एमपी में जूनियर डॉक्टर्स की हड़ताल लगातार जारी, जूडा ने जोड़ दीं 3 और मांगे
एमपी में जूनियर डॉक्टर्स की हड़ताल लगातार जारीSocial Media

एमपी में जूनियर डॉक्टर्स की हड़ताल लगातार जारी, जूडा ने जोड़ दीं 3 और मांगे

भोपाल, मध्यप्रदेश। जूडा और मंत्री सारंग की मुलाकात के बाद भी हड़ताल खत्म नहीं हुई है, जूडा ने कहा- मंत्री ने हमारी मांगों को लेकर कोई आदेश नहीं दिया, हमारी हड़ताल आगे भी जारी रहेगी।

भोपाल, मध्यप्रदेश। एमपी में जहां कोरोना का कहर जारी है, वही बीते दिनों से मध्यप्रदेश के मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल जारी रही है, मिली जानकारी के मुताबिक कल शाम मध्यप्रदेश के मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टर्स चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग से मिलने उनके बंगल पर पहुंचे, जहां डॉक्टर्स ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग से बातचीत की।

डॉक्टर्स और सारंग की मुलाकात के बाद भी खत्म नहीं हुई हड़ताल :

बता दें कि शाम साढ़े चार बजे के बाद जूनियर डॉक्टर और चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग की मुलाकात के बाद भी हड़ताल खत्म नहीं हुई है इस बीच अब जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन (जूडा) ने तीन और मांगे जोड़ दी हैं। बताते चलें कि मध्यप्रदेश के मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल में सुलह नहीं हो सकी, रविवार सुबह ही सुलह के संकेत मिल रहे थे,लेकिन मुलाकात के बाद भी बात नहीं बनी है।

जूडा की ये हैं तीन और मांगें

  • 31 मई के बाद इस्तीफा देने वाले डॉक्टरों पर की गई कार्रवाई को वापस लिया जाए।

  • जूडा डॉक्टर, जिनका 3 साल का कार्यकाल पूरा हो चुका है उनको एसआर माना जाए।

  • जूडा ने 17 % स्टाइपेंड बढ़ाने के साथ प्रतिमाह 3 या 4 चार हजार रुपये बढ़ाने की मांग की है।

जूडा ने कहा- आदेश दिया नहीं, हड़ताल जारी रहेगी

एक तरफ जहां मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि हमने जूडा की मांगें पहले ही मान ली हैं, जूडा हाईकोर्ट के आदेश का सम्मान कर हड़ताल वापस ले और काम पर लौटे, वहीं मंत्री से मिलने के बाद मध्यप्रदेश जूडा अध्यक्ष डॉक्टर ने कहा- हम मंत्री से मिलने खुद आए थे, हम हड़ताल खत्म करना चाहते हैं, लेकिन मंत्री ने हमारी मांगों को लेकर कोई आदेश नहीं दिया है, हमारी हड़ताल आगे भी जारी रहेगी।

हड़ताल को एम्स समेत देशभर के डॉक्टरों का मिल रहा है समर्थन

मिली जानकारी के मुताबिक मध्य प्रदेश के जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल को देशभर से समर्थन मिल रहा है, रविवार शाम एम्स दिल्ली, सफदरजंग अस्पताल, कलावती सरन बाल अस्पताल के अलावा बिहार, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना समेत अन्य राज्यों के जूनियर डॉक्टरों ने कैंडल जलाकर समर्थन दिया और मार्च निकाला।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co