भोपाल : राजनाथ और शिवराज करेंगे आज जल संरचनाओं का लोकार्पण
राजनाथ और शिवराज करेंगे आज जल संरचनाओं का लोकार्पणSocial Media

भोपाल : राजनाथ और शिवराज करेंगे आज जल संरचनाओं का लोकार्पण

भोपाल, मध्य प्रदेश : केंद्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह गुरुवार, 11 फरवरी को जलाभिषेकम् कार्यक्रम में जल संरचनाओं का वर्चुअल लोकार्पण करेंगे।

भोपाल, मध्य प्रदेश। केंद्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह गुरुवार, 11 फरवरी को जलाभिषेकम् कार्यक्रम में जल संरचनाओं का वर्चुअल लोकार्पण करेंगे। मिंटो हॉल में सुबह 11:30 बजे होने वाले इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह सिसोदिया की उपस्थिति में महात्मा गांधी नरेगा, कृषि सिंचाई योजना-वॉटर शेड और ग्रामीण यांत्रिकी सेवा द्वारा निर्मित संरचनाओं का वर्चुअल लोकार्पण होगा। पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्य मंत्री रामखेलावन पटेल भी उपस्थित रहेंगे। वर्चुअल कार्यक्रम में केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सागर, मुरैना और छिंदवाड़ा जिले में निर्मित जल संरचना स्थल पर मौजूद ग्रामीणों से संवाद भी करेंगे।

आयुक्त, राज्य रोजगार गारंटी परिषद ने बताया कि 2073 करोड़ 72 लाख रुपए की लागत से 57 हजार 653 जल संरचनाओं के लोकार्पित होने वाले कार्यों में तालाब, सार्वजनिक कूप, प्राचीन बावड़ियों की मरम्मत, स्टॉप-डेम और चेक-डेम शामिल हैं। कार्यक्रम में प्रदेश की प्रत्येक ग्राम पंचायत ऑनलाइन जुड़ेंगी। कार्यक्रम का सीधा प्रसारण दूरदर्शन मध्यप्रदेश, क्षेत्रीय न्यूज चैनल्स और सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म पर होगा। इस दौरान कुछ जिलों की ग्राम पंचायतों के प्रधान एवं लाभार्थियों से वीसी के जरिए सीधा संवाद भी किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश में वर्ष 2020-21 में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत 57,653 जल संरचनाओं का निर्माण किया गया है, जिसमें रोजगार गारंटी योजना अंतर्गत 1835 करोड़ से अधिक लागत के 1007 स्टॉप डैम, 4467 चेक डैम, 19,008 व्यक्तिगत कपिल धारा कूप, 2588 सार्वजनिक कूप, 1667 पर्कोलेशन टैंक, 14,907 हितग्राही मूलक खेत तालाब, 2365 सामुदायिक खेत तालाब, 4393 नवीन तालाब सहित 3115 तालाब, बावडी, सामुदायिक जल संरचनाओं का जीर्णोद्धार तथा सामुदायिक टांका निर्माण आदि सहित 53,517 जल संरचनायें सम्मिलित हैं।

इसी प्रकार प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना अंतर्गत 237 करोड़ की लागत से 2697 खेत तालाब, 726 तालाब, 305 परकोलेशन तालाब, 299 चेकडेम व स्टाप डेम तथा 109 नाला बंधान कार्य सहित कुल 4136 जल संरचनाओं का निर्माण कार्य कराया गया है। प्रदेश में दोनों योजनाओं में कुल 2073 करोड़ से अधिक लागत की 57653 जल संरचनाओं का निर्माण कोरोना काल में किया गया है। इन जल संरचनाओं से प्रदेश के विभिन्न ग्रामों में बड़े क्षेत्र में कृषि सिंचाई सुविधा विकसित हुई है। साथ ही भूमिगत जल स्तर में बढ़ोतरी हुई है। इन जल संरचनाओं के निर्माण कार्यों के माध्यम से कोरोना काल में ग्रामीण परिवारों को बड़े स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराया गया है। इसके अतिरिक्त कृषि उत्पादन में वृद्धि एवं ग्रामीण क्षेत्रों की जल की मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति हुई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co