंडल पर मध्यप्रदेश पुलिस का वीडियो बताते हुए सार्वजनिक कर दिया। जिससे दोनों राज्यों की पुलिस आपस में उलझती हुई नजर आई।

वीडियो में तोड़फोड़ करती दिखाई दी पुलिस :

यूपी पुलिस द्वारा ट्वीटर पर जारी विवादित वीडियो ट्वीट में पुलिस सार्वजनिक संपत्ति के साथ तोड़फोड़ करती हुई दिखाई दे रही है जिसे शेयर करते हुए यूपी पुलिस ने इसे मध्यप्रदेश की जबलपुर पुलिस का बताया था।

जानकारी के मुताबिक यह वीडियो CAA और NRC को लेकर किए जा रहे विरोध प्रदर्शन के चलते अधारताल थाना क्षेत्र के नूरी नगर का बताया जा रहा है जहां स्थिति को काबू में लाने के लिए पुलिसकर्मियों ने तोड़फोड़ की थी। फिलहाल इस तथ्य की कोई औपचारिक पुष्टि नहीं हुई है।

एमपी पुलिस ने जताई नाराजगी :

इस मामले पर जबलपुर के एसपी अमित सिंह ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि सोशल मीडिया पर वीडियो जारी करते हुए ट्वीट करना ठीक नहीं है, पुलिस, पुलिस होती है इस तरह से सार्वजनिक तौर पर ट्वीट करना सही नहीं है। ऐसे कई वीडियो यूपी पुलिस की कानून व्यवस्था के बिगड़ने के संबंध में मध्यप्रदेश पुलिस के पास हैं और कई वीडियो इस तरह से ही सोशल मीडिया पर वायरल हो जाते हैं। वीडियो की जांच होनी चाहिए।

वीडियो की सत्यता की हो पूरी जांच- एसपी सिंह :

इस संबंध में इस तरह के वीडियो की सत्यता की जांच करने की बात करते हुए एसपी अमित सिंह ने कहा कि, वीडियो की जांच में यदि यह जबलपुर का पाया जाता है तो मामले को गंभीरता से लेते हुए दोषी पुलिसकर्मियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

वहीं इस मामले पर प्रदेश के कैबिनेट गृह मंत्री बाला बच्चन ने जांच और कार्रवाई कराए जाने की बात कही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co